:

Wednesday, May 4, 2011

लादेन की ४ पन्नो की वसीयत पढ़िए , क्या कहेता है लादेन ?


" दुनिया का मोस्ट वांटेड आतंकवादी " ओसामा बिन लादेन " अब नहीं रहा ..मगर क्या वाकई में लादेन से हमे छुटकारा मिल गया है इस बात की चर्चा हम फिर कभी करेंगे ..मगर आज देखते है लादेन का वसीयत नामा क्या कहेता है ..क्या कहेता है " लादेन " |"
    
           * लादेन की मौत के २४ घंटे में ही वसीयत बहार आई  |
           * ४ पन्नो की वियत में लादेन ने दिया है एक सन्देश |
          * जेहाद के नाम से चल रहे आतंकवाद पर से भरोषा उठ गया था |
          * १० साल पहले लिखी गयी थी ये वसीयत |
          * कुवैत के एक अखबार ने किया है दावा की उनके पास "ओसामा "की लिखी वसीयत है |

                                 " ओसामा बिन लादेन ने १४ दिसम्बर २००१ को लिखी हुई वसीयत हमारे पास है ऐसा दावा आज कुवैत के एक अखबार " अल - अनबा " ने किया  | ओसामा बिन लादेन ने अपनी इस ४ पन्नो की वसीयत में साफ़ तौर पर लिखा है की .....
             * " मै नहीं चाहता हु की मेरे बच्चे " आतंकवादी बने और अल कायदा में शामिल हो जाये क्यों की जेहाद के नाम पर फ़ैल रहे आतंकवाद पर से उनका भरोषा उठ गया है |" 
             * और मेरी  मौत के बाद मेरी बीवियां  दूसरी  शादी ना करे ये मै चाहता हु  |
      
     ओसामा के वसीयत में ये थी सबसे बड़ी इच्छा ..और आगे ओसामा ने ये भी कहा है की मै इस लिए नहीं चाहता हु की मेरे बच्चे जेहाद में शामिल हो क्यों की इस जेहाद की वजह से मैंने मेरे बच्चो को कभी समय नहीं दिया था मेरे जेहाद के जनून की कीमत मेरे बच्चे भुगत रहे है ..और ओसामा ने शंका व्यक्त भी की है की कुछ गदार  के कारण ही उसकी मृत्यु होगी |"

        " अल कायदा द्वारा किये गए आतंकी हमलों की जानकारियां के साथ उन तमाम हमले का श्रेय भी ओसामा ने लिया है ..ये वसीयत तब लिखी गयी थी जब " ओसामा बिन लादेन " ने अमेरिका पर हमला किया था ठीक हमले के कुछ महीनो बाद ही ये वसीयत लिखी गयी थी याने १४ दिसम्बर २००१ को लिखी ये वसीयत कम्पुटर पर लिखी गयी है |"
                                     " क्या लगता है आपको इस वसीयत से क्या ओसामा के द्वार अपने बेटो को ये कहेना की अल कायदा ज्वाइन मत करना ..ये जेहाद के नाम से फैलने वाले इस आतंकवाद पर से भरोषा उठ गया है ..ये सब क्या है ..क्या ये सच है , क्या कुवैत की इस अखबार का दावा सच्चा है या फिर ....जो भी मगर लादेन अब नहीं रहा ये एक सच्चाई है | ओसामा बिन लादेन की ४ पन्नो की वसीयत पढ़िए लय कहेता है लादेन ?

8 comments:

  1. सच तो नही लगती ये वसीयत। लेकिन सच यही है कि आतंकवादी भी जानते हैं कि उनकी राह गलत है। या शायद परिवार को सब की नज़रों मे अच्छा बनाना चाहता हो।

    ReplyDelete
  2. Roshani Sahu @ facebook :

    Ek Laden mar gaya to kya hua? yahan to hazar Laden khade hain usse bhi khatarnak... Jaise Ek Rawan ko Ram ne mara par us Rawan se bhi khatarnak log yahan par raj kar rahe hain. aur baat rahi wasiyat ki to thik hi kaha hai Laden ne.

    ReplyDelete
  3. roshani sahu @ facebook :
    aur baat rahi wasiyat ki to thik hi kaha hai Laden ne. uski galtiyon ya jehad ki saza uske bacche kyon bhugte??

    Roshani Sahu Wasiyat me jo kuch bhi likha ho isse jyada Aham yah hai ki ham kisi bhi jang ko ladne ke liye galat rasta akhtiyar karte hain bagair jane samajhe jiska parinam sirf ek ko hi nahin sari koum ko bhugatna padta hai...

    ReplyDelete
  4. roshani @facebook

    Aaj ek Laden ke karan sare muslims koum ko shak ki nazar se dekha jata hai.aur jo root hai wah aaj bhi pak saaf hai Are kuch karna hai to soch samajh ke karo. jaise baba raam dev ki har chal bahut sochi samajhi huii hoti haiAawesh me liya gaya koi bhi nirnay sahi nahin hota

    ReplyDelete
  5. अगर यह सत्य है तो वसीयत बहुत बढ़िया है!

    ReplyDelete
  6. ji sir ..agar ye saty hai to pure vishw ke liye badhiya hai kyu ki is vasiyat se "al kayada" ko nuksaan ho sakta hai kyu ki laden ne kaha hai ki uska bharosha jehad per se utha gaya hai

    ReplyDelete
  7. और उसके हिन्‍दी ब्‍लॉग का जिक्र नहीं है इसमें, घनघोर गड़बड़झाला

    ReplyDelete
  8. blog ka jikr kar diya hota to blogger biradari unhe aatankwadi banne hi na deti.......

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.