:

Friday, January 6, 2012

भिखारी कहनेवाले आज खुद भिखारी बनकर पहुंचे है |


" भिखारी कहनेवाले खुद आज भिखारी बनकर पहुंचे है ..जी हाँ मै वही आदमी की बात कर रहा हु जिसने "यू पी" में रहने वाले मेरे भाई बहेनो को भिखारी कहा था ,आज यू पी वालो को भिखारी कहनेवाला भूल गया है की भिखारी कौन है ? और दाता कौन है.... गाड़ी का कांच उतारकर पूछने पर जवाब उसे मिलता था की वो "यू पी" से है मग़र देश की जनता को जन्म लेते ही पता चल जाता है की कांग्रेस सरकार के वक़्त भ्रस्टाचार की नदिया बहे रही है और इस बात में कोई संदेह नहीं की भ्रस्टाचारी नेता को बचानेवाली पार्टी है कांग्रेस क्यु की आज तक चिदंबरम भाई को बचा रही है ये सरकार ..क्या ऐसे मिटाएगी ये सरकार भ्रस्टाचार ?ऐसे मिट नहीं सकता है भ्रस्टाचार ये शायद आज यू पी में वोट की भीख मांगने आये उस नौजवान को पता नहीं है |"

* भिखारी किसे कहते हो ?
" बस स्टैंड या किसी सिग्नल पर भीख मांगने वाले दिन भर कड़ी महेनत कर के भीख तो मांगते है मग़र इस देश का नेता ५ साल में एक बार भीख मांगने की महेनत करके देश वासियों को ५ साल तक चुसता रहेता है उसका क्या ? अगर ५ साल में एक बार आये इन भिखारी यो को पुछा जाये की क्या आपके पिताजी का या आपका स्विस बैंक में अकाउंट है ? तो वो चुप हो जायेंगे या फिर बात को घुमा फिरा डालेंगे अरे इस देश में अगर सबसे बड़े भिखारी और रईस भिखारी अगर कोई है तो वो है इस देश के नेता जो हर ५ साल में एक बार चाहे उन पर भ्रस्टाचार का आरोप ही क्यु ना लगा हो वो आपके पास मुस्कुराते आयेंगे ..और जैसे ही आपने वोट दे दिया आपको चूसने का काम उसी दिन से चालू कर देंगे | "

* आप दाता हो भिखारी नहीं
" यहाँ बात किसी एक नेता की नहीं कर रहा हु मग़र वो सब नेता की बात कर रहा हु जो भ्रस्टाचारी है और इस देश को लूटने के बावजूद भी हर ५ साल में आपके पास भिखारी बनकर आ जाते है फिर चाहे वो नेता किसी भी पार्टी का क्यु ना हो ? अब वक़्त आ गया है की उन्हें बता दिया जाये की एक दाता की ताकत के सामने भिखारी की ताकत कुछ नहीं है ..याद रहे कालेधन के मुद्दे को भूलना नहीं ...शशक्त लोकपाल लाने के वायदे को भूलना नहीं ..इस देश में हुवे भ्रस्टाचार को भूलना नहीं " वन्दे मातरम ..जयहिंद कहेकर एक पक्के देशभक्त बनकर ऐसे भ्रस्टाचारी नेता के गालपर एक जिम्मेदार दाता के रूप में अपने पवित्र वोट के जरिये वो करारा तमाचा मारो की दुबारा कोई भी नेता इस देश के लोगो को भिखारी ना कहे ..दिखा दो भिखारी को उसकी औकात ..आप दाता हो ये भूलना नहीं |"

* "
याद रहे इस सरकार की और से किये वादे और विवाद
* वन्दे मातरम पर विवाद
* भगवा रंग आतंकी विवाद
* भ्रस्टाचार की कोई कमी नहीं ..अनगिनत भ्रस्टाचार
* यू पी वाले भिखारी
* काले धन के मुद्दे को भुला दिया
* शक्तिशाली जन लोकपाल एक सपना बना दिया
* जी घोटाला के आरोपी चिदंबरम का बचाव करनेवाली सरकार
* कोमनवेल्थ घोटाला .........
* अफज़ल और कसाब को महेमान बनाना
अब और कितने विवाद और घोटालो के नाम लिखू ..थक जाऊंगा मै और आप पढ़ पढ़ कर थक जायेंगे आखिर में वो लें जो तरुण कुमार ठाकुर जी की है जिसके अल्फाजो ने मेरे दिल को झिंझोड़कर रख दिया था
फिर कोई लोभ का रावण , साधू सा वेश धर वोट मांगता है |
शहीदों ने खिंची थी जो लक्ष्मण रेखा वो फिर लहू मांगती है |

सुक्रिया तरुण जी


चित्र : गूगल से साभार

:::::::
:::::
::::
:::
::
:

9 comments:

  1. समय समय की बात है बंधू कभी गधे पर हम सवार कभी गधा हम पर सवार....:-)

    नीरज

    ReplyDelete
  2. aap se shamat magar yah rjneeti hain

    ReplyDelete
  3. sunil kumar sir माना की ये राजनीति है मगर मैंने तो उनही के सबदों को वापस लौटाया है और क्या मैंने लिखा है वो गलत है ?

    ReplyDelete
  4. sukriya niraj bhai ..aapki baat se sahemat hu :)

    ReplyDelete
  5. दाता एक राम भिखारी सारी दुनिया....

    ReplyDelete
  6. सही कहा आपने ! भीख पहले बाद में आरी !

    ReplyDelete
  7. बहुत सच कहा...सटीक प्रस्तुति..

    ReplyDelete
  8. सार्थक लेख .. आज भिखारी हैं कल यही हमारे सर चढ कर नाचेंगे

    ReplyDelete
  9. अत्यंत ही सार्थक आलेख ...सबसे बड़ा प्रजातंत्र ...इसलिए भिखारी भी अधिक संख्या में दिखेंगे ...चुनाव के बाद मामला उलट जाएगा ...सुन्दर आलेख

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.