:

Sunday, May 13, 2012

मामु..भ्रस्टाचार का "एंटीवायरस" बना तो मानु : पप्पु का ख़त ( व्यंग )


मेरे प्यारे एंटीवायरस बनानेवाली कंपनियों के मालिको ,
                         " आप सभी को भारत से "पप्पु" का नमस्कार ,आप सभी मालिको से एक प्राथना है की आप कोई ऐसा एंटीवायरस बनाये जो भारत देश में फैले भ्रष्टाचार को ख़त्म कर सके ताकि इस देश का आम आदमी चैन और सुकून से रहे सके ...चोंकिये मत जनाब ...भ्रस्टाचार भी तो सिस्टम को लगा एक वायरस ही है और आप तो वायरस ख़त्म करने के लिए रोजाना कोई ना कोई एंटीवायरस बनाते ही है बस आप ....देश की सिस्टम को ठीक कर दीजिये ..|"

                       " इस देश को लूटनेवालो के खिलाफ की फाइल आज भी बंद है क्यों की ये भ्रस्टाचार नामक वायरस ने वो फाइल को अपने सिकंजे में जो ले लिया है ..कम्बकत वो फाइल खुलती ही नहीं है और अगर खुल भी जाये तो तो सिस्टम को इस कदर जकड कर रखा है की जब फैसला आये तब पता चलता है की इस फाइल का असली गुनेहगार तो २५ साल पहले चल बसा है ..याने काले काम करते है दादा और नतीजा उसके पोते सुनते है ..अब क्या करे ये वायरस का हमला ही इतना तेज़ है की सिस्टम स्लो कर दिया है ...आप बनाओ यार कोई मजबूत एंटीवायरस ताकि ये सिस्टम सुधर जाये ..पैसो की आप चिंता मत करे ...मेरे पास बहुत सारे पैसे है ,चाहे तो आज से मेरा ये गुल्लक आपका हुवा आप बस मेरे देश की सिस्टम को ठीक कर दे इस देश की सिस्टम को लगे वायरस को हटा दे इतनी महेरबानी करे मुझ पर ...मेरा छोटा सा गुल्लक जिसे मै बहुत प्यार करता हु वो आज से तुम्हारा ...बोलो कहा पहुँचावू ? "

                      " दरअसल १९४७ से ही इस देश में ये " भ्रष्टाचार " का वायरस आ गया था और पहली गड़बड़ी हुई " जीप घोटाले " के रूप में ..मगर आज ये भ्रस्टाचार नामक वायरस ने अपना भयानक रूप पकड़ लिया है और हजारो करोडो के घोटाले जो हो रहे है हमारे देश का सिस्टम ख़राब हो गया है उसकी वजह सायद कानून भी हो ,क्यों की इस देश के कानून की आँख पर भी पट्टी जो है ..भ्रष्टाचार नामक इस वायरस को मामूली मत समजना क्यों की इसी ने तो देश की सिस्टम को बर्बाद कर दिया है |"

                     " ये वायरस का प्रभाव भी देखो की हमारे प्रधानमंत्री का मुंह भी बंद कर दिया है ये वही प्रधानमंत्री जी है जिसे इस सरकार ने सबसे प्रमाणिक प्रधानमंत्री करार दिया था मगर इतने भी प्रमाणिक अच्छे नहीं जो देश की लुटिया डुबो दे ..सायद ये भी इसी वायरस का प्रभाव ही है आप जल्द से जल्द इस वायरस का कोई एंटीवायरस बनाओ जनाब ...कही ७००० करोड़ का जो रक्षा सौदा होनेवाला है उसमे भी ये भ्रष्टाचार नामक वायरस अपना प्रभाव ना दिखाए ...मैंने आपको पैसो की पूरी छूट दे रखी है ..याने मेरी जमा पूंजी मेरा गुल्लक भी तो आज से तुम्हारा ही है ...तो लग जाओ काम पर और बनाओ कोई एंटीवायरस " भ्रस्टाचार नामक वायरस " को मिटाने के लिए |"

                    " आप सब पुरे इन्टरनेट जगत को वायरस से बचाते हो मैंने तो तुम्हे जगत नहीं बल्कि सिर्फ एक देश की सिस्टम ठीक करने के लिए कहा है और ये नन्हे पप्पु का वादा रहा की सिर्फ मै ही नहीं बल्कि पूरा देश आपका सुक्रगुजार रहेगा की आपने मेरे देश को खतरनाक वायरस से बचाया ..बोलो कब से काम पर लग रहे हो ? बाकी हम सब देश वासी तो इस काम पर लगे हुवे ही है बस आप सब का साथ मिल जाये तो सिस्टम जल्द ही " भ्रस्टाचार वायरस " से मुक्त होकर फिर से दौड़ने लगेगा बाकी क्या है जनाब ...हमारे पास सब कुछ है ..कानून है ..आर टी आई है मगर ये वायरस की वजह से कुछ लोगो के खिलाफ जानकारी मांगने से भी जानकारी नहीं मिलती है ....ऐसी अनेक फाइल है जो खुद सिस्टम ही दबा कर बैठा है | "

                        " जिसे गुण गुनाते हुवे हमें आजादी मिली वही " वन्दे मातरम " पर भी ये सिस्टम में विवाद हो जाता है ..विवाद की बात ही मत करो यहाँ पर अब सिर्फ कहने को ही ये देश " मेरा भरत महान रहे गया है बाकी तो " ना चड्डी ना बनियान ..फिर भी मेरा भारत महान" बन गया है यकीन ना आये तो इस लिकं को क्लिक करके खुद ही पढ़ लीजिये ..मै कभी झूठ नहीं बोलता ..और ना ही मेरे देश के भाई बहेन बोलते है झूठ, मगर जब भी कोई इस सिस्टम में शामिल होता है झूठ खुद बा खुद आ जाता है ..बड़े कमाल का है ये वायरस ? "

                     " दाल चावल खाने से भी हमारा पेट कभी कभी ख़राब हो जाता है मगर इस देस के नेता ..सीमेंट ..सालिया ...बोफोर्स तोप ...बम ..घासचारा ...स्टेडियम ...२जी ..कोयला खाते है तो भी ये " भ्रष्टाचार का वायरस " उन्हें बचा लेता है और उनका पेट भी ख़राब नहीं होता है सायद ये भी सिस्टम की वजह से ही होता है क्यों की " जिस आमआदमी से सिस्टम बनती है वही आम आदमी को सिस्टम मारती है आज " और हमारी सरकार जीतनी भी योजना बनाती है वो सभी योजना उनके खाने के लिए ही बनती है फिर चाहे वो "मनरेगा" ही क्यों ना हो ? ..बहुत  ..बहुत ख़राब हो गया है सिस्टम जनाब ..कुछ कीजये और आम आदमी की मदद कीजिये ..सायद आप कोई ऐसा एंटीवायरस बना सके की ये सिस्टम साफ़ सुथरी हो जाये यही उम्मीद लेकर आपको ये ख़त लिख रहा हु ...मैंने सुना था आप हर कोई बिगड़ी सिस्टम को ठीक कर देते है | "
                     " आपके ख़त की प्रतीक्षा रहेगी | "

आपका अपना ,
नन्हा पप्पु

जय हिंद .....जय हिंद .....जय हिंद


ये भी पढ़े : 


दम है तो 

::
:

No comments:

Post a Comment

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.