:

Monday, August 13, 2012

सलमान खुर्शीद गद्दार है क्या ?(विडियो के साथ सबूत)


* पाकिस्तान का झंडा और खुर्शीद 
                " देश मे चारो तरफ दंगे हो रहे है और सलमान खुर्शीद चुप बैठे है ..भारत देश मे और वो भी आज़ाद मैदान मे जब कोई पाकिस्तान का झंडा लहेरता है तो भी कुछ प्रतिक्रिया नहीं और कोई कार्यवाही क्यों नहीं करते है ? कश्मीर मे भी यही हालात है और आसाम मे भी पाकिस्तान का झंडा लहेराया गया था तो क्या अब पुरे देश मे लहेराए जाने का इंतज़ार कर रहे है सलमान खुर्शीद ? धडाधड हो रहे हादसों के बाद ऐसे सवाल तो उठेंगे ही | "

* क्या ये गोधरा कांड जैसा नहीं है ?
               " मुंबई मे हुवे दंगो मे तो दंगइयो ने पुलिश से उनके हथियार भी छीन लिए है तब सवाल ये उठता है की आखीर पुलिश को फायर करने का हुक्म क्यों नहीं दिया गया ? ..क्या कांग्रेस सरकार के इशारे हुवे है ये दंगे ? गोधरा कांड पर बड़ी बड़ी बाते करनेवाली सरकार आज चुप है ...क्या कांग्रेस सरकार ...आसाम दंगे ..कश्मीर के हालात ...मुंबई दंगो पर कुछ कहे सकेगी ? ये नीच सरकार ने देश मे जब भी उनके साशन मे दंगे हुवे तो उसे हिंसा का नाम दे दिया है ...ना ही दंगो का ..आखीर ये सरकार क्या चाहती है ? की पाकिस्तान से बिना लडे ही इस देश मे पाकिस्तान का झंडा सरेआम लहेराया जाये ..थू है सलमान खुर्शीद पर ...और नीच बिकाऊ मिडिया पर | "

* 4 जून की रात और इन दंगाइयो में फर्क है ? 
               " भारत मे पाकिस्तान का झंडा लहेरानेवाले पर क्या राष्ट्रद्रोह का आरोप नहीं लगता है क्या ?  ये आरोप भी कमीनी कांग्रेस सरकार ने दंगइयो पर नहीं लगाया ..ये साफ़ करता है की सरकार भी चाहती है की देश मे दंगे हो रामलीला मैदान की ४ जून की रात याद करो ...शांति से प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर और सोये हुवे लोगो पर बेरहमी से लाठी प्रयोग करनेवाली इस सरकार को ....मुंबई मे दंगा फसाद करने वाले प्रदर्शनकारियों पर लाठी प्रयोग या बल प्रयोग करने स क्यों रोका गया ? ...और उनको रोका ही गया है क्यों की अगर नहीं रोका गया होता तो पुलिश के जवान के हाथो से कभी कोई हथियार छीन नहीं सकते है | "

* हिन्दू और मुसलमान के लिए अलग संविधान है क्या ?
               " क्या देश का संविधान हिन्दू और मुस्लिम के लिए अलग अलग है ? या फिर सलमान खुर्शीद के इशारे पर होता है ये सब ? अगर हिन्दू लोग ऐसा प्रदर्शन करते और पाकिस्तान का झंडा लहेराते तो क्या ये सरकार चुप बैठती क्या ? याद रहे कांग्रेस सरकार को की जिस दिन देश के पुरे हिन्दू एक हो गए उस दिन ..आप कभी भी देश की सत्ता को हासिल नहीं कर सकोगे ..और क्या कांग्रेस चाहती है की हिन्दू भी हथियार उठाये ....अपने बचाव के लिए हथियार उठाना गुनाह नहीं है , ये बात तो देश का संविधान भी कहेता है क्यों ? और अगर इस बार हिन्दू हथियार उठाएंगे तो उनका गुस्सा कांग्रेस पर भी नीकल सकता है ...आखीर क्यों धकेल रही है कांग्रेस सरकार इस देश को एक और क्रांति की ओर ..क्यों चाहती है की देश मे दंगा फसाद हो ? पुणे बम विस्फोट मे भी कांग्रेस ने ओर देश की बिकाऊ मिडिया ने कहा था की बम विस्फोट करनेवाला हिन्दू था मगर वो निकला मुसलमान तो बोलती बंद क्यों हुई भाई ? "

