:

Wednesday, May 8, 2013

अमेरिका तुम्हे जीने नहीं देगा कांग्रेस तुम्हे मरने नहीं देगी

* इलाज एक फायदे अनेक 
               " देश के सभी टपोरी लोग एवम गुनहगारों को और विश्व के सभी आतंकियो को सूचना की वो जल्द से जल्द कॉंग्रेस जॉइन कर ले और अपना बोरिया बीस्तर लेकर भारत चले आओ क्यू की ऐसा करने से भारत का कानून आपका कुछ बिगाड़ नहीं सकेगा ओर आप आराम से अपना लूट का धंधा चला सकेंगे ,क्यों की यहाँ का कानून बड़ा अजीब है २० रुपये की चोरी करने पर ७ साल की सजा होती है मगर देश को लुटने पर या घोटाला
करने पर आपको " माननीय "कहेकर बुलाया जाता है | "
 
*फायदा बोले तो झक्कास 

                 " अगर आप अपराधी है तो आप तुरंत ही कॉंग्रेस जॉइन कर ले ओर रही बात आतंकियो की तो एक बात बता दु की आपको " कसाब " याद है न ...ये आतंकी साहब ने मुंबई मे सरेआम कई लोगो को मौत के घाट उतार दिया मगर फिर भी कॉंग्रेस सरकार ने इस कथित साहब को पूरे देश का दामाद बनाकर रखा था ...यहाँ तक की उसके जन्मदिन के अवसर पर महेगीवाली " केक " काटी जाती थी ...बाकी दिन भर आराम करो और मस्त बिरियानी खाओ ...याने फुल्टू आराम फरमाओ ओर जब जी चाहे कुछ मस्त खाने का तो ऐसा मानकर ऑर्डर करो की आप कोई फाइव स्टार होटल मे है ...आपके लिए खाना तैयार हो जाएगा ...बोले तो झक्कास क्या ? "
 
* कर्लोपीलो बिस्तर भी मिल जाएगा
 
                  " मै ही नहीं मगर देश की जनता भी यही कहेगी की यहाँ आतंकी ,गुनेहगार सुरक्षित है इसीलिए तो कहेता हु की आप अपना बोरिया बिस्तर लेकर भारत में चले आओ ...अरे कोई बात नहीं अगर आप बिस्तर नहीं लेकर आते है तो ....जब आतंकी को बिरयानी खीला सकती है तो क्या आपको एक मस्त कर्लोपिलोवाला बिस्तर नहीं देगी क्या ? ....देगी ही ...बस्स ! आप तुरंत आओ और इस देश के निरपराध लोगो को मारते रहो लुटते रहो ... बिंदास्त ....मस्त होकर क्या ? ...टेंशन मत लो यार ,ये देश अब एक खुला मैदान बन गया है हाथ मे बंदुक लेकर या धमाका करके किसी को भी मार देने पर भी यहाँ का कानून आपको मारने के बारे मे सालो तक सोचता ही रहेगा मगर निर्दोष लोगो पर लाठी चार्ज के बारे मे वो तुरंत एक्शन ही लेगा ... ये बहुत बड़ा फर्क कानून का तभी तो कहता हु की " बिना टेंशन के अब आ भी जा " । "

* यहाँ मरने के लीए सरकार ने "आम आदमी" को रखा है

                " बिरियानी आतंकी खाते है और डंडे इस देश की जनता खाती है ...यही तो फंडा है इस सरकार का भाई ...सिर्फ जनता से ही ये सरकार डंडे के सिवा बात नहीं करती है बाकी पड़ोस मे रहा मच्छर जैसा मुल्क भी इस देश के सैनिक का सर काट कर बतौर तौफ़े मे देशवासियों को भेजता है और देश मे सरे आम पाकिस्तान के झंडे लहेराते है फिर भी ये सरकार उसी देश को " शांति का गुलाब "भेजती है ...भैया तभी तो कहेता हु की ...आप आओ और कॉंग्रेस को जॉइन करो ...फिर देखना जिस कानून से आप डरते हो वही कानून आपको सलाम ठोकेगा ...अरे ! आपके जूते तक पोलिश करेगा ये कानून .... मै झूठ नहीं बोल रहा हु ...ऐसा ही होता है इस देश मे ,आप आओ इस देश मे ओर मजे करो क्यू की मरने के लिए इस देश मे सरकार ने हर आमआदमी को तैयार ही रखा है | "
 
