:

Saturday, September 7, 2013

रिस्क फंड : याने सरकार के द्वारा सैनिको का मज़ाक

सैनिको के शहीद होने पर जो राहत के पैसे उसके परिवार को दिये जाते है वो पैसे उसी सैनिक के ही होते है 

"रिस्क फंड " नाम से हर महीने पैसा काटा जाता है 

पाकिस्तान के द्वारा सैनिको के सर काटने पर भी सरकार इस लिए चूप बैठी थी शायद

शहीदो की लाशों के ढेर पर भी सरकार खेल रही है राजनीति  

विस्तार से पढ़िये अब  

एक सैनिक की तनख्वाह की पर्ची देखी ... उसमे देखा की 460 रूपए "रिस्क फण्ड " के लिए काटे गए है ..... पूछने पर पता चला की हर सैनिक की तन्खवाह से हर महीने 460 रूपए काटे जाते है ताकि जब सैनिक युद्ध में घायल हो या मर जाये तो उसके परिवार को राहत के पैसे दिए जा सकेहर महीने रूपए का मतलब है की साल के 5,520 रूपए करोडो रुपयों का घोटाला करने वाली सरकार के पास क्या इतने भी पैसे नहीं है देश पर मर मिटने वाले सैनिक को सरकारी खाते से राहत की राशि दे सके?... यानी यदि कोई सैनिक 40 साल देश की रक्षा करता है तो उसकी जेब से सरकार ने 2,20,800 रूपए चोरी कर लिए .... 

कॉंग्रेस जनता को गुमराह करके करोड़ो के घोटाले कर रही है ओर देश की सुरक्षा जो सैनिक करता है उसके घायल होने पर या शहीद होने पर सरकार जो ज़ोर शोर से प्रचार करके राहत के पैसे उस परिवार को देती है वो पैसे उसी सैनिक के ही होते है ..... कितना बड़ा झूठ बोल रही है सरकार की राहत का पैसा सरकार दे रही है 

ऐसी झूठी सरकार के लिए जनता के मुंह से गाली ना निकले तो क्या आरती निकले जो सरकार अपने अपराधी मंत्रियो के लिए करोड़ो रुपये जो जनता के होते है वो खर्च कर सकती वो भला इन वीर शहीदो के लिए क्यू कुछ नहीं करती है ? 

इसे बात को अगर समजे तो यकीनन ही सरकार शहीद सैनिको के साथ उनके परिवार के साथ मज़ाक उड़ा रही है 

::: 

::

2 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन अब रेलवे ऑनलाइन पूछताछ हुई और आसान - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. yeh risk fund sansadon (All M.P.) tatha Ministers ke vetan se Bhee kaate jane chahiye.

    Rishiraj Tiwari

    ReplyDelete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.