:

Monday, October 8, 2012

सुन बेटा "दिग्विजय "मुख्यमंत्री तो RSS का ही होगा

    
            " गुजरात का मुख्यमंत्री RSS का ही होगा चौंक गए न आप ?मगर यही सच्चाई है की चाहे कोई भी पार्टी चुनाव जीते मगर उनके द्वारा बनाया जानेवाला मुख्यमंत्री RSS से गहेरा रिस्ता रखनेवाला ही होगा फिर चाहे भाजपा जीते ,या कॉंग्रेस ( जो कभी जीतेगी नहीं ) या फिर केशुभाई की "जीपीपी"मगर RSS से नाता नहीं टूट सकेगा गुजरात मे वास्तव मे दिग्विजय सिंह को एक बात बताने की जरूरत है की कॉंग्रेस की सरकार RSS को जी भरके गालिया दे रही है और RSS संस्कृति का विरोध कर रही है मगर सच ये है की कॉंग्रेस को भी आज वही RSS संस्कृति से आए वाघेला को ही मुख्यमंत्री बनाना पड़ेगा जिस वाघेला ने 28 साल उस RSS संस्कृति मे गुजारे है क्यू की वाघेला से बेहतर विकल्प कॉंग्रेस के पास है ही नहीं तो " सुन बेटा दिग्विजय तुझे और तेरी कॉंग्रेस को भी वही संस्कृति पर आधार रखना पड़ेगा | "
 
* एक नजर इस खबर पर
       " पूरी दुनिया की नजर एक बार फिर गुजरात के चुनाव पर टिकी हुई है एक तरफ नरेंद्र मोदी है तो दूसरी तरफ कॉंग्रेस और केशुभाई पटेल की पार्टी "जीपीपी " है मगर एक ओर बात गौर करने जैसी है की अगर चुनावी टिकट मिलता है तो गुजरात के पाँच भूतपूर्व मुख्यमंत्री लड़ेंगे चुनाव ओर उस से भी ज्यादा ताजुब्ब इस बात का है की मुख्यमंत्री कोई भी बने मगर उसकी जड़े "राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ "याने RSS से ही जुड़ी हुई होगी ये तय ही है | "


* RSS का जलवा 
        " कॉंग्रेस के पास अगर कोई मुख्यमंत्री के लायक है तो वो है भाजपा से निकले हुवे "शंकरसिंह वाघेला "जो  पहले RSS से ही जुड़े हुवे थे और उनसे बेहतर विकल्प कॉंग्रेस के पास है ही नहीं, ऐसा ही कुछ "जीपीपी" पार्टी के केशुभाई पटेल का भी है, वो भी तो RSS से ही जुड़े हुवे थे याने ये बात साफ हुई की मुख्यमंत्री चाहे जो भी बने उसकी जड़े "आरएसएस" से ही जुड़ी हुई होगी याने अभी भी गुजरात मे RSS का जलवा बरकरार है,कॉंग्रेस के शंकर सिंह वाघेला तो 28 साल तक संघ परिवार से ही जुड़े हुवे थे ऐसे मे एक और भूतपूर्व मुख्यमंत्री जो जीपीपी पार्टी से जुड़े हुवे है वो है सुरेश महेता|"

           " 5 मुख्यमंत्री कौन कौन है ये ? भाजपा के नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री के लिए तय ही है और दूसरी तरफ कॉंग्रेस के नेता मधावसिंह सोलंकी ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया है मगर कॉंग्रेस के शंकरसिंह वाघेला चुनाव लड़ रहे है तो दूसरी तरफ जीपीपी पार्टी मे केशुभाई पटेल और सुरेश महेता चुनाव लड़ेंगे और पांचवे है कॉंग्रेस के दिलीप परीख और ये सब पहले भाजपा मे ही थे और RSS समर्थक ही थे केंद्रीय कॉंग्रेस चाहे जितनी भी बुराई RSS परिवार की करे मगर यहाँ बात साफ नजर आती है की आज कॉंग्रेस को भी RSS परिवार से आ रहे शंकरसिंह वाघेला पर उम्मीद रखनी पड़ी है | "


* हेट्रीक पक्की है 
        " मोदी करेंगे हेट्रीक 133 जगह पर उनकी होगी भव्य जीत ऐसा सर्वे बता रहा है 2007 के चुनाव के परिणाम से बेहतर प्रदर्शन इस बार मोदी करेंगे और बहुमत हासिल करेंगे 2007 मे भाजपा को 117 सीट मिली थी और कॉंग्रेस को 59 मगर इस बार सबसे ज्यादा नुकसान होगा कॉंग्रेस को क्यू की उसे 2007 मे मिली 59 सीटो मे से 16 सीट गवानी पड़ेगी |"

         " गुजरात चुनाव को लोग जिस नजर से देख रहे है उस से ये प्रतीत होता है की ये चुनाव नरेंद्र मोदी और सोनिया गांधी की प्रतिष्ठा का बन गया है लोग जब चर्चा करते है तो एक बात होती है की "मोदी जीतेंगे कॉंग्रेस हारेगी " कोई ऐसा नहीं कहेता की "भाजपा जीतेगा कॉंग्रेस हारेगी "सायद सच्चे विकास को जनता जानना सीख गयी है इंतेजार है 20 दिसंबर का बाकी जनता तो अपना काम करेगी ही | "

* बेटा RSS को खराब नहीं कहा करते है 
                       " जिस पर आपका दारोदमार हो और जिस डाली पर आप बैठे हो उस डाली को कभी काटना मत वरना बहुत बुरा हाल होगा सबसे ज्यादा इस देश मे अफवाए फैलानेवाले "दिग्विजय "को गुजरात मे भी कॉंग्रेस को मुख्यमंत्री पद के लिए RSS संस्कृति से जुड़े लोग पर ही उम्मीद रखनी पड़ती है वो नहीं दिखाता है क्या ? क्या अब नहीं कहोगे बेटा दिग्विजय की "इस मे भी RSS का हाथ है "...तो बेटा समज गए न अब की RSS खराब नहीं है |"

भाजपा  - नरेंद्र मोदी            - RSS
कॉंग्रेस  - शंकरसिंह वाघेला  - RSS  
जीपीपी - केशुभाई पटेल       - RSS
              सुरेश महेता           - RSS

                                                     " देखा बेटा RSS का जलवा ,चल अब बोल इस मे भी RSS हाथ है | "

इस ब्लॉग मे पढ़ने लायक पोस्ट 

   कॉंग्रेस नंबर 1 ( कॉंग्रेस की विकास यात्रा ) 

   :::::
::::
:::
:::

No comments:

Post a Comment

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.