* "यूज एण्ड थ्रो" बोले तो आम आदमी

                  " एक साध्वी के साथ क्या हुवा था पता है आपको ? ...नहीं क्या ...अरे भाई ढाका कोई ओर करके गया ओर आज तक जेल मे सड रही है ये निर्दोष साध्वी ...... जिसके सामने सीबीआई के पास भी कोई सबूत नहीं है भाई  मगर ये सरकार शायद नहीं चाहती है की साध्वी बेगुनाह साबित  हो ..बिचारी अब तो गंभीर रूप से बीमार है मगर ये सर्कार को मानवाधिकार सिर्फ आतंकियों एवं पाकिस्तानी कैदियों के लिए ही नजर आता है .....बाकी बचे ये आम आदमी वो तो शायद कीड़े मकोड़े जैसे है ...जो हर ५ साल बाद याद आते है ...याने वही यार " यूज एंड थ्रो " जैसे ...।"

* सोच लो बाद मे कहेना नहीं की बताया नहीं था

                " ऐसा मत सोचो की पहले से मरे हुवे लोगो को आप नहीं मारते है .....आतंकी भाई ...यहाँ सब जिन्दा है आपको गलत फहमी हो रही है ... महेंगाई की मार से सरकार के डंडे से ......कानून की बेवफाई से ....और देश की मिडिया की तलवेगिरी ....चमचागिरी से पहले से ही इस देश की जनता डरी हुई है  ....आतंकी भाई ये बात तो सोलह आने सच है ...मगर फिर भी सोच लो ...अमेरिका तुम्हे जीने नहीं देगा और कांग्रेस तुम्हे मरने नहीं देगी ...... सोच लो ....। "

:::
::

coming soon :

मामा भांजा की " रेलवे" कमाल : ( सुपर व्यंग )

::::
::
पाठक दोस्तो को सूचना :

             कंजूस ओर ना मुस्कुरानेवाले लोग मुझे पसंद नहीं है ...तो क्या आप कंजूस है ? ....अगर नहीं है तो मुसकुराते हुवे ....मुफ्त मे एक मस्त COMMENT तो दो .....ही ही ही  

चीत्र : गूगल बाबा
:::::
::

15 comments:

  1. Replies
    1. सरिता जी ...बिलकुल सही कहा है आपने ..... ये सिलसिला ना जाने कब टूटेगा ?

      Delete
    2. हूँण कमाल हो गया G

      Delete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज बृहस्पतिवार (09-05-2013) ग्रीष्म ऋतु का प्रकोप शुरू ( चर्चा - 1239 ) में "मयंक का कोना" पर भी है!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. तहे दिल से शुक्रिया आदरणीय शास्त्री जी

      Delete
  3. Replies
    1. सब कुछ आप से ही सीखा है सर जी :)

      Delete
  4. sriman,
    hamare desh me jo ho raha hai,sabhi dekh rahe hain
    ab desh badla hai,net ka zamana hai
    sahi hai,aap desh ki sahi tasveer rakhte hain
    hamlog bhi dekh,padh kar,apne aap par hans lete hain
    jinko muskurana hansna nahi aata wo hospitaliged ho rahe hain
    aapki wajah se log apne aap par hansna sikh kar jee rahe hain
    what2do?

    ReplyDelete
    Replies
    1. रामप्रसाद जी चलो कम से कम मै इस काबिल तो हु की लोगो के दर्द पर हंसी नामका मरहम लगा सकता हु
      आपका बहुत बहुत शुक्रिया

      Delete
  5. सही बात बयां कर दी आपने.पर इस सरकार पर कोई असर नहीं पड़ना,यहाँ सब मोती चमड़ी वाले लोग हैं.चले आओ भाइयों आपका स्वागत है.इधर से भी आ सकते हों नेपाल का रास्ता भी खुला है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. डॉक्टर साहब सही कहा आपने यहाँ सब मोती चमड़ी वाले लोग है

      Delete
  6. bilkul sahi bayan kiya hai sir

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया सोमाली :)

      Delete
  7. देश की सच्चाई को मुस्कुराते हुए सहने का तरीका है आपका लेख . क्योकी पढ कर मुस्कुराने के अलावा और कर भी क्या सकते है . अन्ततः सरकार तो कान्ग्रेस की ही होती है

    ReplyDelete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.