:

Saturday, September 1, 2012

काँग्रेस का झूठ, मोदी का तमाचा




             " गुजरात की तरक्की को क्यों रोकना चाहती है कांग्रेस ? ये सवाल आज गुजरात वासियों के दिल में कांटे की तरह चुभ रहा है और चुभेगा भी क्यों की कांग्रेस जो कर रही है उस से जनता अनजान नहीं है हाल ही में गुजरात में कांग्रेस "गेस " पर राजनीती कर रही है मगर वो भी झूठ की बुनियाद पर और आप सब जानते है की झूठ की बुनियाद पर कोई खड़े रहने का प्रयास करे तो एक न एक दिन वो गिरता ही है आखिर क्या है " गेस " की राजनीती और क्या कहती है " गुजरात हाईकोर्ट ? "   
* २७/०७ को गुजरात हाईकोर्ट ने दिया एक फैसला 
     " अपनी भेदभाव भरी नीति छोड़कर गुजरात को भी अन्य राज्यों के दाम में केन्द्र सरकार "सी एन जी" दे | " ये हुक्म किया था गुजरात हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस भास्कर भट्टाचार्य ने  जिस में उन्होंने साफ़ तोर पर केंद्र की "यू पी ए " सरकार से कहा था की गुजरात को भी दिल्ही और अन्य राज्यों के दाम में गेस मिलना चाहिए और केन्द्र सरकार अपनी भेदभाव भरी नीति को छोड़ दे ,ये फैसला आया था २७/०७/१२ के दिन मगर इस फैसले पर गोर करने के बजाय केन्द्र की यू पी ए सरकार ने गुजरात hpcl cng  के दाम में बढ़ोतरी कर दी ..क्या कानून का हुक्म कोई मायने नहीं रखता है ? "
* "सी एन जी" पर खेली जा रही है राजनीती 
          " केन्द्र की कांग्रेस सरकार गुजरात में "सी एन जी" पर राजनीती खेल रही है गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अर्जुन मोधवाडिया गुजरात की जनता को ये कहेकर गुमराह कर रहे है की गुजरात में "सी एन जी " इस लिए महँगा है क्यों की गुजरात की मोदी सरकार गेस पर लगा "वेट" कम नहीं कर रही है और यहाँ पर कांग्रेस प्रमुख अर्जुन मोधवाडिया का सबसे बड़ा झूठ सायद यही होगा की "वेट" की वजह से महँगा है गेस मगर वो भूल रहे है की पुरे देश में "सी एन जी" पर वेट १२.५ % से लेकर १५ % ही है तो इस हिसाब से फर्क बहुत ही मामूली होना चाहिए मगर ऐसा क्यों की आंध्र प्रदेश में ४३.५ पैसा प्रति किलो और गुजरात में ५६.९० रुपये प्रति किलो ? "
आइये नजर डालते है आंकड़ो पर


