:

Monday, June 13, 2011

" एक डंडा "भाजपा" के नाम करो यारो "


 * सोनिया , राहुल , वढेरा कहा है आज , ये बताओ भाजपा ?
दिल्ली के इंदिरा गाँधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के इम्मीग्रेशन विभाग के सूत्रों ने कहा है कि गत 8 जून 2011 को सोनिया गांधी,राहुल गांधी , सुमन दुबे [राजीव गाँधी फाउंडेशन ] विसेंट जार्ज, राबर्ट बडेरा , और लगभग 12 अन्य लोग जिन्होंने इम्मीग्रेशन में अपना पेशा वित्त सलाहाकार बताया है एक निजी जेट से ज्युरिच  [स्विट्जरलैंड ] गए .. क्या ये बात नहीं जानता है भाजपा और अगर जानता है तो जब देश में काले धन के खिलाफ जन आन्दोलन चल रहा है और कांग्रेस जब फस चुकी है ...बाबा रामदेव जी को झूठा साबित करने की कांग्रेस कोशिश कर रही और बाबा रामदेव जी के द्वारा " काले धन " के मुद्दे को उठाने के तुरंत ही इन सभी को स्विट्जरलेंड क्यों याद आया ? "
                  ' और जाना हुवा तो भी नीजी जेट से ..आखिर माजरा क्या है भाई ? क्या ये बताएगा जनता को भाजपा ... या फिर "काले धन" को ठिकाने लगाने गए है ये सब चोर एक साथ ...इस बात पर भी चुप क्यों है भाजपा ? "

" भ्रस्टाचार का जिम्मेदार भाजपा भी है :
                                                         " आज देश में चारो तरफ एक ही चर्चा है और वो है भ्रस्टाचार और कालेधन की ,माना की हमारे देश को भ्रस्टाचार खोकला कर रहा है मगर क्या इस भ्रस्टाचार के लिए अकेली कांग्रेस सरकार ही गुनेहगार है ? इस सवाल के जवाब को अगर आप ढूंढ़ने बैठेंगे तो इस सवाल की जड़े जाती है भाजपा के कमजोर नेतृत्व की और और हाँ ये सही भी है क्यों की आज तक भारत में जितने भी भ्रस्टाचार हुवे है वो सब भाजपा की आंखों के सामने ही हुवे है मगर फिर भी न ही इन भ्रस्टाचार के खिलाफ भाजपा ने कोई कार्यवाही की कभी मांग की और न ही जनता के सामने रखने की कोशिश कभी की ,उनकी चुप्पी ही देश को लुटने में मदद कर रही थी और जनता अनजान थी इतने बड़े बड़े घोटालों से ... न ही भाजपा ने कभी जनता को ये बताने की कोशिश की और न ही सही थांग से इन घटनाओं का विरोध भी किया अगर वो समय समय पर विरोध करते तो आज "अन्ना हजारे जी " को "लोक पाल " कानून के लिए न ही अनसन करना पड़ता और ना ही " बाबा रामदेव जी " को ' काले धन " के मुद्दे पर डंडे खाने पड़ते |"
                                                   " राम लीला मैदान में खेले गए तांडव का भी क्या भाजपा ने सही तरीके से विरोध किया है ? घेर लेनी चाहिए थी संसद को ..और संसद को बदनाम करनेवालों को ..आज उनके पास तो कई ऐसे मुद्दे है जिनके सहारे वो जनता की आवाज को बुलंद कर सकते है ..मगर सायद ये भी इन भ्रस्टाचार की लीला में कहिन कही शामिल जरूर है वर्ना इस कदर इनकी चुप्पी ना होती ..सरे आम जनता को लुटा जा रहा है और भाजपा सिर्फ तमाशा देख रही है ..एक या दो दिन के विरोध करने से क्या विरोध पक्ष की भूमिका निभाई जाती है ...अरे विरोध पक्ष उसे कहा जाता है जो एक बार अगर किसी मुद्दे का विरोध करना चालू करे तो सरकार को उनकी बात को मान ना ही पड़े ...|" 

 * बढ़ते दाम , महेंगाई :
                                 " महेंगाई की चक्की में जब आम आदमी का सरकार किसी गन्ने की तरह जुश निकल रही है फिर भी चुप है भाजपा , हजारों तन अनाज को सडाया गया फिर भी कोई ठोश तरीका नहीं था विरोध करने का भाजपा के पास क्या कोई सरकश का खेल देख रही है क्या भाजपा ? जब भी सरकर कोई गलत कदम उठाये तो उस बात का याने सरकार के गलत कदमों का विरोध करके जन हित में सरकार के कदम उठाये जाये यही तो है विरोध पक्ष का काम, मगर ...ये बात अब भाजपा को कौन शिखाये ?"

