:

Tuesday, August 28, 2012

ट्वीटर का फंडा चटर पटर चू ...चा(हस्ते रहिए सोचते रहिए)

             " हसना मना है क्यू की इस देश मे चोरी करके बाद मे ही चर्चा होती है  ये मै नहीं मगर हमारी काँग्रेस सरकार कहेती है तो पढ़िये वो मजेदार ट्वीट और हस्ते रहिए भाई थकान गायब कर देंगे ये ट्वीट.. ये तो पक्का ,तो  लो जी हम भी आ गए ट्विटर पर ये है हमारे "ट्वीट " |
@eksacchai की चटर पटर

           * अजीब इत्तेफाक है  :
                                  " कोयला " फिल्म का नायक " गूंगा " था
                                  और
                                  देश मे चल रही फिल्म " कोयला " का नायक भी गूंगा है


          * काँग्रेस मोबाइल देगी :
                                   काँग्रेस का सपना बढ़ती महेंगाइ और भूखमरी मे
                                  मरनेवाले हर मुर्दे के हाथ मे मोबाइल अपना
        
          * हरियाणा के चुनाव के वक़्त
                                   काँग्रेस ने कहा था घर देंगे
                                    घर नहीं मिला " कांडा " मिल गया


           * काँग्रेस का फंडा :
                                " ईमान से भी बड़ा बेईमान "
             तभी तो काँग्रेस बईमानो का स्वागत करती है और ईमानदार को पीटती है


         * देश के दो ही पोपट ( तोते )
                                  एक बोलता पोपट दिग्विजय सिंह
                                  दूसरा गूंगा पोपट मनमोहन सिंह
           जिसको जरूरत हो ले जाए भारतवासी कृपा करके ना ले इनकी मांग इटली मे बहुत है 

         * काँग्रेस की देन :
                              राजस्थान मे " मदेराणा "
                              आसाम मे " दंगा "
                              हरियाणा मे "कांडा "
                              महाराष्ट्र मे "आदर्श सोसाइटी "
                              दिल्ही मे बहुत कुछ 2 जी ,सी डब्ल्यू जी ,और कोयला
                              आम आदमी को महेंगाइ और 28 मे अमीर
                              बोलो अब क्या चाहिए आपको ?
                           आम आदमी का जवाब : तुझसे छूटकारा :)))))))))))


           * काँग्रेस कहेती है :
                                सी बी आई मेरी मुट्ठी मे
                                रो मेरी मुट्ठी मे
                                देश का कानून मेरी मुट्ठी मे
                                देश का मीडिया मेरी मुट्ठी मे
                                देश का आमादमी भी मेरी मुट्ठी मे 
                                देश भी मेरी मुट्ठी मे
              आमआदमी जवाब देता है : और तेरा विनाश मेरी उंगली मे

          * काँग्रेस का नारा :
                               " पहले घोटाला करो फिर चर्चा करो "

           * कोयला भाग 3 बनेगा अब :
                        फिल्म निर्माता राकेश रोशन ने " कोयला " फिल्म का भाग 3
                         निकालने का तय किया है
                         क्यू की कोयला फिल्म का भाग 2 देश मे अभी चल रहा है
          
           * मनमोहन कहेता है :
                        " तुम रोटी खाते हो मै कोयला खाता हु "

            * मनमोहन भागे क्यू ? 
                  " एक आदमी ने एक दियासली की तीली जलायी तो भागे मनमोहन
                   ही ही ही उसने " कोयला जो खाया है "  |
          
                   " उम्मीद है की आपको ये ट्वीट बहुत ही अच्छे लगे होंगे अगर हाँ तो आप मुझसे यहाँ पर जुड़िये और पाये और भी मजेदार ट्वीट "

          मै यहाँ हु : आपका स्वागत है 
****************************************

                "अजीब सिंह के अजब सवाल और जवाब ( मनमोहन का इंटरव्यू )


:::::::

:::::

::::

::
                

Saturday, August 25, 2012

मनमोहन सिंह का इंटरव्यू (अजीबसिंह के अजीब जवाब)- व्यंग

हसना मना है .....मगर हसना सेहत के लिए अच्छा भी है 
" जैसे ही "टीवी" चालू किया वैसे हीदेखा तो टीवी पर "महामहिम मनमोहन" जी का इंटरवीयू आ रहा था अब देखिये उनके साथ क्या बात हुई | "

रिपोर्टर : दोस्तो आपके सामने है हमारे देश के महामहीम श्री मनमोहन सिंह जी आइये आज जानते है उनसे उनकी दिल की  बात , नमस्ते  मनमोहन सिंह जी आपका स्वागत है हमारे स्टुडियो मे
( मनमोहन सिंह ने बिना मुस्कुराए अपनी आदत के मुताबिक हाथ जोड़े )

रिपोर्टर : मनमोहन जी ,सबसे पहले तो देश ये जानना चाहता है की आपको कैसा लगता है जब आपको इस देश की जनता और विश्व का सबसे विश्वसनीय मेगेजीन " टाइम " आपको निकम्मा और बेकार प्रधान मंत्री कहती है ?
मनमोहन : बड़ा ही अच्छा लगता है एक तरहा से मैंने भी देश का नाम ऊंचा ही किया है ( और मनमोहन रुक गए )

रिपोर्टर : हाँ हाँ बोलिए आप जनता आपकी आवाज़ सुनने को बेताब है ताकि जनता जान सके की आप गूंगे नहीं हो आप बोलिए
मनमोहन : बोल तो देता मगर वो क्या है मै मेडम से पुछकर नहीं आया हु

रिपोर्टर : अच्छा तो ये बात है ?
मनमोहन : जी हाँ वैसे मै कभी मेडम से डरता नहीं हु मगर उनकी इज्जत बहुत करता हु

रिपोर्टर : आपने कभी महामहिम बनने के बाद बिना डरके दिन निकले है क्या ?
मनमोहन : हाँ

