:

Thursday, September 26, 2013

छोटा भीम ओर खांग्रेसी PM ( कार्टून सीरियल आधारित व्यंग )

इन सारे मुद्दो को पढ़िये ओर मुसकुराते रहिए 

     * " गुटरगू “ सीरियल जैसा मन्नू सिंह
·        * छोटा भीम आ गया ...लड्डू कहाँ  ?
·        * पुरानी केसेट “ मोगली “.. चड्डी पहेन के
·        * “ रोल नं 21 ” कौन है ?
·        * ये है “ शापित “
·        * “ ओग्गी “ आया “ पुष्पक ” बनने
·         * चिंता ता चीता चीता ... चिंता ता ता
·         * कॉकरोच गेंग जिंदाबाद
·        * सुश्ह ... कोई है अचानक ही कैसे हो गया ?
·        * CID का हजार वा एपिसोड
·        * बालवीर
·        * ठाकी टीकी ...ठाकी ...टीकी

तो पढ़िये अब

“छोटा भीम “ कार्टून देखने मे देश का पप्पू व्यस्त था ,अभी खत्म नहीं हुवा था “ छोटा भीम तो दूसरी तरफ खांग्रेस की ओर से PM किसे बनाया जाए उस पर चर्चा हो रही थी “

·        “ गुटरगू “ सीरियल जैसा मन्नूसिंह  
“ सबसे पहले दिग्गीज सिंह ने कहा की “ मै तो कहु तो मेरे हिसाब से “ गुटरगू “ सीरियल के किरदारो जैसा हाल का मन्नूसिंह ही PMअच्छा है जो देश मे चाहे कुछ भी बोलता ही नहीं है “ उस पर सुरद पवार ने अपना अलग सुर छेड़ा “ इस PM पद के लायक मै ही हु  ,मैंने तो जनता का थप्पड़ भी खाया है “

·        छोटा भीम आ गया ...लड्डू कहाँ  ?
ये सुनते ही मूनिष तिवारी बोले “ यहाँ “खाना खजाना “ की बात नहीं हो रही है वैसे तुमसे तो ज्यादा उस वकील ने लाते ओर घुसे खाये थे तो क्या उसे बनाए देश का PM ? “ ... तभी अचानक ही देश के मीडिया का राजकुमार ओर जनता का प्यारा पप्पू ,हाथ मे “ छोटी गदा “ लेकर कमरे से बाहर आया ओर चिल्लाया “ कहाँ गए मेरे लड्डु ? “ उसे देखकर दिग्गीजयसिंह ने कहा “ लगता है छोटा भीम सीरियल खत्म हो गया ? बेटा तुम्हारे लड्डु तुम्हें मिल जाएंगे ,तुम अपने कमरे मे जाओ “ ओर पप्पू चला गया

·        पुरानी केसेट “ मोगली “.... चड्डी पहेन के
“ अरे ! अपने “ सुपर फेंकू “ दिग्गीजयसिंह को ही बनाओ PM उसमे सारी काबेलियत भी है हम घोटाले करते रहेंगे , महेंगाइ बढ़ाते रहेंगे ओर आतंकी धमाके करते रहेंगे ओर ये दिग्गीजयसिंह एक ही फटी पुरानी केसेट बजाता रहेगा की इन सभी मे RSSका हाथ है ..... बिलकुल पुरानी सीरियल मोगली  की तरहा चड्डी पहेन के ... “

·        “ रोल नं  21 ” कौन है ?
उस पर डिग्गी ने कहा “ नहीं नहीं मुझसे तो अच्छा “ रोल नं 21 ” अच्छा है उसे ही बनाओ PM “.... उस पर एक खंगरेसी बोला “ अब ये रोल नं 21 कौन है भाई ? “ ....तो दिग्गीजय ने कहा ” अपना चिदुराय लूंगी “ ...उस पर खांग्रेसी ” नहीं भाई वो कृष्ण कम ओर कंस ज्यादा दिखाई देता है ओर वैसे भी वो इतना सुपर फेंकू बन चुका है की देश का अर्थतन्त्र नीचे गिर रहा है मगर ये कहेता है सब ठीक है , देखा नहीं डॉलर के सामने रुपैया एक बच्चा बन गया है  “

