:

Friday, February 10, 2012

कांग्रेस बहुत ही अच्छी है : तमाचा है ये पोस्ट

" वोट के लिए नौटंकी करना कोई कांग्रेस से सीखे ..वोट के लिए जी हाँ सिर्फ वोट के लिए अपना जमीर और यहाँ तक की अपने बाप का नाम भी बदल सकती है कांग्रेस ...गिन्होनी कांग्रेस आखिर अपने आप को समजती है क्या ?आज आज़मगढ़ में सलमान खुर्शीद का बयान साबित करता है की कांग्रेस नहीं चाहती है की इस देश में हिन्दू और मुसलमान शांति से रहे और कांग्रेस खुद ऐसा करती है और भाजपा पर आरोप लगाती है की वो हिन्दू मुसलमान के बिच दुरिया बढा रही है ..नौटंकी ...और इस देश की बड़ी नौटंकी बाज सोनिया के आंसू ... "


कसाब की मौत पर भी सोनिया रो सकती है :

" बटाला हॉउस में पड़ी लाशो को देखकर सोनिया गाँधी की आँख से आंसू निकल आये वो लाशे जो आतंकी की थी उन्हें देखकर रोना मतलब ? ...साफ़ है की वो लाशे मुस्लिम आतंकियों की थी और मुस्लिम समुदाय के वोट के खातिर आज फिर झूठ बोला जा रहा है मग़र हैरत उस बात की होती है की कल अगर कसाब की मौत हो जाये तो क्या सोनिया की आँख में आंसू आयेंगे ? ...अगर आतंकीयो की लाश को देखकर आप रोते है तो इसका मतलब है की आपका आतंकी से कोई ना कोई रिश्ता जरूर है वैसे भी ओसामा बिन लादेन जैसे विश्व प्रसिद्द आतंकी को आप ओसामाजी कहेकर बुलाते है ...क्यु क्या वही से भी आपको वोट मिलनेवाले था या नोट मिल रहे थे ? "


सोनिया जी से चंद सवाल

* मुंबई ब्लास्ट में मारे गए लोगो के लिए आपकी आँख में कभी आंसू आये थे क्या ?

* सरहद पर शहीद सैनिक के लिए कभी आपकी आँख में आंसू आये की नहीं ?

* देश में भूख से तड़पकर मरनेवालो के लिए कभी आँख में आंसू आये की नहीं ?


" अरे तु क्या ऐसी बात पर रोएगी ...तु सिर्फ अपने स्वार्थ के खातिर रो सकती है और देश की जनता को रुला सकती है ... "
" कभी देश के शहीदों के लिए भी रोकर देख ...कभी देश की जनता के लिए रोकर देख ,मग़र तु तो आतंकी के लिए रो रही है वो आतंकी जो इस देश के लोगो को बेरहमी से मारते है ....कांग्रेस का और आतंकियों का रिश्ता भी पुराना है शायद ..तभी तो आज भी तुने अफज़ल और हजारो लोगो को मारनेवाले कसाब को अपने सर पे बिठाकर रखा है "


* हिन्दू की लाश भी थी और मुसलमान की भी


मित्रो ...इस ब्लॉग को पढ़नेवालो ...फिर चाहे वो मुसलमान हो या फिर हिन्दू ..याद रखना ये कांग्रेस ही हमारी शांति को सदा भंग करती आ रही है और वो नहीं चाहती है की इस देश में हिन्दू मुसलमान ..भाई भाई की तरह शांति पूर्वक रहे सके ...बटवारा करके वोट हासिल करना इनका धर्म बन गया है ...आज वो आतंकी के आंसू के लिए रो रही है ...मग़र कल जब तुम्हे यही आतंकी मार देंगे तो आपकी लाश की और देखना भी मुनासिब नहीं मानेगी ...क्यु की आज तक आतंकी को कभी सजा हुई है क्या ...? हजारो लोगो को मारकर जेल में बैठना और मौज करना ये सजा नहीं है मग़र उन्हें भी उसी तरह मारो जिस तरह से उन्होंने हमले में देशवासी मारे थे ..जिसमे हिन्दू की लाश भी थी और मुसलमान की भी "


:::

::

:

5 comments:

  1. वाह तुलसिभाई वाह... बिलकुल सही चरित्र निरूपण किया है विषकन्या का..

    ReplyDelete
  2. om,
    bhai tulsi ji,aap ne bilkul sahi kaha hai .Yeh gandhi-nehru paribar ko na kabhi bhartiyo ki prbah thi ,na hai,na bhabishy me hogi ,ine to satta-sukh chahiye ,uske liye yh kisi hd tak natak vot pane ke liye kr sakte nahi to kya inke mantri/maha sachib aapas me aise birodhabasi byan dekr aanan -fanan me 24 ghante ke bhitr byan badal dete ,aur inki neta/p.m, us pr koi safai na dekr maun rahte ,ye to badishrmindi ka bishy hai,ine aise buddhi-heen mantriyo/maha sachibo ko,ydi todi bhi shrm hoti to bina kisi deri ke bahiskrit kr dena chahiye tha ,inone to desh hi me nahi bidesh me bhi desh ko shrminda krne me koi ksr nahi chodi hai.aage kya krte hai ishwr hi malik,jnta ka to biswas uth ta ja raha hai.vandematram./jai hind.

    ReplyDelete
  3. ॐ नमः शिवाय !! महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाये.

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.