रिपोर्टर : कब ? वो बड़े यादगार दिन होंगे ना ? क्या किया था उस दिन ?
मनमोहन : जब मेडम अपने इलाज के लिए अमेरिका गयी हुई थी तब मैंने दिन भर अपने कंप्यूटर पर गेम खेला और मेरे प्रिय गीत पर मै खूब नाचा था

रिपोर्टर : अच्छा ? वो कौन सा था गाना ?
मनमोहन : तेनु घोड़ी किसने चड़ाया भुतनी के 

रिपोर्टर : आप प्रगति किसे कहते है ?
मनमोहन : अब देखो पहले देश मे बेकारी कम थी हमने बढ़ा दी
                * पहले देश मे भुखमरा कम था हमने बढ़ा दिया
;               * पहले देश मे बिजली बहुत थी हमने आधे भारत को अंधेरे मे रखा
                * पहले भारत मे कोई जानता नहीं था करोड़ से आगे कितनी 
                  रक्कम होती है हमने वो जानकारी दी
                * पहले भारत मे घोटाले कम होते थे हमने घोटाले की नदिया बहा दी
                * पहले भारत मे  कानून काम करता था हमने निकम्मा बना दिया
                 भारत मे संविधान को कोई जानता नहीं मगर हमने संविधान का डर बैठा
                 दिया
                * पहले भारत मे पढे लिखे लोगो को नौकरी मिलती थी हमने नौकरी ही खत्म
                 कर दी
                * भारत मे पढे लिखे लोग चपरासी बनते है और 10 वी पास रेल मंत्री बनता है
                * पहले हजारो के घोटाले होते थे अब आप गिन भी नहीं सकते की घोटाले का 
                 अंक कितना था
         ये सब तरक्की नहीं तो और क्या है भाई ?

रिपोर्टर : सही कहा आपकी नजर से ये तरक्की है या फिर मेडम की नजर से ?
मनमोहन : अजी मै कहाँ अपनी नजर से देखता हु ? मै तो सुनता भी मेडम के कानो से हु

रिपोर्टर : अब आपकी आगे की क्या योजना है ?
मनमोहन : देखिये 2 जी घोटाला हमारा कल था ,,, वर्तमान कोयला घोटाला है

रिपोर्टर : तो भविष्य काल ?
मनमोहन : पूरा देश बेच देंगे और क्या ?

रिपोर्टर : महेंगाइ की मार खा रही जनता को आप क्या कहेना चाहेंगे ?
मनमोहन : ( इस बात पर मनमोहन ने मुस्कुरा दिया )

रिपोर्टर : आप मुस्कुराए क्यू ?
मनमोहन : ये बात मै मेडम से पुछकर नहीं आया ? तो हसने के अलावा और क्या करू ?

रिपोर्टर : ठीक है तो ये बताए की "कसाब ,अफजल " जैसे लोगो को सरकार महेंगे महेमान बनाकर क्यू बीठा रही है ?
मनमोहन " अतिथि देवो भव " हमारे देश मे आए थे तो इस देश के हर नागरिक का कर्तव्य है की अतिथि का अपमान नहीं होना चाहिए और अतिथि का अच्छी तरहा से खयाल रखना ही चाहिए बस हम वही कर रहे है |

रिपोर्टर : तो क्या आजीवन "कसाब और अफजल " भारत के हर नागरिक के लिए बोज बनकर रहेंगे ?
मनमोहन : नहीं नहीं वक़्त आने पर उन्हे भी बाइज्जत बरी किया जाएगा पूरे सन्मान के साथ क्यू की इस देश मे घोटाले करनेवाले और आतंकियो का खयाल रखने के लिए सरकार कटिबद्ध है भाई

रिपोर्टर : क्या मेडम के पास आपका जो रिमोट है उस मे कभी सेल खत्म नहीं होते है जिसके सहारे आपको आदेश पर आदेश देती है ?
मनमोहन : भाई वो रिमोट इस रोबोट का है ( मुस्कुराकर ) वो एक हैरत अंगेज़ टेक्नोलोजी के सहारे बना है जिस से उस मे इस्तेमाल होनेवाले सेल कभी डाऊन नहीं होते है ............ही ही ही
रिपोर्टर : आपको मुसकुराते हौवे देखकर बहुत ही अच्छा लगा लगता है की मेडम ने मुसकुराहटवाला बटन दबाया है ?
मनमोहन : ही ही ही

रिपोर्टर : देश का सबसे बड़े घोटाले मे आपका नाम आ रहा है तो इस पर आप क्या कहेना चाहेंगे ?
मनमोहन : सो सुनार की एक लुहार की ................ही ही ही

रिपोर्टर: क्या आपको नहीं लगता है की अब आपको " गंगा स्नान " करना चाहिए ?
मनमोहन : कौन सी गंगा ? जो देश मे बहे रही है वो या फिर हमने बहाई है वो  ? 
रिपोर्टर : आपने कौन सी बहाई है ? 
मनमोहन : ही ही ही ही  भ्रस्टाचार  की गंगा हमने तो बहाई है भाई  

रिपोर्टर : धन्यवाद मनमोहन साहब अब हम देखते है की आपका ये इंटरवियु देखकर लोगो ने कैसे कैसे "एस एम एस " किए है ....( कहेकर रिपोर्टर ने बटन दबाया तो स्क्रीन पर 100 प्रतिशत लोगो ने प्रधानमंत्री को बकवास कहा )
              ओह ये क्या ?
मनमोहन : भैया इसे भी तरक्की ही कहते है पहले 80 प्रतिशत लोग मुझे बकवास कहते थे अब 100 प्रतिशत लोग बकवास कहे रहे है ...................हीही ही
रिपोर्टर : जी भगवान से मै प्राथना करता हु की ऊपरवाला आपको सदबुद्धी दे ..........मगर सवाल ये उठता है की क्या आपके पास दिमाग है ?
मनमोहन : रोबोट के पास दिमाग नहीं " माइक्रो चिप" होती है .................ही ही ही ही