·        ये है “ शापीत “
“ तो फिर हमारे पास “ शापित “ जैसे मादेरना ,तिवारी,कांडा ,संघवी जैसे होनहार ओर महान नेता भी है “ ये सुनते ही सारे खंगरेसी उछल पड़े “ अबे नाम मत ले इन लोगो का वरना देश की सारी महिलाए सच मे माता भवानी बनकर हम सभी का नाश कर देगी ..... ये सब सच मे शापित ही है भाई ,क्यू उनके साथ हमे भी मरवा रहे हो “

·        “ ओग्गी “ आ गया “ पुष्पक ” बनने
“ ठाकी टीकी  ...ठाकी टीकी “ कहेता देश का पप्पू अपने कमरे से बाहर आया तो दिग्गीजय ने कहा “ घभराओ मत दोस्तो “ ओग्गी “ सीरियल खत्म हुवा है ये उसका असर है “.... “ दिग्गीजय चाचा “ पप्पू बोला “ मुझे बनाओ न PM ...मै इस देश को चलाऊँगा “...तो डिग्गी ने पूछा “ बेटा कैसे चलाओगे देश ? “पप्पू ने कहा “ जब तुम सब घोटाले करोगे तो मै कमला हसन की फिल्म “ पुष्पक “ के किरदार जैसा बन जाऊंगा ओर जब देश पर विपदा आएगी तो मै विदेश मे जाकर “ ठाकी टीकी ...ठाकी टीकी .... ठाकी टीकी करूंगा ।“

·        चिंता ता चीता चीता ... चिंता ता ता
“ बात बात मे ये “ ठाकी टीकी ठाकी टीकी “ अब ऐसा ही रहा न तो जनता हम सब का “ चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता “ कर देगी इस मे कोई शक नहीं है “ तो उस पर सुरद पवार ने पूछा “ ये चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता ,… क्या है ? उस पर मुनीष तिवारी ने कहा “ बेटा ,जो तेरे गाल पर पड़ा था वो पिछवाड़े पर पड़ता है “..... आपस मे लड़ना छोड़ो ओर PM के लिए किसे चुना जाए वो बताओ “ एक बुजुर्ग खंगरेसी ने कहा ..... पप्पू चुपचाप ये सब सुन रहा था ....”

·        “ कॉकरोच गेंग “ जिंदाबाद
“ एक तरफ देशवासी हमे घोटालेबाज कहते है ओर ऐसे वक़्त मे हम बजाए साथ रहने के आपस मे लड़ते रहेंगे तो जनता हमे कॉकरोच गेंग समजकर......... “ तभी अचानक ही पप्पू उछलकर चिल्लाने लगा नारे देने लगा “ कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “  ....ठाकी टीकी ..... ठाकी टीकी .....  कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “ .. अब पप्पू ने पास मे पड़ी छोटे भीम की छोटी गदा भी उठा ली थी की इतने मे .............. “

·        “ सुश्ह ... कोई है “ अचानक ही कैसे हो गया ?
“ एक खंगरेसी कमरे मे दाखिल हुवा जिसे देखकर सारे खंगरेसी डर गए ,पसीने छूटने लगे सभी के ओर बेचारा पप्पू तो थरथर काँपने लगा उसके हाथ मे रही छोटे भीम की गदा छूट गई .... “ ..... “ तुम लोग इतना डर क्यू गए हो ? ...” उस पर एक खंगरेसी कुर्सी के नीचे से बोला “ अबे ! ऐसे गेटप मे आने की जरूरत क्या थी ...खामखा डरा दिया बेचारे पप्पू को ...देख कैसा थरथर काँप रहा है ,पसीने की तो नदियां बहे रही है पप्पू की ...” .....” मगर मैंने किया क्या ? “....... “ अबे ये नरेंद्र मोदी की स्टाइल मे दाढ़ी ओर कपड़े पहेनकर आने की जरूरत क्या थी ? .......” ...... “ मुझे क्या पता की आप ओर बीचारा पप्पू मोदी स्टाइल की दाढ़ी देखकर ही इतने डर जाते है आपका “ ठाकी टीकी ठाकी टीकी “ हो जाता है “

