Monday, February 20, 2012

हिंद के लिए शरिया कानून : मुस्लिमों की मांग या आतंकवादीयों की चाल ?

दोस्तों फेसबुक पर कई बार कुछ भी लिख दिया जाता है और उसे हम जैसे कई फेसबुक के कीड़े बिना सोचे समझे आगे बढाने में लग जाते हैं|

ऐसे ही कुछ उदाहरणों में एक है १४ फरवरी को भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव जी की शहादत का दिन बना दिया किसी ने कहा की इस दिन उन्हें सजा सुनाई गई थी जबकि दोनों में से कुछ भी सच नहीं था |

ऐसे ही एक नई बात जो अभी सामने आ रही है वो है हिंद के लिए शरिया कानून लागू करने की बात का जो की ऐसे फ़ैल रहा है जैसे जंगल में आग |

इसके साथ ही लोग नफरत भरी बाते भी लिखते जा रहे हैं, पर सोचने वाली बात ये है की इसमें कितनी सच्चाई है|

मेरा ये मानना है की ये भारत में सिर्फ और सिर्फ धर्म के नाम पर नफरत फैलाने के लिए की जाने वाली एक और कोशिश है जो की पूरी तरह से कामयाब होते हुए दिख रही है|

मुझे अजीब ये भी लग रहा है की लोग बिना सोचे समझे उन आतंकवादी लोगो की चलो का शिकार हो रहे हैं और बिलकुल वही कर रहे हैं जो ये आतंकवादी करवाना चाह रहे हैं, उनकी घटिया सोच का प्रचार |

कुछ तथ्य और कुछ बाते मै आप के सामने रखता हूँ आप खुद समझदार हैं |

१) इस षड्यंत्र की जो वेबसाइट है उसमे कही भी हरा रंग इस्तेमाल नहीं हुआ है जबकि अगर कोई इस्लामिक संगठन सिर्फ इस्लाम की बात कर रहा होता तो उसमे पूरी तरह से हरा रंग होता |
२) वेबसाइट को भगवा रंग दिया गया है, उसका कारण ये हो सकता है की अगर कोई भी खून खराबा होता है तो उसे भगवा संगठनों पर डाला जा सके जो की पक्के तौर पर होगा अगर इसी तरह से बात आगे बढती रही तो |
३) इस षड्यंत्र में जो रूपरेखा तैयार की गई है उसकी पृष्ठ भूमि इंग्लेंड है किसी ऐसे देश की नहीं जहाँ पर शरिया क़ानून लागू हो तो ये सोचने वाली बात है |
४) कोई भी भारतीय इस्लामिक संगठन अभी तक खुल कर इस विषय में सामने नहीं आया है और जब तक ऐसा नहीं होगा तब तक ये सिर्फ एक विदेशी षड्यंत्र ही है और कुछ नहीं |
५) जिन लोगो को इस षड्यंत्र का करता धर्ता बताया जा रहा है वो कौन है ..वो आतंकवादी है पक्के अतंकवादी और उनकी कही बातों से हम हमारे देश का अमन चैन बर्बाद करे वो सही होगा क्या |
अन्जेम चौधरी और ओमर बकरी मुहम्मद के बारे में आप यहाँ से जान सकते हैं और खुद सोचिये की आप आतंकवादीयों की बातों को संजीदा तौर पर लेंगे क्या|
http://en.wikipedia.org/wiki/Anjem_Choudary
http://en.wikipedia.org/wiki/Omar_Bakri_Muhammad
   
ये सिर्फ और सिर्फ अफवाहे हैं चंद आतंकवादीयों के द्वारा हमारे शांत देश में नफरत की आग लगाने के लिए |

दूसरा ये की जिन देशो में भी शरिया कानून है वहाँ के लोग खुद ऐसा कानून चाहते हैं जो की अमन की बात करता है |

देश के मुस्लिम खुद नहीं चाहेंगे की उनकी हालत चंद लोगो के हाथो में जा कर ऐसी हो जाये की उनकी सारी आजादी भी छीन जाये और मजबूर भी हो जाये |

तो दोस्तों कुछ आतंकवादियों की बाते सुन कर बहकावे में मत आओ और देश को आग में मत जलाओ |

2 comments:

  1. इस साईट पर बैन लगना चाहिये और इसके कर्ता-धर्ताओं के विरुद्ध भारतीय क़ानून के अनुसार तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिये...

    ReplyDelete
  2. हरा रंग और भगवा रंग - रंग को चुनना कोई प्रमाण नहीं. इंग्लैण्ड से साईट चलाना यह सिद्ध नहीं करता कि भारत में ऐसा कुछ नहीं किया जा सकता. कश्मीर में शरई क़ानून के आधार पर चार ईसाई मिशनरीज को निकालने की खबर मीडिया में आ चुकी है. संगठन भारतीय हो या विदेशी, उस पर तुरंत कड़ी कार्रवाई होनी चाहिये. कई आतंकी संगठन विदेशों में रहकर भारत में धमाके कराते रहते हैं..

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human