कहते कहते मनमोहन ने विदाय ली और रिपोर्टर ने चैन की सांस ली ...............आप क्या लोगे ? दिमाग की बत्ती जलाओ
और सोचो की इस सरकार ने आपको क्या दिया है वरना "क्लोरमिंट " खाओ मेरे दोस्त

नोट : ये इंटरव्यू काल्पनिक है और सिर्फ लोगो को हसाने के लिए ही है कोई भी इसे दिल पर न ले


इस ब्लॉग मे पढ़ने लायक और भी है
          मै कहेता था न की सरकार और फेसबूक कडक बने है और लोगो को ब्लॉक कर रहे है तो मेरी कोई सुनता नहीं था
तीन दिन से चिल्ला रहा था मै ....................आपने वो पोस्ट पढ़ी क्या ?
फ़ेसबूकियो सावधान रहेना क्यू की ( ये पोस्ट अवश्य पढे )
इस पोस्ट मे बताया गया है की हर फेस्बूकिए के साथ क्या होगा ? और फेस्बूकिए को क्या करना चाहिए ?

::::::
:::::
::::
:::
::::
::

Thursday, August 23, 2012

काँग्रेस के द्वारा जारी बेन साइट्स की लिस्ट ये रही { बग्गा,तोगड़िया हुवे बेन }


बीजेपी लाइन से जुड़े कुछ नेताओं और पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट भी ब्लॉक्ड सूची में हैं।
प्रवीण तोगड़िया का टिवीटर अकाउंट और तेजिंदर बग्गा का टिवीटर अकाउंट पर भी बेन
और कौन कौन है क्या काँग्रेस का कोई नेता भी बेन हुवा है या नहीं ? ये जानिए नीचे दिये गए लिंक को खोलकर


केंद्र की यूपीए सरकार ने इंटरनेट पर सांप्रदायिक हिंसा भड़कानेवाली सामग्री पर रोक लगाने के लिए कुछ वेबसाइटों, यूआरएल, फेसबुक पेजों और टि्वटर अकाउंट्स पर रोक लगा दी है,सरकार ने इन यूआरएल की लिस्ट इंटरनेट सर्विस प्रवाइडरों को देते हुए उन्हें निर्देश दिया है कि वे इन्हें तत्काल ब्लॉक कर दें।



लिस्ट पर सरसरी निगाह डालने पर लगता है कि जहां कई सारे यूआरएल वाकई सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे थे और उनका इस सूची में होना जायज़ है तो दूसरी ओर बीजेपी से जुड़े कुछ नेताओं और पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट भी ब्लॉक्ड सूची में हैं जो की हैरत अंगेज़ है

ब्लॉक किए गए लोगो मे "प्रवीण तोगड़िया का टिवीटर अकाउंट" भी है और "तेजिंदर बग्गा" का टिवीटर अकाउंट भी है और भी बहुत लोगो के नाम है आप खुद ही देख लीजिये काही आपका नाम तो नहींहै इस लिस्ट मे ? भाजपा से जुड़े कई लोगो के अकाउंट फिर फेसबूक के हो या टिवीटर के बंद कर दिये गए है

इन लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि ये ब्लॉक की गई साइटें, यूआरएल कौन-कौन से हैं।

 *  ये है 18 अगस्त 2012 को जारी किया गया लेटर 


 *  ये है 19 अगस्त 2012 को जारी किया गया लेटर 


*   ये है 20 अगस्त 2012 को जारी किया गया लेटर 


 *  ये है 21 अगस्त 2012 को जारी किया गया लेटर 

** इस ब्लॉग मे और भी पढ़ने लायक ये भी है

फेसबूकियो सावधान रहेना क्यू की ( इस पोस्ट को अवश्य पढे  ) 

:::::::
:::::
::::
::::
::
:    

फेसबुकियो सावधान रहेना क्यु की ( इस पोस्ट को अवश्य पढे )

सावधान दोस्तो :
फेसबूक कर देगी वरना आपको भी ब्लॉक
पढ़िये और जानिए इस से बचने के लिए आपको क्या करना होगा क्यू की
मै भी हो गया था ब्लॉक अगर आपको मेरी तरहा परेशान नहीं होना है तो दोस्तो महेरबानी करके
* अपनी प्रोफाइल मे अपना पूरा नाम लिखे जैसे की मेरी वाल पर भी अब आपको मेरा पूरा नाम दिख रहा है
    

अगर आपको ब्लॉक किया जाए तो क्या करेंगे आप ? ये रहा वो रास्ता

* आपको भारत सरकार ने जारी किए गए किसी भी प्रमाणपत्र को जिसमे आपकी फोटो हो उसे आपको फेसबूक की टीम को भेजना पड़ेगा
* आपका फोटो सबमिट करने के बाद फिर आपको फेसबूक की टीम कुछ सवाल पूछेगी और तीन बार आपको अपना पासवर्ड बदलने को थोड़ी थोड़ी देर मे कहेंगी
* आप कोई भी मेल "आई डी" से लॉगिन होते हो उसे फेसबूक टेकोवर करेगी थोड़ी देर
* अगर उसमे पाया गया की आपका फेसबूक पर और भी इस नाम से या इस नाम से संलग्न खाता है तो आपको मुश्किल होगा बच पाना
* आप को आपकी फोटो अपलोड करने के बाद 48 घंटे का इंतज़ार करना होगा और उसके बाद ही ये लंबी प्रक्रिया चालू हो जाएगी
* उसके बाद आपको अपना असली नाम दुबारा से पुच्छा जाएगा अगर उसमे भी आपने गलती कर दी तो गए काम से
* नाम पुछने से ठीक पहले आपको कहा जाएगा की आप अपना पासवर्ड बदले
* फिर आपको कहा जाएगा की आप अपना कोई भी एक लॉगिन नाम चुने जैसे की " राम "," लक्ष्मण ","रावण" वगैरा
* समजो की आपने नाम चुना " राम "तो जैसे ही आप लॉगिन फिर से होते है तो आपको अपनी मेल आई डी पर संदेश आता है की " राम "आपका स्वागत है

