:

Friday, May 24, 2013

कथीत पीर ने किया बलात्कार ( वीडियो )

 खुद को पीर बतानेवाले ने किया बलात्कार
               " मैं नूर हूं और तुम आग हो.. नूर आग से मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा .... 'मैं तुम्हें जहां-जहां हाथ लगाऊंगा तुम्हारे शरीर का वह अंग दोजख में भी नहीं जलेगा " ये शब्द थे धार्मिक संस्थान चलनेवाले ओर खुद को सूफ़ी समजनेवाले " गुलजार अहमद बट " के जिसने कई लड़कियो पर किया है धार्मिक केन्द्रो मे बलात्कार ,गुलजार अहेमद बट ने टीवी एवं अखबारो से अपना गोरखधंधा चलाया था मगर जब इम्तियाज अहमद सोफी ने गुलजार अहेमद को एक लड़की के साथ आपत्तीजनक परिस्थियों मे देखा तो खुला एक भयानक रहस्य | "
कथित पीर गुलजार अहेमद बट
 ....................... देह शुद्धिकरण के नाम पर बलात्कार......

* मुफ़लिसी से छुटकारा पाने के लिए
             " कश्मीर स्थीत बड़गाम लोकल कोर्ट में पीड़ित लड़कियों ने उसकी करतूत की पूरी कहानी जब सुनाई जिसमे दर्द उभर रहा था क्यू की जिस धार्मिक सेंटर मे ये लड़कियो पर पीर के नाम पर बलात्कार हो रहे थे उस केंद्र मे करीबन 500 बच्चे है पीड़ित लड़कीयोने बताया की इस धार्मिक केंद्र मे जो भी नई लड़की दाखिल होती थी उसे महिला कर्मचारी शकीला बानो की देखरेख मे रखा जाता था ओर बाद मे शकीला कथित पीर के कमरे मे उस लड़की को ले जाती ओर कहेती की 'अगर मुफलिसी से छुटकारा पाना चाहती हो तो पीर साहब की दिल से सेवा करो
* नूर से नूर मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा
 
                         “ लड़कियो को शुद्ध करने के नाम पर बलात्कार कर रहा था ये कथित पीर ओर इस काम मे सहयोग दे रही थी केंद्र की महिला परिचारिका शकीला ओर नूर मोहम्मद क्यू की दूसरी पीड़ित लड़की ने बताया की उसे नूर मुहम्मद बहेला फूसलाकर सेंटर मे लाया था ओर एक दिन उसने मुझे गुलजार (कथित पीर) के प्राइवेट कमरे मे जाने को कहा जिसे हुजरा ए पाक कहा जाता है मगर जैसे ही मई कमरे के अंदर दाखिल हुई मौलवी गुलजार ने अंदर से कमरा बंद करने को कहा उसके बाद उसने मेरी आंखों में देखा और कहने लगा, 'मैं तुम्हें जहां-जहां हाथ लगाऊंगा तुम्हारे शरीर का वह अंग दोजख में भी नहीं जलेगा। मैं नूर हूं और तुम आग हो.. नूर आग से मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा।' फिर वह डरावनी आंखों से मुझे घूरने लगा और मैं बेहोश होने लगी। वह मुझे बिस्तर पर ले गया। मेरी आंखें सबकुछ देख रही थीं, लेकिन मेरा शरीर असहाय हो गया था।'

* इस कार्य मे सहयोगी थे
 
               " बलात्कारी कथित पीर के दो करीबी सहयोगियों अब्दुल गनी और बशीर अहमद मीर की तलाश बडगाम की पुलिस कर रही है , डीएसपी बशीर अहमद ने बताया कि लोकल कोर्ट ने गुलजार अहमद को 15 दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर दे दिया है। पुलिस के मुताबिक गुलजार के खिलाफ लड़कियों के यौन शोषण के पक्के सबूत हैं। लड़कियों के मेडिकल टेस्ट से इसकी पुष्टि हो चुकी है। वह इसमें पूरी तरह शामिल था और इसमें कोई शक-सुबहा नहीं है।'
                " कथित बलात्कारी पीर 27 मई तक रिमांड पर है मगर सवाल ये उठता है की जब पुलिस के पास पुख्ता सबूत है तो फिर ऐसे लोग जो धर्म को बदनाम करते हो ओर धर्म के नाम तले लड़कियो का शोषण करते हो उसे जीवित ही क्यू रखा जाए ?आप ही कहो की ऐसे लोगो पर मुकदमा चलाने से क्या होगा ? जो धर्म के नाम पर खुद को " पीर " समजकर ऐसा घीनोना काम करते हो ? क्यू पीर को बदनाम करते हो ?
 विडियो :
 



: शुक्रिया " टाइम्स नाऊ "

::::
::
 

1 comment:

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.