 * संसद में बैठना है तो गलत कदमो का विरोध करना सीखो |"
                                " कसाब पर कोई निर्णय न लेकर जनता पर टेक्स डालकर उसे जिन्दा रखनेवाली सरकार का सही तरीके से विरोध होना ही चाहिए ..जनता आपकी जागीर नहीं है आप जनता के नौकर है ..और अगर मालिक चाहे तो आप को नौकरी से नीकाल भी सकता है ये बात को समज ले भाजपा तो सायद भाजपा के लिए अब ठीक ही रहेगा क्यों की आज देश में जो क्रांति की चिंगारी भड़क रही है कही उस चिंगारी की वजह से लगनेवाली आग में जलकर भाजपा भी ख़त्म न हो जाये |"

* जनता के पास जुते तो है ही मगर एक डंडा आपके लिए भी है :
                                  " भाजपा अब भी वक़्त है की जानता के सुर में और उनकी मांग में साथ दे क्यों की जानता की " जन लोकपाल ", " काला धन " ये दोनों मांगे आज के दौर में सही है ..अगर भाजपा यूँही मौन बैठा रहा और उनका मौन ही इन भ्रस्ताचारियोँ को जो खुला मैदान दे रहा है ..कही ये मैदान में जनता जनार्दन जब हिसाब करने उतारे तो भाजपा को भी दो चार डंडे खाने न पड़े ..याद रहे जानता के पास जुते तो है ही ...मगर डंडे भी है | "

जय हिंद
 जय हिंद
जय हिंद

30 comments:

  1. सभी नेता एक ही थैली के चट्टॆ-बट्टे हैं ना :)

    ReplyDelete
  2. सब एक ही थैली के चट्टे बट्टे हैं....कोई कुछ ज्यादा/कोई कुछ कम!!

    ReplyDelete
  3. प्रसाद साहब से मेरी टैली पैथी देखें...वही बात हम भी लिख गये...

    (:।:)

    ReplyDelete
  4. " सर सही कहे रहे है ..आप एक ही थेईली के चट्टे बट्टे है ..भाजपा कही ना कही अपना काम जो है वही भूल रहा है "

    ReplyDelete
  5. sir , tabhi to kahe rahe hai ki " we want Right To Recall "

    ReplyDelete
  6. कोई विशेष भेद है नहीं इस मामले में.

    ReplyDelete
  7. आपकी सभी बातों से 100 प्रतिशत सहमत हूँ |

    ReplyDelete
  8. अलग-अलग की रंग की बोतलें हैं.
    मगर नशा सबमें एक जैसा ही है!

    ReplyDelete
  9. पहले अपना काला धन ठिकाने लगाया जायेगा फिर दिखाने के लिए कार्यवाही की जाएगी ,किसी विपक्षी का थोडा बहुत काला धन लाकर हल्ला मचाया जायेगा -देखो काला धन तो इनका था हमें तो यूँ ही बदनाम कर रहे थे | और इस मुद्दे को भी चालाकी से अपनी झोली में डाल लिया जायेगा |

    ReplyDelete
  10. ये सारे वहाँ पर अपने काले धन को ठिकाने लगाएंगे फिर देखना किस तरह अन्ना और बाबा रामदेव जी को लपेतेंगे अलग अलग मुद्दे पर अलग अलग धाराएं लगा, मुझे तो डर है कहीं फांसी ही ना दे दे क्यूंकि हमारे देश में होता आया है कीजो तो देशद्रोही होते हैं उनको बचाया जाता है और जो राष्ट्रवादी होते हैं उनको पता ही नहीं चलता की कब फांसी दे दी जाए ! ये है मेरा कांग्रेस गुलाम भारत !
    आपके लेख से सम्पूरण सहमत हूँ,
    जय हिंद

    ReplyDelete
  11. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  12. बहुत बढ़िया और सटीक लिखा है आपने! मैं आपकी बातों से पूरी तरह सहमत हूँ! सभी नेता एक जैसे हैं!

    ReplyDelete
  13. बाबा समेत सब एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं।

    ReplyDelete
  14. " मयंक सर , तभी तो इस देश को आज जरूरत है "राईट टु रिकोल " कानून की | "

    ReplyDelete
  15. बेशक रतन सर ..आप से सहेमत यही होगा और ऐसा ही होगा और हम भारतवासी फिर से बनेंगे इनकी कूट नीतियों का शिकार

    ReplyDelete
  16. हिन्दोस्तानी देश भक्त सर , मगर ऐसा तभी हो रहा है जब हम १३० करोड़ की जनता सो रही है और वो कभी बाढ़ आने से पहले सोचती नहीं है ..अगर ऐसा ही रहआ तो एक दिन बहुत ही बुरा अंजाम देखने को मिलेगा और भुगतना भी पड़ेगा जनता को

