:

Wednesday, July 3, 2013

इशरत ओर मोदी के बीच की छूपी कड़ी : CBI वालों ये क्यू भूलते हो ?

* IB के द्वारा गुजरात सरकार को भेजे गए इनपुट मे क्या था ?

* गणेश पिल्लई डबल एजंट था 

* चिदम्बरम का हुक्म क्या था ?

 * सीबीआई की गंदी राजनीति क्या है ?

                                      "केंद्र सरकार इस बात की जाँच क्यों नही करवा रही है की आखिर इशरत जहाँ क्या थी ?? हेडली ने उसके बारे में एफबीआई को जो कुछ बताया है उसे केंद्र सरकार सार्वजनिक नही कर रही है , आखिर वो तीन महीने तक केरल के लश्कर ए तोएबा के कैम्प में क्या कर रही थी ?? जावेद उर्फ़ गणेश पिल्लई उसके सम्पर्क में कैसे आया ?? उनसे गणेश का धर्म परिवर्तन करवाकर निकाह क्यों किया ??

                            

                                       एक कोलेजियन जवान लडकी चार चार लडको के साथ तीन दिनों से घर से बाहर थी तो उसके घर वालो ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट क्यों नही दर्ज करवाई ?? एक लडकी जो चार चार लडको के साथ मुंबई से अहमदाबाद आती है तो जाहिर सी बात है वो सती सावित्री तो होगी नही ..

* IB ओर केंद्र सरकार ने जिसे आतंकी कहा था
                                          
                                          फिर उसके बारे में इनपुट खुद केंद्र सरकार के अंतर्गत आने वाली आईबी ने ही गुजरात पुलिस को दिया था ..कांग्रेस और वामपंथियो के शासन वाले राज्य केरल की पुलिस ने भी अपने रिपोर्ट ने कहा है की इशरत जहाँ केरल में जंगलो के लश्कर ए तोएबा के कैम्प में ट्रेनिग ले चुकी है |
* चिदम्बरम का हुक्म क्या था ?

                                   पहले सीबीआई इस बात की जाँच कर रही थी की आखिर इशरत का पूरा सत्य क्या है ..फिर पी चिदम्बरम ने जाँच के इस हिस्से को हटवा दिया और सीबीआई से कहा की सिर्फ उसके एनकाउंटर की ही बात करे | "

* "सीबीआई" की गंदी राजनीति
 
                                   " और इस जाँच में भी सीबीआई कांग्रेस की तरह गंदी राजनीती कर रही है ..जो पुलिस ऑफिसर सीबीआई के दबाव ने उसके मनमाफिक ब्यान देता है उसको मौज ही मौज है .. जिस आईपीएस जी एल सिंघल ने इस एनकाउंटर की पूरी प्लानिंग और मोनिटरिंग की थी वो सीबीआई के अनुसार मनमाफिक ब्यान देने को तैयार हो गया तो उसे सिर्फ कुछ दिन ही जेल में रहना पड़ा और उसने जब जमानत की अर्जी डाली तो सीबीआई ने उसके जमानत का विरोध ही नही किया और वो जेल से बाहर आ गया |”
* खुद IB ओर गृह मंत्रालय ही फसा

                                लेकिन जो अधिकारी सत्य पर कायम है वो आज भी जेल में है क्योकि सीबीआई उनके जमानत का विरोध करती है | और जीएक सिंघल को मोहरा बनाकर ही मोदी और अमित शाह को फंसाने की पूरी योजना कांग्रेस ने बनाई है ..लेकिन जब इसमें आईबी और गृहमंत्रालय के कई अधिकारी भी फंसते नजर आये और साथ में इस बात का डर कांग्रेस को सताने लगा की यदि मोदी अपने अधिकारियो के कार्यो के प्रति उत्तरदायी होने की दलील सीबीआई कोर्ट में करेगी तो जाहिर सी बात है की इशरत जहाँ को आतंकवादी बताने वाले आईबी की उत्तरदाईत्यव भी पी चिदम्बरम के उपर आएगी तो फिर चिदम्बरम को भी साबरमती जेल की शोभा बढ़ानी पड़ सकती है ..

