:

Thursday, July 25, 2013

आप अंधे है .... या गधे ? या समजदार

ये कोई जागो रे डॉट कॉम नहीं है
की मै कहूँगा की अब नहीं जागोगे तो कब जागोगे
हाँ ये बात जरूर कहूँगा की 

अब भी जो काँग्रेस का समर्थन करते है वो
या तो अंधे है
या फिर ........... गधे है

 
ये कैसा देश है भाई ? जहां खुद सरकार ही भेदभाव करती है ....
नीचे दिये हुवे ब्योरे को पढ़िये और फिर कहिए की काँग्रेस के लिए सच मे सभी धर्म समान है या फिर ...नहीं

कोंग्रेस के राज में,,,
===========

01. इस देश में तिरंगा झंडा फहराने पे आपत्ति
02.  इस देश में भारत माता की तस्वीर मंच पर लगाने से आपत्ति
03. इस देश में वन्दे मातरम बोलने पे आपत्ति
04. इस देश में अमरनाथ यात्रा पर आपत्ति
05. इस देश में सूर्य नमस्कार से आपत्ति
06. इस देश में मंदिर की घंटी बजाने पे आपत्ति
07. इस देश में राम मंदिर निर्माण पर आपत्ति
08. इस देश में गोधरा रेल जलाने पर प्रतिक्रिया पर आपत्ति
09. इस देश में इस देश में आतंकियों को मुडभेड में ढेर करने पे आपत्ति
10. इस देश में श्री रामनवमी शोभा यात्रा निकलने पे आपत्ति
11. वरुण गाँधी के ब्यान पे आपति
12. कश्मीरी हिंदुओं के पुनर्वास से आपति

............................और...................................

01.इस देश में पाकिस्तानी झंडा फहराने पर सहमती
02.हिंदू देवी देवताओं की नग्न तस्वीरे बनाने पे सहमती
03.इस देश में पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत के नारे लगाने पे सहमती
04.इस देश में हज यात्रिओं मक्का जाने के लिए सब्सिडी देने पे सहमती
05.इस देश में गौ हत्या पर सहमती
06.इस देश में सड़क पर नमाज पढ़ने पे सहमती
07.इस देश में आसाम दंगों पे सहमती
08.इस देश में साधू संतों को ठग कहने पे सहमती
09.इस देश में बंगलादेशी घूसखोरो के बसने पर सहमति
10.अकबरुदीन के ह पन्द्रह मिनट में अस्सी करोड हिंदुओं को खत्म करने से सहमती
११ .इस देशं से आतंकी विरोधी कानून को हटाने पे सहमती
१२.सिमी का समर्थन पे सहमती
१३ संघ को आतंकी संगठन कहने से सहमती
१४ एक देश में दो निशान दो संविधान पर सहमती
१५.हजारों सिक्खो के कातिल टायटलर और सज्जन कुमार पर रहम की सहमति 


और भी है बहुत सारे प्रमाण मगर ...शायद आप सभी होशियार लोगो के लिए इतने काफी है

एक नजर यहाँ पर करिएगा

:::::

::::

4 comments:

  1. kam se kam is desh me sach bolne par aapti aur nirdosh ko marne par to sahmati nahi hai jo ki congress ke hi karan hai .isliye aap jaise kale chashme lagakar aankh vale hone ka natak karne se ham andhe hi bhale .

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा शनिवार(27-7-2013) के चर्चा मंच पर भी है ।
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  3. गलत बात को गलत और सही बात को सही कहने वाले ना अंधे होते हैं ना गधा .ये उपाधियाँ तो भावनायों के अंतिम छोर तक जाने वाले के लिए सुरक्षित है

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.