    ReplyDelete
  17. रुचिका जी जिम्मेदार हम सब है मगर आपतो जानती है ये सब नेता का खेल ..आप तो जागृत है तो फिर और भी लोगों को जगाओ ..अगर हम कोशिश करेंगे तो सब कुछ हो सकता है

    ReplyDelete
  18. सुक्रिया बबली जी

    ReplyDelete
  19. वास्तव में यह सही है कि अधिकांश नेता काले धन की कीचड में डूबे हुऐ है इसलिऐ कोई नहीं चाहता कि कोई नहीं चहता कि उनके कच्चे चिठ्ठे खुलें........!राजनीति को कथित नेताओं ने शीघ्र करोडपति बनने का साधन मात्र बना रखा है,और जनता बेचारी बन उनके चक्कर में पिसती जा रही है........!

    ReplyDelete
  20. ये मीडिया वाले रामदेवजी को बिना मतलब के बदनाम कर रहे थे, 8 जून से सोनिया और राहुल Switzerland गए हुए है, कोई न्यूज़ चैनेल ( विशेषकर स्टार न्यूज़ , IBN और NDTV ) कांग्रेस से ये नहीं पूछ रहा की ये लोग switzerland क्यों गए है? साले सब बीके हुए है... मै इन्हें लोकतंत्र के लिए खतरा मानता हु...

    ReplyDelete
  21. बंधू ये जो राजनीती हे इसमें गंदगी ही गंदगी हे ये भाजपा खुद भी एसा ही राजनितिक दल हे जब भाजपा की सरकार थी तो ये क्यूँ नही लेकर आए काले धन को खेर हमें तो बाबाजी का साथ देना हे एक बार इसे जरुर पढ़े कॉग्रेस के चार चतुरो की पांच नादानियां | http://www.bharatyogi.net/2011/06/blog-post_15.html

    ReplyDelete
  22. ye sale news chanel loktantr ke liye khtra hen hi kyonki ye ab bikne lage hen in sale hramiyon ko to ek moka chahiye pesa khane ka fir to ye apni maaon ko bhi bechdenge

    ReplyDelete
  23. सब एक से ही हैं तो आपके पास क्या उपाय है इस समस्या का...यातो आप, हम ,सब उसी रंग में रंग कर सभालने दें जैसा चल रहा है....या कम भ्रष्ट को चुनकर कम को आगे बढ़ाएँ.....होते हुए काम में टांग न अड़ायें.....

    ReplyDelete
  24. डॉ. श्याम गुप्ता साहब हम टांग नहीं अड़ा रहे है ..मगर एक सच इता कड़वा होता ही है हम वही लिखते है और वही कहते है जो सही होत्ता है ..मेरे पास तो इसका उपाय है और हाँ ...हम चुनकर देते है उन्ही लोगों को मगर जब वो भ्रष्ट हो जाये और अपना कर्तव्य भूल जाये तो क्या हमे इतना भी अधिकार नहीं है हम उनके कर्तव्य को याद दिलाये ...भाई याद दिलाना भी क्या टांग अदने जैसा है ...?
    " मै कम से कम सच तो लिख रहा हु ..मैंने मेरे ब्लॉग में कांग्रेस के खिलाफ भी बहुत कुछ लिखा है और आज भाजपा की जो गलती है वो लिखी है ...अब रही उपाय की बात तो क्या हम मिलकर नहीं कर सकते है इन लोगों का सामना ? क्या हम इन से कुछ पुछ नहीं सकते है ? मैंने तो राम लीला मैदान में हुवे तांडव की सिकायत मानव अधिकार वालों को भी की थी क्या आपने की थी ? अगर नहीं तो सर जागिये | "
    " और आज जरूरत है " राईट तो रिकोल " कानून की क्या आप देंगे साथ इस कानून को लाने में ?..मै तो कोशिश कर रहा हु इस कानून को लाने में आप देंगे साथ हमारा ?

    ReplyDelete
  25. british chele gaye congres ko chod gaye..

    ReplyDelete
  26. sneh banaye rakhe ..aur sukriya aap sab ka

    ReplyDelete
  27. भाजपा अपने दायित्व से मुँह नहीं मोड सकती.. उसे अपने भ्रष्ट नेताओं को भी बाहर का रास्ता दिखाना होगा...

    ReplyDelete
  28. Har kisi ko saja deni hogi jo bhi bhrast hai chahe wo kisi bhi party ka ho magar abhi main mudda black money ko wapas lana hai iska intezar na kare ki Bhajpa aayegi sarkar me tab laya jayega...We should support anyone who is against corruption.whether Anna ji OR Baba Ramdev.

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.