* फिर आपको आपके मोबाइल नंबर को अपनी "फेसबूक आई डी" से जोड़ना पड़ेगा और जोड़ना ही होगा क्यू की जब तक आप जोड़ेंगे नहीं तब तक आप आगे नहीं जा सकते है ..
* जोड़ना इस लिए पड़ेगा क्यू की जैसे ही आप लॉगिन करते है वैसे आपको हर बार एक कोड भेजा जाएगा ॥ये प्रक्रिया जरूरी है भाई
* अगर आप चाहे तो इसे अपना अकाउंट मिलने पर फिर से आप बंध भी कर सकते है मगर ये प्रकिरया जरूरी है
* आपके द्वारा भेजे गए "फोटो आई डी " को पूरी तरहा जाँचते है ॥अगर आपकी जन्म तारीख भी गलत है तो आप को कायम के लिए ब्लॉक कर दिया जाएगा भाई, आपका पता ,भी सही होना चाहिए और साथ मे आपका नाम अपनी वाल नेम से अलग नहीं होना चाहिए
* याद रहे : अपनी वाल पर सिर्फ आपका नाम नहीं चलेगा ,आपके पिता का भी नाम होना जरूरी है
* अगर कोई अपनी वाल पर जैसे की मैंने लिखा था " तुलसीभाइ पटेल " तो वो गलत था ॥उन्होने मुझे 10 मिनट का टाइम दिया और कहा सही करो
* फिर मैंने अपना पूरा नाम लिखा " तुलसीभाइ खताभाई पटेल " तो तुरंत मुझे आगे की जांच के लिए भेजा गया वरना मै 10 मिनट मे ब्लॉक हो जाता
* आपको किसी भी कीमत पर सरकार द्वारा दिये गए फोटो आई डी को अपलोड करना ही पड़ेगा हालांकि पूरी जांच पड़ताल के बाद फेसबूक कहेता है की उसे हम अपने सर्वर से हटा देंगे
* तब तक फेसबूक आपकी हर एक पोस्ट की जांच पड़ताल भी करेगा अगर आप गुनाह मे आए तो सायबर क्राइम मे भी आ सकते है और इसी लिए तो 48 घंटे तक चलता है ये प्रोसेस
* बिना सूचना दिये ही आपको ब्लॉक कर देती है फेसबूक आप चाहे अपनी वाल पर काम करते हो तो अचानक आप लोग आउट हो जाएंगे और फिर आपके कम्पुटर पर संदेश आता है की आप हमे अपना फोटो भेजे जिसमे सरकार का प्रमाण हो
* आपको भेजे गए हर मेल मे फेसबूक आप से जैसे चीत्र मे देख रहे है वैसे सवाल पुछेगा
* याद रहे सब से गौर करनेवाली बात ये है की अगर आप एक ही पासवर्ड से अपना ई मेल अकाउंट और फेसबूक अकाउंट चला रहे है तो फेसबूक आपको अपने ई मेल अकाउंट का पासवर्ड भी बदलने को कहेंगी

* ये बड़ा ही लंबा और भेजा घुमानेवाला प्रोस्सेस है दोस्तो इस से आप बचना चाहते है तो अपनी फेसबूक वाल पर अपना पूरा नाम लिखे और अपने पते मे अपना वही पता लिखिए जो पता आपके ड्राइविंग लाइसेंस या फिर आपके पासपोर्ट मे हो
* फेसबूक से पुछने पर पता चला की ये प्रोस्सेस्स से सभी फेस्बूकिए को गुजरना ही पड़ेगा
* आपके जो भी अप्लीकेशन का इस्तेमाल करते है वो सब की जांच पड़ताल करेगी फेसबूक यहाँ तक की अगर आपका अकाउंट ट्विटर से जुड़ा हौवा है तो आपको उसके बारे मे भी पूछा जाएगा
             " सायद ऐसा करने से साइबर क्राइम कम हो और जो अफवाए फैला रहे है वो पकड़ मे आ जाए और ये भी हो सकता है की सरकार का दबाव हो फेसबूक पर ,मगर जो भी है ये प्रोस्सेस दिमाग का दहि कर देती है भैया 48 घंटे तक वो मेरी पूछताछ करते रहे और मै जवाब देता रहा कभी कभी उनकी पूछताछ से तंग आ कर ऐसा सोच रहा था की काश हमारे देश की पुलिश भी " कसाब " जैसे आतंकी की ऐसी ही पूछताछ करती तो वो भी अपने काले कारनामे कबुल कर देता हा हा हा  ,जो भी हो दोस्तो आप सब को मेरी यही प्राथना है की आप अभी से जागे और जरूरी बदलाव कर दे अपने फेसबूक वाल पर |" 

इस ब्लॉग मे पढ़ने लायक और भी है
देखिये मजेदार वीडियो जो बता रहा है सच्चाई जो हसाएगा भी यार
" मनमोहन सिंह गेट वेल सून " ( व्यंग वीडियो के साथ
::::::::::::
:::::::::
::::
::: 

Monday, August 20, 2012

"मनमोहन सींह गेट वेल सून" विडिओ के साथ ( व्यंग )

                               
 

" अपरिचित के हीरो ने सायद प्रधानमंत्री मनमोहन जी से ही प्रेरणा ली थी क्यों की प्रधानमंत्री मनमोहन को भी पता नहीं है की उनका असली रूप क्या है ? ...उनका एक रूप बड़ी बड़ी योजनाये देश की जनता के सामने रखता है और दूसरा रूप वही योजना को भूल जाता है सायद प्रधानमंत्री जी अपने आप को टटोलने का वक़्त आ गया है आपका ? अरे भाई अपनी किसी एक बात पर तो कायम रहो ..क्यों गिरगिट की तरह बार बार रंग बदलते हो भाई ? "