·        CID का हजार वा एपिसोड
“ बहुत बोलता है तू आजकल “ दिग्गीजयसिंह बोला “ रुक तेरी सिकायत “ माई ” से करता हु ओर पप्पू को डरा रहा है तू क्यू ? अब देख माई “ CID का हजारवा एपिसोड तेरे नाम से कैसे लिखती है ...... ओर तेरी ऐसी बजाएँगे की तू कहेगा “ चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता “

·        बालवीर
“ ये चिंता चिंता का मतलब क्या होता है ? “ पप्पू ने पूछा तो दिग्गीजयसिंह ने कहा “ पिछवाड़े पर मार पड़ती है पप्पू “ उस पर पप्पू हँसकर बोला “ वो तो CBI नहीं मगर जनता मारेगी हमारे पिछवाड़े पर ...मगर मै बालवीर बनकर लड़ूँगा “ .... सारे खांग्रेसी पप्पू की बात से परेशान हो गए “ चलो अब ओग्गी आएगा ....कॉकरोच गेंग जिंदाबाद ......... तुम सब बोलो मेरे साथ कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “ पप्पू का फरमान सुनते ही सारे खंगरेसी नारे लगाने लगे “ पप्पू ने कहा चलो अब घर जाओ ओर "ओग्गी " देखो PM की मीटिंग कल करेंगे ....ठाकी टीकी,...ठाकी टीकी “ पप्पू कमरे मे चला गया

ओर एक खांग्रेसी बड़बड़ाया “ ये 43 साल का बच्चा ना जाने कब जवान होगा ? ...

चलो खेल खत्म पाठको ...आप भी ठाकी टीकी ...ठाकी ...टीकी करते अपने अपने घर जाइए ओर नीचे दिये कमेन्ट के बक्से मे कुछ लिखते जाइए वरना ......... “ चिंता ता चिंता चीता ...चिंता ता ता “

नोट :
बहुत से पाठको ने ईमेल द्वारा कहा की आपने व्यंग लिखना क्यू छोड़ दिया ? ये व्यंग उन पाठको के लिए है ओर ये व्यंग को कोई दिल पर ना ले ये सिर्फ हंसने हसाने के लिए ही लिखा गया है कोई मेरे नाम “ CID का हजार वा एपिसोड ” ना लिखे

::::::

:: 

5 comments:

  1. हस हसकर बुरा हाल हो गया ,100 % पैसा वसूल कॉमेडी भरा व्यंग है लाइक किया भाई ,"कॉकरोच गेंग " की बैंड बजनेवाली है ,हा हा हा मजा आया
    सच कहते है आपके पाठक ,आप व्यंग करारे लिखते है ,आप लिखते रहिए चलो आपके चाहनेवालों मे हमारा नाम भी शामिल कर लो अब तो

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज शुक्रवार (27-09-2013) चेत यहूदी बौद्ध सिक्ख, हिन्दु क्रिस्ट इस्लाम -चर्चा मंच 1381
    में "मयंक का कोना"
    पर भी है!
    हिन्दी पखवाड़े की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया मयंक सर

      Delete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...! बेमिसाल ....

    ReplyDelete
  4. काँग्रेस सालोसेही कर रही है हिन्दुओ को बदनाम ... वो खुद बदनाम है और दुसरे लोगोको भी बदनाम कर राही है ----- बोलते है न लाथोके भूत बातोसे नही मानते अऐसी हालात है काँग्रेस कि ----- इसलिये तो प्रधानमंत्री यैसे चुना है काँग्रेस ने ................ उनको कितना भी बोलो बेशर्मी कि सरहद पार करते है ये काँग्रेस .....

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.