:

Monday, February 6, 2012

गायब है कश्मीर राहुल गाँधी की वेब साईट से ( विडिओ के साथ)


" जी हाँ राहुल गाँधी की वेब साईट में दिए भारत देश के नक़्शे में "कश्मीर" कही दिखाई नहीं दे रहा है, राहुल गाँधी जिसे कांग्रेस भारत देश का अगला प्रधानमंत्री जी बता रही है क्या उन्हें ये पता नहीं है की भारत देश का अभिन्न अंग है कश्मीर ? क्या ऐसा हो सकता है भारत देश का अगला प्रधानमंत्री जिसे देश के नक़्शे के बारे में भी पता नहीं है ? "

" ये वेब साईट के नीचे २००६ कोपी राईट का चिन्ह बता रहा है की ये साईट २००६ से कार्यरत है जिसे " राज बहादुर चौहान" संभाल रहे है ..ये साईट "नॅशनल कमीशन बेकवार्ड क्लास "के तहत " कांग्रेस इन फेवर ऑफ़ ओबी सी " के रूप में चलाई जा रही है और इस साईट में राहुल गाँधी के विवरण के साथ साथ उनको भारत का अगला प्रधानमंत्री के रूप में भी दिखाया गया है "

ठेश पहुंची भारतवासी के दिल को :
" गौर किये जाने वाली बात ये है की "राज बहादुर जी " ने बी ए ( होन ) जर्नालिसम के साथ "एल एल बी" भी किया है और जब एक पढ़े लिखे आदमी से ऐसी गंभीर भूल हो जाये तो उसे क्या समजना चाहिए ? इस साईट से वो क्या दर्शाना चाहते है ये तो पता नहीं है मग़र करोडो भारतवासी के दिल को ठेश पहुंची है बिना कश्मीर का भारत का नक्षा देख कर "

कश्मीर में दो झंडे तो है :
" कश्मीर वैसे भी विवादों से भरा हुवा ही रहा है और वहां पर इस देश का झंडा "तिरंगा "एक ही होते हुवे भी वहां के मुख्यमंत्री जी दो झंडे लगाकर घूम रहे है जिस पर आज भी कांग्रेस चुप है और तभी ये बिना कश्मीर के भारत का नक्षा ..तो क्या भारत देश में दो झंडे और दो संविधान भी मौजूद है ?

इस विडियो को जरूर देखिएगा :
http://youtu।be/zaVy0LIW-Lg
" दर्द होता है जब एक पार्टी किसीको इस देश का प्रंतप्रधान बताती है और उसी की तस्वीर जब देश के टुकड़े करनेवाले नक़्शे के साथ किसी वेब साईट पर पाई जाती है ...क्या हो रहा है ये ? ...क्या कश्मीर भारत का अंग नहीं है ? ऐसे अनेक सवाल खड़े करती है ये तस्वीर ..............
ये विडियो जरूर देखिये ..और ये साईट के बारे में जानिए



:::
::
:
:
:

4 comments:

  1. भाई यह साईट कांग्रेस की नहीं बल्कि किसी राज बहादुर चौहान की है... इसलिए इसके लिए राहुल गाँधी को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है... हालाँकि साईट चाहे किसी की भी है, लेकिन इस फर्जी नक़्शे का ज़बरदस्त विरोध ज़रूर होना चाहिए.

    ReplyDelete
  2. मैंने भी कई बार नक़्शे को लेकर आपत्ति उठाई है. लेकिन सही बात यह है कि अब दिखाएँ कुछ भी, लेकिन एक भी इंच वापस लेने की ताकत नहीं है नेताओं में.

    ReplyDelete
  3. आपने सही आवाज़ उठाई है. पर अब तो यह मान्य होता जा रहा है. और शायद सही भी है. असली नक्षा तो यही है, और सर्कार अब इसका विरोध भी नहीं करती है. कुछ दिनों पहले western union जो बाहर से इंडिया पैसे भेजने का एक तरीका है - उसने पूरे लन्दन में इश्तेहार दिए थे - पैसे इंडिया भेजने के लिए- इससे उनकी कमाई होती है- मगर उसने नक्षा तो यही lagaya tha. kahin कोई आवाज़ नहीं विरोध नहीं. अगर WU , भारत मान्य नक्शा लगा कर पाकिस्तान पैसे भेजने की बात करे तो, बवाल होगा और कोई एक पाई भी WU को न देगा.
    लन्दन में इंडियन दूतावास है वो अंधी तो नहीं? मगर सर्कार का रुख ही ऐसा है.
    इस वेबसाइट के लए राहुल गाँधी जिम्मेवार तो नहीं मगर अन्भिया हों ऐसा भी शायद ही हो. मुझे शक है की उन्हें पता है की क्या सही नक्शा है.

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.