* अंधेर नगरी और चोपट राजा
                            " देश के १९ राज्यों में बिजली नहीं थी और ६० करोड़ लोग बिना बिजली के १५ से ज्यादा दिन रहे और तरक्की की बात करते हो ...सायद आपका एक रूप बात कर रहा होगा ...मगर सच्चाई ये है की अंधेर नगरी और चोपट राजा .. अरे पहले देश को भ्रस्टाचार के अँधेरे में धकेल दिया और अब देशवासियों के जीवन से रोशनी क्यों गायब कर रहे हो आप ? ओह ! मै भूल गया कही आप बुलंद भारत का निर्माण कर रहे होंगे " यूनिसेफ का रिपोर्ट बता रहा है की देश में भूख मरी बढ़ रही है और आप उन भूखे लोगो को मोबाईल देने की बात कर रहे थे ...ये भी आपकी एक मस्त पर्सनालिटी है.... | "
 * मम्मी के इशारो पर ना चले                     
                              

" देशवासियों को अब लग रहा है की आपकी कांग्रेस सरकार जनता को किसी फनवल्ड के एक टोरा टोरा में बिठाकर घुमा रही है , यार पहले अपनी इस डबल पर्सनालिटी का इलाज करवाओ और अपने फैसले खुद ही लेना सीखो भाई क्यों की अब आप बच्चे नहीं है जो मम्मी के इशारो पर चले ...और ताश के पत्तो का गुलाम मत बने आपकी गुलामी ने देश को बर्बाद कर दिया है ...ओह मै भी ना ...सायद ये भी आपकी दूसरी पर्सनालिटी ही है क्यों ? वर्ना देश का सबसे बेहतरीन अर्थशास्त्री आज गुलाम नहीं होता ? "

* या गद्दी छोड़ो या फिर अपनी अपरिचित पर्सनालिटी



" आपकी ये अपरिचित पर्सनालिटी भी कमाल की है आपको परिचित हुवे भी अपरिचित बना दिया, हाय रे नसीब ... मगर आप चिंता ना करे और अपनी दूसरी पर्सनालिटी को बहार निकाले और अपने फैसले खुद ले वर्ना अब तो ये पक्का ही है की देश की जनता आपको बहार निकालेगी क्यों की दंगो में मरनेवालो के लिए आपके पास श्रधांजलि भरे दो अल्फाज़ के सिवा कुछ नहीं है क्यों की अब ये दंगे आपके कांग्रेस शासित प्रदेशो में जो हो रहे है सायद आपकी पर्सनालिटी का ये सच भी जनता जान चुकी है अब ....भैया गद्दी छोड़ने का खतरा आप पर मंडरा रहा है ..या तो गद्दी छोड़ो या फिर अपनी अपरिचित पर्सनालिटी छोड़ो | "




* होता है बुढ़ापे में ऐसा ही होता है
                              

     " बुढ़ापे में हर किसीकी याददास्त कमजोर हो जाती है मगर अपने "पी ए" से कहो की वो आपको आपके द्वारा देशवासियों को किये हुवे वादे तो याद दिलाये और ये क्या हमें तो लगा की अब लालकिले पर भी आप पाकिस्तान का झंडा ही लहेरायेंगे ..क्यों की देश में खुले आम पाकिस्तान का झंडा जो लहेरा रहा है और आप चुप बैठे है बस इसीलिए ही हमारे दिल में ख्याल आया था ...क्यों की आप पाकिस्तान का झंडा लहेरानेवालो पर राष्ट्रद्रोह का आरोप भी जो नहीं लगा रहे है ...ओह मै फिर से भूल गया की ये भी आपकी डबल पर्सनालिटी की ही देन है भाई | "


*  गेट वेल सून प्रधानमंत्री जी
                                        " भगवान करे आपको जल्द ही आपकी इस डबल पर्सनालिटी से छुटकारा मिल जाये और आप स्वस्थ हो जाये ..यही हमारी प्राथना है ...तो गेट वेल सून प्रधानमंत्री जी | "
* भारतवासीयो से एक प्राथना  
                                               " जो भी ये आलेख पढ़ रहा है उन सभी से भी ये अनुरोध है की आप भी प्राथना करे की हमारे प्रधानमंत्री अपनी डबल पर्सनालिटी की बीमारी से जल्दी ठीक हो जाये ऐसी आप भी प्राथना करे .....और कहे ...." गेट वेल सून प्रधानमंत्री जी "

इस ब्लॉग में पढने लायक और भी
ये भगत सींह कौन है बे ?

ये विडिओ आपको हसाएगा जरूर .............सच्चाई बताता हुवा विडिओ

me>

:::
:::
::
:

Saturday, August 18, 2012

केग का रिपोर्ट पढ़िए ( कोयला घोटाला )


१ लाख ८५ हजार ५९१ लाख करोड़ का चुना देश को लगाया और इस घोटाले की ओडिट करनेवाली केग, क्या आप जानते है ये "केग" क्या है ?
क्या आपने पढ़ा " केग " का रिपोर्ट ? आखिर क्या है केग के रिपोर्ट में ? यही उत्सुकता आज देशवासियों में फैली है ..तो आओ जाने केग के रिपोर्ट में क्या है और केग का असली रिपोर्ट क्या कहेता है ?

कोयले से चुना लगा दिया
                   " १ लाख ८५ हजार ५९१ लाख करोड़ का चुना लग गया भारत देश को वैसे कांग्रेस ऐसे काम में माहिर है भाई मगर देश को इस बार चुना लगाया वो भी कोयले से ...केग के रिपोर्ट ने साफ़ कर दिया की कांग्रेस सरकार ने अम्बानी ,टाटा ,जिंदाल जैसे उद्योगपतियो को ही फायदा करवाया है ..आखिर बिचारे गरीब जो है टाटा ,जिंदाल "

* केग का रिपोर्ट कभी झूठा नहीं होता है :
                  " केग के रिपोर्ट को कभी भी ठुकराया नहीं जाता है और देश के इस बड़े से बड़े घोटाले में फसे है बड़े पद पर याने प्रधानमंत्री मनमोहन जैसे जिम्मेदार लोग और उनकी ही गैर जिम्मेदारी की वजह से देश को लगा कोयले से चुना ....मगर कांग्रेस सरकार के कोयला मंत्री "केग" के रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं है ..क्यों भाई संतुष्ट क्यों नहीं हो ? वैसे भी अगर किसी को घोटाले पर " पी एच डी" करनी होतो कृपया कांग्रेस का संपर्क करे ..क्यों की उनको पता है घोटाले किस तरह और कैसे किये जाते है और घोटाले करने के बाद सबूत को मिटाना जरूरी है जो कांग्रेस सरकार जानती है की कैसे उन सबूतों को आग में नस्ट किये जाये | "

* हो रहा भारत निर्माण ..क्या इसी को कहते है ?
             
