:

Monday, April 29, 2013

गोधराकांड के आरोपियों को फांसी ? SIT ओर मोदी


          गोधरा कांड के आरोपी बाबूभाई बजरंगी ने आज पत्रकारो से कहा की मेरी ओर माया कोडननी के लिए फांसी की अपील “SIT” ने की है गुजरात सरकार ने नहीं ये उन्होने उस वक़्त कहा जब नरोडा की शांताबा चेरिटेबल ट्रस्ट अस्पताल मे उनकी धर्मपत्नी मीनाबेन पर एक ऑपरेशन किया गया था |”

* SIT के द्वारा फांसी की अपील की कॉपी बजरंगी को भी मिली है 
              ( कॉंग्रेस ओर देश की मीडिया फांसी के मुद्दे पर नरेंद्र मोदी पर दोषारोपण कर रही थी मगर SIT ने ही की थी अर्जी ये बात मीडिया बता नहीं रही थी उल्टा मोदी जी को ही बदनाम कर रही थी |" )
          बाबू बजरंगी ने आगे बताते हुवे कहा की SIT द्वारा की गई फांसी की अपील की एक कॉपी उन्हे भी मिली है जेल से जामीन पर छूटकर बाबू बजरंगी सीधे अस्पताल पहुंचे थे जब उनको पत्रकार द्वारा पूछा गया की आप जेल मे क्या करते है ? इस बात पर बाबू बजरंगी ने कहा की वे हर रोज 3 घंटे वो हनुमान जी एवं माँ जगदंबा की पुजा अर्चना करते है |”

            जेल से अगर आप छूट जाओगे तो क्या करोगे ? इस सवाल पर बाबूभाई ने बताया की परिवार के साथ रहेंगे,पुजा अर्चना करेंगे ओर समाज सेवा करेंगे जब क्या अप बजरंगदल का काम करेंगे ? ऐसा पूछा गया तो उन्होने बताया की समाज सेवा मे सब कुछ आ गया

            बाबू बजरंगी को दो दिन की ही जमानत मिली है क्यू की उनकी पत्नी बीमार है ,अस्पताल के डोकटरों ने बताया की बाबूभाई की पत्नी मीनाबेन को यूरेटस थाइब्रोइड की बीमारी थी जिसके लिए ऑपरेशन करना पड़ा ओर एक गांठ निकाली गई है|”

            बाबू बजरंगी के निवेदन से गुजरात एवं सम्पूर्ण भारत मे जो सवाल गुजरात सरकार के खिलाफ उठ रहे थे उस पर पर्दा गिर गया है की बजरंगी ओर कोडनानी के लिए फांसी की अपील गुजरात सरकार ने की है ....SIT जो की सुप्रीम के मार्गदर्शन तले काम करती है अब देखते है की SIT द्वारा की गई अपील क्या रंग लाती है वो तो आनेवाला समय ही बताएगा |”

::::
::

1 comment:

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.