:

Sunday, June 28, 2009

दिलसे माफ़ी चाहते है हम आपकी ...

" कुछ दिनों से हमने अपने दोस्तों से मुलाकात नही की है .... सायद ये मेरी गलती है ,मगर इस गलती के पीछे था कुछ व्यावहारिक काम ,मगर फिर भी गलती गलती होती है ...हम इस गलती की माफ़ी चाहते है"
" वादा रहा दोस्तों हम फिर जल्द ही मिलेंगे कुछ सच्चाई लेकर "

No comments:

Post a Comment

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.