                               " फिर तो दो मिनट में ही केंद्र सरकार बन्दर की तरह गुलांट मार गयी ..जो केंद्र सरकार अब तक इशरत को दुनिया की सबसे नेक लड़की बताती थी अब वही केंद्र सरकार ने गुजरात हाईकोर्ट को बताया की इशरत एक प्रशिक्षण प्राप्त खतरनाक आतंकवादी थी .."
 
* ये गणेश कौन था ? उसकी हकीकत ओर असलियत ये रही
गणेश पिल्लई उर्फ जावेद ..... डबल एजंट था
 
          "इशरत जहाँ के साथ मरने वाला जावेद उर्फ़ गणेश पिल्लई केंद्र सरकार के कागजो में आईबी का एजेंट है ..बाद में आईबी को पता चला की वो असल में डबल एजेंट निकला क्योकि इशरत जहाँ की खूबसूरती का वो दीवाना हो गया था और इस्लाम कुबूल करके उससे निकाह कर लिया था .."
* IB ने भेजे इनपुट मे साफ कहा गया था

              "
आईबी ने गुजरात पुलिस को भेजे इनपुट में बताया की इनसे बहुत सावधान रहना होगा क्योकि जावेद अब डबल एजेंट बन चूका है और हो सकता है की जावेद आईबी को गलत सुचना देकर पुलिस पार्टी पर ही हमला न करवा दे .... "

                    
                    "जब कोई खरतनाक आतंकवादी के बारे में पता चलता है तो आईबी उसके इनपुट में कुछ कोड डालती है जिसके अनुसार उसके खतरनाक होने के स्तर के बारे में पता चलता है और पुलिस उनका एनकाउंटर भी कर सकती है .."

                         " 
इशरत जहाँ से साथ मरने वालो में दो पाकिस्तानी नागरिक थे .. अब एक भारतीय जवान लडकी पाकिस्तानीयो के साथ कार में किसी नेक मकसद से तो नही घूम रही होगी ??"

                        "
कल जो कागज सामने आये उसके अनुसार केंद्र सरकार की आईबी ने गुजरात पुलिस को कहा था की हो सके तो इनका एनकाउंटर कर दिया जाए क्योकि इनका जिन्दा पकड़ना खतरनाक होगा"
 
शुक्रिया : JP
:::::
:::
इस ब्लॉग मे अगली पोस्ट :

हिन्दू महासभा द्वारा राष्ट्रपती जी को लिखा गया खत


:::::
:::

7 comments:

  1. वास्तव में सीबीआई केवल कांग्रेस के इशारे पर देश द्रोही गतिबिधियों में लगी है जब मोदी प्रधानमंत्री होगे तब चिताम्बरम का क्या होगा ? सोनिया तो इटली में होगी आप कहा जायेगे ये देश के साथ छेड़-छाड़ देश को स्वीकार नहीं.

    ReplyDelete
    Replies
    1. दीर्धतंमा जी सही सवाल उठाया है आपने की उस वक़्त चिदम्बरम का क्या होगा ?

      Delete
  2. yah baat ek ek hindustani tak pahunchni chahiye taki congress ke chidambooo ke tamboo ka bamboo toda ja sake .....

    bhai, shaandaar post ! b
    adhaai

    ReplyDelete
    Replies
    1. बिलकुल ... ऐसी बाटो से उन लोगो को अवगत करना ही चाहिए जो लोग आज भी गहेरी नींद मे सोये हुवे है

      Delete
  3. सीबीआई का हाल कौन नहीं जानता है !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा पूरण भाई .... तोता वही बोलता है जो उसका मालिक सिखाता है

      Delete
  4. ye congress kitna aur giregi, koi nahin kah sakta

    sach ko saamne la kar aap desh hit me bada kaam kar rahe hain

    jai hind !

    ReplyDelete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.