* आखिर सलमान खुर्शीद का सच क्या है ?
                " अगर सरकार चाहे तो ऐसे हादसे होने से पहले ही उस पर काबू पा सकती है मगर वो चुप है .....गोधराकांड पर ही बोल सकनेवाली सरकार मुंबई ओर आसाम दंगे पर चुप ही रहेंगी क्यों की अब जनता जान चुकी है की सच क्या है ? "

ये विडिओ जरूर देखिये :

" कांग्रेस क्यों नहीं चाहती है की बंगलादेशी घुसपेठी को इस देश से निकला जाये ये देखिये एक सच "



हो सके तो इसे भी पढियेगा भाइयो
http://hindudigest.blogspot.
in/2012/07/the-truth-of-


recent-assam-kokrajhar_26.html

इस ब्लॉग में पढ़ने लायक और भी है :

क्या मोबाईल योजना गरीबो की भूख मिटा सकेगी ?

ये भगत सींह कौन है बे ?
::::
:::
::
::
:  

13 comments:

  1. करे खिलाफत मौत की, दे देता है मौत |
    दंगों की दुर्दशा पर, देता दंगे न्योत |

    देता दंगे न्योत, दहलती गई मुंबई |
    होती दो की मौत, समस्या बड़ी वाकई |

    जय बँगला के बोल, खोल कर आँखे रखना |
    मुहाजिरी यह जोर, कहीं न पड़े बिलखना ||

    ReplyDelete
    Replies
    1. रविकर फैजाबादी जी आपके अल्फाजों ने दिल जीत लिया ..सच्चाई दर्शाते हुवे अल्फाज़

      Delete
  2. मचे मुंबई चिल्ल-पों, फूँकी ओ बी वैन |
    किस दल का था मोर्चा, है क्यूँ सेंसर-बैन ??

    है क्यूँ सेंसर बैन, मीडिया इस पर चुप है ??
    असम मार-म्यांमार, जाति सत्ता लोलुप है |

    हुई बड़ी घुसपैठ, बैठ के नीति विचारों |
    बुरा अन्यथा हस्र, तोड़ते खम्भे चारो ||

    ReplyDelete
    Replies
    1. है क्यूँ सेंसर बैन, मीडिया इस पर चुप है ??
      असम मार-म्यांमार, जाति सत्ता लोलुप है |

      हुई बड़ी घुसपैठ, बैठ के नीति विचारों |
      बुरा अन्यथा हस्र, तोड़ते खम्भे चारो ||

      sahi kaha aapne sahemat hu aapse

      Delete
  3. को-कर-झारे असम को, दंगाई मस्तान |
    दंगों को झेला किया, जब-तब हिन्दुस्तान |

    जब-तब हिन्दुस्तान, सिर्फ दो दंगे नामी |
    धत दिल्ली गुजरात, असम में क्या है खामी |

    जलते मरते लोग, शिविर में लाशें हाजिर |
    सरकारों का ढोंग, नहीं क्या सत्ता खातिर ??

    ReplyDelete
    Replies
    1. जलते मरते लोग, शिविर में लाशें हाजिर |
      सरकारों का ढोंग, नहीं क्या सत्ता खातिर ??

      aah ! sacchai ..sacchai bata di is desh ki rajniti ki aapne

      Delete
  4. JO SIMI KA ADVOCATE RAH CHUKA HO VO KIYA RASTRAPREM KI BAT KAREGA.
    GADDAR HAI
    SONIYA AUR ISKA EK HI AGENDA HAI
    DESTROY INDIAN DESTROY INDIA

    ReplyDelete
    Replies
    1. कल्पना जी ,अगर हम अब भी नहीं जागेंगे तो ...ये लोग ना जाने हमारे भारत का क्या हाल करेंगे ..सच में इस देश की राजनीती देश का अमन चेन लूट रही है

      Delete
  5. one question to Soniya
    same statement given by Nehru at time of Kashmir visit.
    today zero pandit population in kasmir
    same time needed to Asam

    ReplyDelete
  6. शर्म आती है ऐसे नेताओं पे ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. तो बदल डालो इस बार इस सरकार को ...आओ मिलकर करे प्रयास

      Delete
  7. aapke sabhi blogs mee congress ki sachai samne aa gai.

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.