 " केग के इस रिपोर्ट से सबसे ज्यादा परेशान होंगे हमारे प्रधान मंत्री मनमोहन क्यों की इस घोटाले पर सफाई देने के लिए फिर से उनको मुंह खोलना पड़ेगा ...ओह कितनी तकलीफ भरा काम है की मुंह खोलना पड़े खैर इतने पैसे खाए है तो थोडा बहुत मुंह खोलना तो पड़ेगा ना ...आज तक दुसरे भ्रस्टाचारी को बचा रहे थे अब खुद को बचाना है भाई वाकई में ये सरकार बहुत ही प्रगति कर रही है भाई ..पहले छोटा "सी डब्ल्यू जी " फिर धीरे धीरे बढ़ते बढ़ते कोयला घोटाला ...देश तरक्की कर रहा है भाई ....हर कदम पर उठते बुलंद कदम ...हो रहा भारत निर्माण | "

* केग को जानो : ये रहा केग का रिपोर्ट


http://saiindia.gov.in/english/home/Our_Products/Audit_Report/Government_Wise/union_audit/recent_reports/union_performance/12_13/Commercial/Report_No_7/Report_No_7.html

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ जाये और जानिए पूरी हकीकत को
        
http://saiindia.gov.in/english/home/Our_Products/Audit_Report/Government_Wise/union_audit/recent_reports/union_performance/12_13/Commercial/Report_No_7/chap_4.pdf

ये लिंक खोलो और जानो केग का रिपोर्ट क्या कहेता है ? हैरान हो जायेंगे आप ...


******* **  माफ़ करना दोस्तों हिंदी में भी ये रिपोर्ट उपलब्ध था मगर कल देर रात से वो गायब हो गया है वेब साईट से ..सायद कांग्रेस सरकार ने किया हो इसे गायब दबाव बनाकर क्यों की इस देश में ज्यादातर लोग हिंदी जानते है  ..आपको वो देखना हो और पढ़ना हो तो वो भी है मेरे पास जिसे पढ़कर आप भी कहेंगे की " चोर है मनमोहन सरकार "

और अगर आप पूछना चाहते है की आखिर हिंदी में ये रिपोर्ट क्यों हटाया गया वेब साईट से तो केग का पता और ईमेल पता ये रहा ...पूछो दोस्तों क्यों की इस देश की राष्ट्र भाषा हिंदी है अंग्रेजी नहीं ....

प्रधान निदेशक (आईएस एंड आईटी आडिट)
भारत के नियंत्रक-महालेखापरीक्षक का कार्यालय
पाकेट-9, दीन दयाल उपाध्याय मार्ग,
नई दिल्ली - 110124
ईमेलः pdis@cag.gov.in

इस ब्लॉग में पढने लायक और भी है :
सलमान खुर्शीद गद्दार है क्या ? ( विडिओ के साथ सबूत )
फोटो साभार : कुरील जी
::;
::
:
:

Monday, August 13, 2012

सलमान खुर्शीद गद्दार है क्या ?(विडियो के साथ सबूत)


* पाकिस्तान का झंडा और खुर्शीद 
                " देश मे चारो तरफ दंगे हो रहे है और सलमान खुर्शीद चुप बैठे है ..भारत देश मे और वो भी आज़ाद मैदान मे जब कोई पाकिस्तान का झंडा लहेरता है तो भी कुछ प्रतिक्रिया नहीं और कोई कार्यवाही क्यों नहीं करते है ? कश्मीर मे भी यही हालात है और आसाम मे भी पाकिस्तान का झंडा लहेराया गया था तो क्या अब पुरे देश मे लहेराए जाने का इंतज़ार कर रहे है सलमान खुर्शीद ? धडाधड हो रहे हादसों के बाद ऐसे सवाल तो उठेंगे ही | "

* क्या ये गोधरा कांड जैसा नहीं है ?
               " मुंबई मे हुवे दंगो मे तो दंगइयो ने पुलिश से उनके हथियार भी छीन लिए है तब सवाल ये उठता है की आखीर पुलिश को फायर करने का हुक्म क्यों नहीं दिया गया ? ..क्या कांग्रेस सरकार के इशारे हुवे है ये दंगे ? गोधरा कांड पर बड़ी बड़ी बाते करनेवाली सरकार आज चुप है ...क्या कांग्रेस सरकार ...आसाम दंगे ..कश्मीर के हालात ...मुंबई दंगो पर कुछ कहे सकेगी ? ये नीच सरकार ने देश मे जब भी उनके साशन मे दंगे हुवे तो उसे हिंसा का नाम दे दिया है ...ना ही दंगो का ..आखीर ये सरकार क्या चाहती है ? की पाकिस्तान से बिना लडे ही इस देश मे पाकिस्तान का झंडा सरेआम लहेराया जाये ..थू है सलमान खुर्शीद पर ...और नीच बिकाऊ मिडिया पर | "

* 4 जून की रात और इन दंगाइयो में फर्क है ? 
               " भारत मे पाकिस्तान का झंडा लहेरानेवाले पर क्या राष्ट्रद्रोह का आरोप नहीं लगता है क्या ?  ये आरोप भी कमीनी कांग्रेस सरकार ने दंगइयो पर नहीं लगाया ..ये साफ़ करता है की सरकार भी चाहती है की देश मे दंगे हो रामलीला मैदान की ४ जून की रात याद करो ...शांति से प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर और सोये हुवे लोगो पर बेरहमी से लाठी प्रयोग करनेवाली इस सरकार को ....मुंबई मे दंगा फसाद करने वाले प्रदर्शनकारियों पर लाठी प्रयोग या बल प्रयोग करने स क्यों रोका गया ? ...और उनको रोका ही गया है क्यों की अगर नहीं रोका गया होता तो पुलिश के जवान के हाथो से कभी कोई हथियार छीन नहीं सकते है | "

