:

Wednesday, January 5, 2011

ट्रिपल मर्डर : राजकोट में खेली गई खून की होली |

                                               ट्रिपल मर्डर : राजकोट में खेली गई खून की होली

                             " राजकोट के नामचीन पेंगा भरवाड के २ भाई  और गोसाई परिवार के बिच खेली गई खून की होली में ३ लोगों ने जान गवाई, इस लड़ाई का कारन जमीन की दलाली के पैसे थे और दादागिरी थी नामचीन सख्श पेंगा भरवाड के भाईयोँ की |"

                            " दोपहर ३ बजे "आई.टी.आई" के पास ही जान लेवा हथियारों से खेली गई इस घटना में ५ लोग झख्मी हुवे है ..जब की ३ लोगों की मौत हुई है और इस हत्याकांड में नामचीन पेंगा भरवाड के दो भाई "धमो भरवाड [३५ वर्ष] और जीतो भरवाड [२५ वर्ष], और जिग्नेश गोसाई" ने गवाई जान ..और जिग्नेश गोसाई का भाई "करण गोसाई" झुंज रहा है अस्पताल में जिन्दगी के लिए , इस हत्याकांड के बारे में करण गोसाई की माँ "रमाबेन प्रतापभाई गोसाई" ने बताया की," पिछले कुछ दिनों पहले राजकोट के कालावाड रोड की एक जमीन की दलाली में काफी बड़ी रक्कम जिग्नेश को मिली थी इस बात का पता जब नामचीन भरवाड भाईयों को चला तो उन्होंने जिग्नेश से जबरदस्ती करके कुछ पैसे मांगे थे जिसका जिग्नेश ने कुछ दिन पहले ही विरोध किया था मग़र नामचीन पेंगा भरवाड के भाई लगातार धमकियाँ दे रहे थे ,हादसे के कुछ दिन ही पूर्व कालावाड रोड पे भरवाड भाईयोँ ने "जिग्नेश" को छुरा दिखा कर पैसे मांगे थे और आज दोपहर.." धमो और जीतो भरवाड" आये और मेरे बेटोँ पर छुरे से हमला बोल दिया था |"     
                              
                                   " उल्लेखनीय है की इन भरवाड भाई के बड़े भाई पेंगा भरवाड की भी एक हत्या डेढ़ साल पहले ही सहदेव सिंह ने जेतपुर के पास में की थी..जिसके पीछे था लड़की का चक्कर ..आज दुपहर भरवाड भाईयोँ ने जिग्नेश के घर के पास जिग्नेश को बुलाकर पैसे मांगे थे ..और इस पैसों की लें देन का जगड़े ने ले लिया गंभीर रूप की छुरे से एक दुसरे पे टूट पड़े और अंजाम ...३ लोगों की मौत और एक गंभीर जिसका चल रहा है ऑपरेशन ..तस्वीर में आप देख सकते है घटना स्थल और लोगों की जमा भीड़ ... ये घटना राजकोट के थोरला पुलिस ठाणे के करीब ही आज दुपहर ३ बजे हुई है .तस्वीर में आप देख सकते है सेंट्रो कार और बुल्लेट |"
                                  " इस घटना क्रम की पुलिस कर रही है तहेकिकात रमाबेन की फ़रियाद के आधार पर ..अब आनेवाला कल ही बताएगा की इस हादसे के पीछे असली हकीकत क्या थी ? क्या जमीन के दलाली के पैसे थे इस खून की होली के पीछे या फिर और कुछ ...?

{ तस्वीर " अकिला " के सौजन्य से }       
                                       

1 comment:

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.