              * अब अगर ५६=९० में से १६=५५ रुपये निकले जाये तो जवाब आएगा ४०=३५ रुपये तो समजो ये है गुजरात को मिलनेवाले गेस की कीमत और यही बात अगर "आंध्रप्रदेश" पर लागु करे तो जवाब क्या आएगा ? जहाँ वेट है १४=५० % देखे क्या फर्क पड़ता है ..फर्क आपके सामने है मगर फिर भी गुजरात में महँगा क्यों है भाई ? इस मुताबिक आप ही देखे
गुजरात को ४०=३५ रुपये प्रति किलो पड़ा
आन्ध्रप्रदेश को ३१=०३ रुपयों में प्रति किलो पड़ा
भैया अगर सभी टेक्स एक समान है और केन्द्र सभी राज्यों को एक ही दाम में गेस दे रही है तो इतना फर्क कैसे ?ज़ब की गुजरात और आंध्रप्रदेश के वेट के बिच फर्क सिर्फ ००=५० % का है तो इस हिसाब से बिक्री दर में फर्क आना चाहिए बहुत ही मामूली मगर यहाँ फर्क आ रहा है ०९=३२ रुपयों का तो क्या ऐसे में भी गुजरात की जनता माने की केन्द्र सभी राज्यों को एक ही दाम में गेस दे रही है ?
* देखनेवाली बात
          " जहाँ जहाँ कांग्रेस की सत्ता है वहां वहां गेस सस्ता है ज़ब की देश भर में सभी टेक्स याने एक्साइज और अन्य टेक्स एक समान है ऐसा क्यों ? गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को जनता की नजर में गिराने के लिए गेस पर खेली जा रही है राजनीती मगर कांग्रेस खुद ही फस रही है अपनी ही राजनीती में क्यों की जनता के सामने ये सच छुपा नहीं है की देश में मामूली वेट फर्क के अलावा सभी टेक्स एक समान होते है |"
*२९/०८ को आया एक और फैसला गुजरात हाईकोर्ट का
           "  ज़ब गुजरात के नरेन्द्र मोदी ने इस बात को लेकर अखबारों में इश्तेहार दिया की सरकार की गुजरात के खिलाफ दोगली नीति है तो गुजरात कांग्रेस ने इस इश्तेहार को रोकने के लिए एक PIL दाखिल कर दी थी मगर आज २९/०८/२०१२ को उस पर कोर्ट ने फैसला देते हुवे कहा की " राज्य सरकार को ऐसे इश्तेहार देने का अधिकार है" मगर कांग्रेस अगर सच्ची है और उसकी गुजरात के खिलाफ दोगली नीति नहीं है और गुजरात को भी अन्य राज्यों के बराबर दाम में गेस देती है तो उसे मोदी सरकार के इस इश्तेहार को रोकने के लिए PIL दाखिल करने की क्या जरूरत थी ? क्या कांग्रेस को ये दर था की अपने द्वारा फैलाये झूठ कही उजागर न हो जाये ? ज़ब की आंकड़े खुद बता रहे है की गुजरात पर अन्याय हो रहा है ..आखिर कांग्रेस चाहती क्या है की उसके द्वारा फैलाया गया झूठ जनता को पता ना चले इस बात में है कांग्रेस राजी या फिर उनके झूठे बयान अखबारों में छपते रहे और जनता या फिर कोई भी उसका विरोध न करे उस बात में है कांग्रेस राजी ?"
* हाईकोर्ट का सहारा क्यों लिया ?
           " कांग्रेस जानती है की देश में कानूनी प्रक्रिया बहुत ही धीमी है अगर कानून के दर से थोड़े दिनों के लिए भी मोदी सरकार के इस इश्तेहार पर स्टे मिल जाता है तो बात बन जाएगी क्यों की चुनाव नजदीक आ गए है मगर किस्मत ...कांग्रेस ने इस बात का विरोध करते पहले कहा था की हम सभी राज्यों को समान दाम में ही गेस दे रहे है तो सवाल ये उठता है की टेक्स देश भर में समान है अगर फर्क है तो वेट का मगर वो भी मामूली तो फिर भी गुजरात में महेंगी क्यों है गेस ? नरेन्द्र मोदी के इस इश्तेहार में दम तो है ही और समजनेवाली बात भी है की केन्द्र की "यू पी ए"सरकार जहाँ जिस राज्य में कांग्रेस की सत्ता है उसे कम दाम में गेस देती ही होगी,कांग्रेस को अगर इस बात से नाराजगी है की इश्तेहार क्यों दिया तो वो भी तो जनता को बता सकती है सच्चाई क्या है ? मगर कांग्रेस गुजरातियों को सच्चाई बताना तो दूर मगर इश्तेहार ही बंध करवाने में लगी है | "
* जनता बेवकूफ नहीं है
          " कांग्रेस को ये बात अभी तक समज में नहीं आई है की झूठ की बुनियाद पर लोगो के दिल जीते नहीं जाते और जनता को अब हिसाब करना और हिसाब लेना भी आ गया है सिर्फ वक़्त का इंतज़ार कर रही है जनता अभी भी कांग्रेस के पास वक़्त है की वो झूठ की बुनियाद को छोड़कर सच्चाई की नीव रखे क्यों की जनता का दिल अगर जीतना है तो सिर्फ सच्चाई की बुनियाद पर ही ...आप कभी भी जनता को झूठ की बुनियाद पर तो हरगिज नहीं जीत सकते 
 अगर ऐसा ही रहा तो सभी कहेंगे की " गुजरात की तरक्की को क्यों रोकना चाहती है कांग्रेस  ? "
 ये रहा वो इश्तेहार जिस पर कांग्रेस ने विवाद खड़ा किया है

इस पोस्ट को आप दिल्ली से प्रसारित होनेवाला अखबार और वेब साइट " इनसाइड स्टोरी " मे भी पढ़ सकते है
जिसे पढ़ने के लिए आप यहाँ क्लिक करे

इस ब्लॉग मे पढने लायक बहुत कुछ है दोस्त 


ट्विटर की चटर पटर चु ...चा
::::::

::::
:::
:

10 comments:

  1. कांग्रेस का अंत समय नजदीक आ रहा है !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी पूरण जी सही कहा अब अंत नजदीक है इस लुटेरी सरकार का

      Delete
  2. सत्य की जित होती हे.....फोटो फेसबुक पे डाल रहा हूँ भाई
    एक "SMS" का कमाल::::::::::::: दुनियां लगे बेमिसाल!!(Only One Sms)

    ReplyDelete
    Replies
    1. विजयपाल भाई डालिए तस्वीर चाहे जहां भी ताकि लोगो को ये तस्वीर देखकर पता चले की उनके साथ क्या खेल खेला जा रहा है इस लुटेरी काँग्रेस सरकार का असली चहेरा सामने लाना ही है अब

      Delete
  3. काँग्रेस का अंत तो हो जायेगा
    काँग्रेसी मानसिकता को इस देश
    का आदमी कहाँ बेच के आयेगा?

    ReplyDelete
    Replies
    1. सुशील भाई वो मानसिकता का इलाज भी हो जाएगा अगर इस मानसिकता को जन्म देनेवाले का नाश हो जाए

      Delete
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज रविवार (02-09-2012) के चर्चा मंच पर भी की गयी है!
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत शुक्रिया मयंक साहब आपके इस प्रयास से ज्यादा से ज्यादा लोग इस पोस्ट तक पहुँच सकेंगे और सच्चाई से वाकेफ भी होंगे

      Delete
  5. बहुत अच्छी प्रस्तुति झूठ ज्यादा वक़्त जिन्दा नहीं रहता जनता को कब तक बेवकूफ बनायेंगे

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया ,और सही कहा आपने ज्यादा वक़्त झूठ कभी जिंदा नहीं रहेता

      Delete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.