* हिन्दू और मुसलमान के लिए अलग संविधान है क्या ?
               " क्या देश का संविधान हिन्दू और मुस्लिम के लिए अलग अलग है ? या फिर सलमान खुर्शीद के इशारे पर होता है ये सब ? अगर हिन्दू लोग ऐसा प्रदर्शन करते और पाकिस्तान का झंडा लहेराते तो क्या ये सरकार चुप बैठती क्या ? याद रहे कांग्रेस सरकार को की जिस दिन देश के पुरे हिन्दू एक हो गए उस दिन ..आप कभी भी देश की सत्ता को हासिल नहीं कर सकोगे ..और क्या कांग्रेस चाहती है की हिन्दू भी हथियार उठाये ....अपने बचाव के लिए हथियार उठाना गुनाह नहीं है , ये बात तो देश का संविधान भी कहेता है क्यों ? और अगर इस बार हिन्दू हथियार उठाएंगे तो उनका गुस्सा कांग्रेस पर भी नीकल सकता है ...आखीर क्यों धकेल रही है कांग्रेस सरकार इस देश को एक और क्रांति की ओर ..क्यों चाहती है की देश मे दंगा फसाद हो ? पुणे बम विस्फोट मे भी कांग्रेस ने ओर देश की बिकाऊ मिडिया ने कहा था की बम विस्फोट करनेवाला हिन्दू था मगर वो निकला मुसलमान तो बोलती बंद क्यों हुई भाई ? "

* आखिर सलमान खुर्शीद का सच क्या है ?
                " अगर सरकार चाहे तो ऐसे हादसे होने से पहले ही उस पर काबू पा सकती है मगर वो चुप है .....गोधराकांड पर ही बोल सकनेवाली सरकार मुंबई ओर आसाम दंगे पर चुप ही रहेंगी क्यों की अब जनता जान चुकी है की सच क्या है ? "

ये विडिओ जरूर देखिये :

" कांग्रेस क्यों नहीं चाहती है की बंगलादेशी घुसपेठी को इस देश से निकला जाये ये देखिये एक सच "



हो सके तो इसे भी पढियेगा भाइयो
http://hindudigest.blogspot.
in/2012/07/the-truth-of-


recent-assam-kokrajhar_26.html

इस ब्लॉग में पढ़ने लायक और भी है :

क्या मोबाईल योजना गरीबो की भूख मिटा सकेगी ?

ये भगत सींह कौन है बे ?
::::
:::
::
::
:  

Saturday, August 11, 2012

क्या मोबाईल योजना गरीबो की भूख मिटा सकेगी ?


देश की असली सच्चाई ये रही :

* ४६००००००० लोग भरपेट खाना नहीं खा सकते है
* २४००००००० आदमी भूखे रहते है
* ५००० बच्चे रोज मरते है सिर्फ अच्छा भोजन ना मिलने पर
* १९९१ में भूख से मरनेवालो का अंक था २१ करोड़
* ५२५००००००००० रुपयों की सब्सिडी भारत सरकार अनाज पर देती है मगर ये जाती कहाँ है ?

* सरकार का झूठ और भारत में बढ़ती भुखमरी का सच आप जान सकते है विश्व प्रसिद्द "यूनिसेफ " संस्था की वेब साईट पर

ऐसे में कांग्रेस सरकार की ७००० करोड़ के मोबाईल फोन योजना कितनी सही है और कितनी गलत है ये आप ही बताये  ? 

* ये राजनीती क्या सही है ?
                     " करोडो गरीबो के मुंह पर कांग्रेस सरकार का और एक तमाचा ,करोडो गरीबो को २८ रुपये में अमीर बनानेवाली सरकार अब उन गरीबो की भूख को मोबाईल फोन देकर भूखे गरीबो की भूख मीटानेवाली है ७००० करोड़ का बजेट का ये प्रोजेक्ट दरअसल है वोट की राजनीती मगर क्या ये मोबाईल योजना से भूखे गरीबो का पेट भरेगा ? "

* हालात में सुधर क्यों नहीं ?
                          " वैश्विक संस्था " यूनिसेफ" के मुताबिक भारत में भूख से मरनेवालो की संख्या बढ़ रही है ऐसे में ७००० करोड़ की मोबाईल फोन जैसी योजना बनाना कितना उचित है कही ये योजना बनाकर गरीबो का फिर से मजाक तो नहीं उडा रही है ना सरकार ? अगर नहीं तो फिर भी जब देश में गरीबी का दर बढ़ रहा है तब सरकार को कोई ठोस कदम उठाने चाहिए ना ही ऐसी बेकार योजना पर ७००० करोड़ जैसी रकम को बर्बाद करना चाहिए अगर यही ७००० करोड़ देश के गरीब वर्ग के पीछे इस्तेमाल किये जाये तो यक़ीनन ही देश के गरीबो की हालात में सुधर आ सकता है | "

* हर गरीब आदमी बहुत ही सस्ता हो गया है | "
                              
                      " कृषि प्रधान देश की ये कैसी विडम्बना है की कृषि प्रधान होते हुवे भी भूख से मरनेवालो का अंक सबसे अधिक है वो सायद इसलिए क्यों की सरकार गेंहू से भरे गोदाम को सड़ाकर शराब बनाकर पैसेवालों की प्यास बुजाना जानती है मगर किसी गरीब को वही गेंहू देकर उसकी भूख को मिटाना नहीं चाहती है सरकार ...सायद इस देश का हर गरीब आदमी बहुत ही सस्ता हो गया है | "

* गरीब की क्रांति ही बदल देती है किस्मत
                            

                  " कमाल का देश है, इस देश में गरीब को रोटी की भूख है और नेता को वोट की भूख है और ये भूख कभी मिटेगी भी नहीं क्यों की इस देश की राजनीती "गरीबी " पर ही तो चलती है ...घर में आटा ..दाल ..चावल का ठिकाना नहीं और गरीबो के हाथ में मोबाईल देना चाहती है ये सरकार ..ये कैसी राजनीती है भाई ? और ऐसी गन्दी राजनीती को कोई बदल नहीं सकता सीवा इस देश के "गरीब" ..जिस दिन ..जिस दिन इस देश का गरीब सरकार से सवाल करना सीख जायेगा की " क्या ये तुम्हारा मोबाईल मेरी भूख मिटा सकेगा ? उस दिन समज लेना की एक क्रांति की शुरुवात इस देश में हो चुकी है ..और वही क्रांति इस देश की किस्मत को बदल देगी |"

* रोटी से ज्यादा कीमती है मोबाईल
                                               " इस देश में गरीब कटते है, गरीब ही मिटते है और गरीब ही भूख से तडपकर मरते है क्यों की गरीब बहुत ही सस्ता है गरीबो का पेट काटकर गरीबो के हाथ में मोबाईल का खिलौना देनेवाली सरकार आखिर ये ७००० करोड़ लाएगी कहाँ से ? जब की उसके पास तो पानी में भीगते गेंहू के लिए बोरियां खरीदने के भी पैसे नहीं है तब ७००० करोड़ आयेंगे कहाँ से भाई ? तो गरीबो की जेब काटकर ," यूनिसेफ" का सच्चा आंकड़ा छुपाकर सरकार फिर से एक बार गरीबो को मोबाईल देकर बेवकूफ बना रही है |"

* संविधान आखिर है क्या ?
                                    " क्या भारत के संविधान में गरीब के लिए रोटी से भी ज्यादा कीमती है मोबाईल फोन ? भूख से तडपने हर आदमी के पास मोबाईल तो होगा मगर उस गरीब आदमी के पेट में अनाज का दाना भी नहीं होगा ऐसे में वो मोबाईल का क्या करेगा ? ...सायद २८ रुपये वाले अमीर के हाथ में मोबाईल भी होना जरूरी है | "

ऊपर दिए गए आंकड़े सही है या गलत इसके लिए आप खुद ही यहाँ जाकर देख लीजिये ..ये रही यूनिसेफ की वेब साईट
http://www.ifpri.org


इस ब्लॉग में और भी 

ये भगतसिंह कौन है बे  ?

::::
::: 
::
::
:   

Thursday, August 9, 2012

ये भगतसींह कौन है बे ? "आर टी आई" ने खोली पोल

भगतसींह को शहीद मानने से हिचक रही है सरकार एक "आर टी आई" ने खोली पोल

ये भगतसींह कौन है बे ? ..ऐसा है सरकार का रवैया ..चौंक गए ना मगर ये सच्चाई है की भगतसींह को सरकार शहीद का दर्जा नहीं देती है मगर मानो कहे रही हो की कसाब हमको जान से प्यारा है कमाल की है ये सरकार और उसके उसूल |"

" देश के लिए जान न्योछावर करनेवाले शहीद भगत सींह और उनके साथियो को स्वतंत्रता संग्राम के शहीद मानने से सरकार हिचक रही है ..क्या आप सो रहे है ? जागो वर्ना ये

सरकार सिर्फ गाँधी परिवार को ही शहीदी का दर्जा देगी वैसे भी देश को "गाँधीस्तान" बना ही दिया है इस कमीनी कांग्रेस सरकार ने आपको यकीन ना आये तो ये लिंक " गाँधीस्तान " पर क्लिक करे हर जगह है "नकली गाँधी परिवार" का ही नाम ..ऐसा हो रहा है क्यों की हम सो रहे है ? "

" देश के लिए हस्ते हस्ते फांसी पर चढ़नेवाले भगत सींह और उनके साथियो की बजाय ये सरकार कही कसाब और अफ़ज़ल को देश के स्वतंत्र सेनानी ना बना दे इस बात का तो ख्याल रखना अब और ये सरकार ऐसा करेगी भी क्यों की अफ़ज़ल के लिए माफ़ी का तकता तैयार तो हो चूका है ये वही अफ़ज़ल है जिसने "सांसद भवन" पर हमला किया था और कुछ दिनों बाद देश के महेंगे और कांग्रेस के महेमान " कसाब " को भी माफ़ किया जायेगा | "  

" देश के लिए हस्ते हस्ते सूली पर चढ़नेवाले भगत सींह और उनके साथियों को शहीद मानने से जिजक रही है सरकार मगर वही देश के देशवासियों का खून बहानेवाले कसाब को महेमान और संसद पर हमला करनेवाले अफ़ज़ल को माफ़ी देने की सोच रही है सरकार ..बंगलादेशी घुसपेठियो के द्वारा हजारो भारतीयों का खून भले ही बहे मगर वही बंगलादेश को ६० एकड़ जमीन देने की सोच रही है सरकार ...आखिर क्यों मरवाना चाहती है सरकार इस देश के आम आदमी को ? जो पहले से ही सरकार द्वारा फैलाई गयी महेंगाई और भ्रस्टाचार के बोज तले दबा हुवा है आखिर उसका गुनाह क्या है ? 

" क्या आपकी नजर में " भगतसींह " शहीद नहीं है ? ..अगर है तो फिर आप भी चुप क्यों हो भाई ? आवाज उठाओ ..याद रहे भगत सींह की क़ुरबानी की वजह से ही आज आप आज़ाद भारत में रहेते हो दिखा दो इन नेताओ को उसली असली औकात ..और अगर फिर भी नहीं मानते है तो अब समज लेना की आर या पार की लड़ाई लड़नी ही पड़ेगी जनता को | "




 :::::::::::::::::::::::::::::
::::::::::::::::::::::::
::::::::::::::::
:::::::::
:::::::
::::
:::
:::
: