:

Thursday, October 28, 2010

सच बोलने की सजा रवि श्रीवास्तव को मिली - २०० करोड़ का घोटाला

                                                  " H.P.C.L " में २०० करोड़ का घोटाला "
   
          " सच बोलना मना है ,सच बोलने की आपको बहुत ही बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है इस देश में ..और भ्रस्टाचार के खिलाफ आवाज़ उठाना तो इस देश में बहुत ही बड़ा जुर्म माना जाता है और ये जुर्म कर बैठे थे H.P.C.L के रवि श्रीवास्तव ,जिनको बहुत ही बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है |"

                                    "श्री रवि श्रीवास्तव को निकला गया नोकरी से "

             आइये जानते है की २०० करोड़ का घोटाला क्या था और कैसे हुवा ?

            * २०० करोड़ के " मार्कर " घोटाले के खिलाफ आवाज़ उठानेवाले रवि श्रीवास्तव "H.P.C.L " कंपनी में "सिनिअर ऑफिसर  मेनेजर " के पद पर कार्य कर रहे थे |देश भर में हो रही तेल मिलावट रोकने के लिए " मार्कर " का इस्तेमाल किया जाता है ..और इस " मार्कर " का ठेका दिया गया था " औथेंटिकस"  नामकी एक विदेशी कंपनी को मग़र हैरतअंगेज बात ये है की अगर सरकार को २ रुपये वाला बोलपेन खरीदना हो तो भी उसका टेंडर याने ठेका दिया जाता है मग़र यहाँ २०० करोड़ का ठेका दिया गया बिना कोई टेंडर के और ये ठेका दिया गया था भारतीय एजंट " s .g .s " द्वारा ..बिना टेंडर के इस ठेके के खिलाफ जब "रवि श्रीवास्तव" और उनके सहयोगी "अशोक सिंह "द्वारा आवाज़ उठाई गई तब से सुरु हुवा परेशानियों का दौर सच्चाई के इन पुजारियों के लिए |"

             * बाज़ार में हो रहे तेल मिलावट को रोकने के लिए सरकार ने "s.g.s " द्वारा " औथेंटिक्स" को दिया ठेका २०० करोड़ का मग़र " R.T.I " को  IOC और दूसरी और एक तेल कंपनी से पता चला की "SGS " लोगो को हमदर्दी दिखाकर गुमराह कर रही है |"

              * १२ मई २००८ के दिन रवि श्रीवास्तव और अशोक सिंह ने " रीजीनल डायरेकटर ऑफ़ सीबीआई " को लिखित शिकायत  दर्ज की मग़र जैसे ही सिकायत दर्ज करवाई "रवि श्रीवास्तव" और उनके सहयोगी "अशोक सिंह" को मिलने लगी धमकियाँ ..यही काफी नहीं था की " अशोक सिंह को शिकायत दर्ज करवाने के ४ दिन में ही नौकरी से निकला गया और " रवि श्रीवास्तव " को दी गई २ चार्जशीट ..रवि श्रीवास्तव के खिलाफ यही से सुरु हुवा बुरा सलूक , सबसे पहले तो उनके आसीसटेंट को हटा दिया गया फिर ये कम था की सच्चाई के इस पुजारी को भरे बारिश में घर से बहार निकाला गया ..फ़ोन पर मिलती धमकियाँ और लगातार परेशानी के साथ घर से बाहर |"

                * आपकी शिकायत सामान्य है हम आपको मदद नहीं कर सकते |
                           
                              " जब रवि श्रीवास्तव ने तंग आकर " CBC " को ६ जून ,२१ और २२ जुलाई को पत्र लिखकर हर घटना के बारे में तथा उनको मिलती धमकियों के बारे में जानकारी देकर जब सुरक्षा मांगी तब देश की सबसे अहेम "CBC " ने सच्चाई के इस पुजारी को साथ नहीं दिया और उप्पर से कहा की " आपकी शिकायत सामान्य है हम आपको मदद नहीं कर सकते ". ,,२०० करोड़ के घोटाले को शायद भ्रस्टाचारी लोग सामान्य समजते होंगे मग़र शायद देश की जनता और रवि श्रीवास्तव जैसे सच्चाई के पुजारी नहीं |" 

         * आइये जाने " मार्कर " का इस्तेमाल और " मार्कर " क्या है ?

                         " सरकार की अपनी एजेंसी "N.C.E.R " ने पाया की  ३८.६ % केरोसिन तेल मिलावट के लिए इस्तेमाल किया जाता है तो उन्हें ,ऐसे मिलावट मिलावटखोरों को पकड़ने के लिए " मार्कर " का इस्तेमाल करना पड़ता है " मार्कर " को केरोसिन में मिलाया  जाता है सरकारी डेपो में और अगर कोई पेट्रोलपम्प वाले इस केरोसिन को पेट्रोल या डीज़ल  में मिलाते है और सरकारी अधिकारियों के दस्ते को पम्प पर तेल में " मार्कर " का प्रमाण मिलता है तो उस के खिलाफ कार्यवाही की जाती है और प्रमाणित होता है की,ये मिलावटखोर है |"
                          " १६ जून ०८ को मुंबई में एक जनहित याचिका दाखल की गई थी जिसकी सुनवाई २३ अक्टूबर ०८ को हुई थी और अदालत ने "सीबीआई " को जाँच के आदेश दिए थे और "सीबीआई" के जाँच के अनुसार "सीबीआई" ने " श्री रवि श्रीवास्तव और अशोक सिंह "की   सिकायत को सही करार दिया था इसका मतलब हुवा की घोटाला हुवा था ... मग़र जब सिकायत सही थी तो आखिर नौकरी क्यों गई ? "

               " नौकरी से क्यों और कैसे हटाया सच्चाई के इस पुजारी को |"

                           " विजाग में २८-०४-०८ को " आल इंडिया सेंट्रल एक्सेकटिव " की मीटिंग हुई थी, और हैरानी की बात तो ये थी की जिस सख्श ने "hpcl " को २ साल पहले छोड़ दिया था उसीको डायरेक्ट प्रमोशन देते हुवे " HLNCOL " के सीईओ के रूप में घोषित किया गया था , और वो सख्श का नाम था "संजय ग्रोवर" और इस बात का विरोध श्री रवि श्रीवास्तव और अशोक सिंह ने किया था ...यही पुराणी बातों को लेकर इन सच्चाई के पुजारीयों को निकाला गया था नौकरी से |"

         " क्या HPCL का ये कदम सही था ? क्या अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठाकर रवि श्रीवस्तव ने कोई गुनाह किया था ? "
         " दोस्तों , आज भी देश को ऐसे सच्चे और इमानदार "रवि श्रीवास्तव" की जरूरत है वर्ना इस देश को भ्रस्टाचार
नामक दानव खा जायेगा |

  plz visit here for RAVI SRIVASTAV 'S interview  on T.V :

                     http://www.youtube.com/watch?v=EVgyG3Cq0m4&feature=player_embedded

आओ हम सब भारतीय सच्चाई के इस पुजारी का साथ दे
   

21 comments:

  1. girish sir aapki baat sahi hai magar hum janta agar aise sacche officer ka saath nahi denge to ...bhrastachar ke khilaf koi bolnewala bhi nahi rahega aur hum yunhi mahengai ki chakki me piste hi rahenge ..kyu ki ye log bhrastachar karte hai aur fir mahengai badhane me hi mante hai ..agar hume bhrastachar ko rokana hai to RAVI SRIVASTAV jaise imandar officer ka saath dena hi hoga

    ReplyDelete
  2. निश्चित ही श्रीवास्तव जी का साथ दिया जाना चाहिये ..सच का साथ देने की सजा भोग रहे हैं.

    ReplyDelete
  3. प्रकरण दुखद है

    कहा जाता है कि
    इंसान वही करता है जो उसे करना चाहिए, चाहे उसे इसकी कोई भी कीमत चुकानी पड़े
    एक बार फिर यह साबित हुआ है

    ReplyDelete
  4. nice..........................................................................

    ReplyDelete
  5. Bahut afsos ki baat hai .. sach ka saath dene par saja milti hai apne desh mein ... Srivastav ji ka saath sab ko dena chahiye ...

    ReplyDelete
  6. " sameer sir ,pabla ji , aur naswa sir ....apka tahe dil se dhanyawad aapki tippany ravi srivastav jab padhenge to jahan tak mai manta hu unka housala aur bhi buland banega .."

    " SACCHAI ke is pujari ko aao hum saath de "

    ReplyDelete
  7. Ravi Saheb : -Meri taraf se Apko Happy Deepawali..... Aur ha ap jaise logo ki jarurat hai is desh ko.

    ReplyDelete
  8. सच विजयी होगा!
    लेकिन झूठ कितने बलिदान लेगा, इस की गिनती करना कठिन है।

    बड़ी दर्दनाक अवस्था है सच्चे और इमानदार लोग इस बात से दुखी नहीं हैं की भ्रष्टाचार और अराजकता बढ़ रही है बल्कि उनके दुःख का सबसे बड़ा कारण है इस देश के प्रधानमंत्री और राष्टपति जैसे न्याय और सत्य की रक्षा के लिए स्थापित पदों पर इस वक्त अन्याय,भ्रष्टाचार और बेईमानी को सुरक्षा देने वाले लोग बैठे हैं .....रवी श्रीवास्तव जी जैसे लोग इस लोकतंत्र की जान हैं लेकिन दुर्भाग्य से ऐसे लोगों को मजबूती से साथ देने के लिए हमारे देश में एकजुटता और मजबूत सामाजिक आन्दोलन का कोई मंच नहीं है जिससे ऐसे इमानदार लोग हर जगह कमजोड परते जा रहें हैं | आज जरूरत है ऐसे लोगो को सहायता,सुरक्षा और समर्थन देने के लिए एक मजबूत देशव्यापी तन्त्र बनाने की जिसका अपना आर्थिक आधार भी हो .....जिससे ऐसे मामलों की सामाजिक स्तर पर व्याख्या करने के साथ-साथ अदालतों में भी त्वरित व्याख्या करायी जा सके ....मैंने HPCL को श्री रवी श्रीवास्तव को नौकरी से निकालने के कारणों को बताने के लिए एक इ.मेल भी किया है ....अगर आपके पास श्री रवी श्रीवास्तव का मोबाईल या इ.मेल हो तो मुझे 09810752301 पर फोन कर जरूर बताएं ....

    ReplyDelete
  9. sri honesty sahab ..aapka tahe dil se dhanyawad ki aapne aapki comment ke dwara ravi srivastav ka housla badhaya hai ...aur mai jaroor aapko ravi sir ka mail id bhejunga ..aapki comment aaj ki saccha hai

    tahe dil se sukriya

    ReplyDelete
  10. http://nyaykitalash.blogspot.com/2010/10/blog-post_27.html
    http://kadavasach.blogspot.com/

    ReplyDelete
  11. Good initiative & strong steps by Ravi Srivastav. I appreciate it. But, in India, now there is no place for honest officers, that so why crimes,terrorism and naxalism. The CEO should be killed by the naxals. We all should be united. Even while I was working as an Administrative Officer under government of India at Government of India Press,Santragachhi,Kolkata, I saw that kerosene oil are being procured at the rate of Rs.30/- per liter from one People cooperative stores instead of rs.10/ which is the genuine price of government. One of the staff/Head Clerk told me that a permit is available in favor of government of India press,and some body has stolen the permit from the office and misusing it. I wrote to Civil Supply Department of West Bengal government, and the civil supply department confirmed the position of permit and denied to issue any new permit. They also told that some body has stolen the permit from office and misusing it. I wrote to Mr. Budhdev Bhatacharya,CM of West Bengal, CBI and Indian Oil Corporation, but no result. Rather I was a victim, and I was compelled to avail VRS from government due to pressure of the party workers of Left front or other wise. I was tortured a lot, people watched me for crating disturbance with me, and by the help of some good people, I arrived at Bhubaneswar and saved my life. I also inform the matter to A.Mackan,Minister of UD,Government of India and other senior officers of the department,but did not get any help. So now in India,there is no place of honesty, and hence, we all the honest people should be united and fight for honesty,to achieve our goal.

    SAMBHUNATH TIADI
    JOURNALIST CUM ADVOCATE

    ReplyDelete
  12. " sambhunath ji, honesty project aur kashi ,tarkeshwar ji aap sab ka tahe di se sukriya aapka kahena sahi aur vajib hai ...is desh ko jaroorat hai aise imandar officer ki .."

    ReplyDelete
  13. सच्चाई को हमेशा एक कठिन डगर पर चलना होता है। बिहार में भी तेल घोटाला पकड़ाया, जयपुर में तेल डिपो में आग संदेह के दायरे में है । इस देश की जनता को मिलावटी ईंधन की भी कीमत दुनिया में सबसे ज्यादा चुकानी पड़ती है , इन्ही भ्रष्टाचारियों के कारण । रवि श्रीवास्तव को नमन जिनने ये हिम्मत की , ईश्वर उनकी जरूर सहायता करेगा।

    कल ही सोनिया गांधी के भाषण से भ्रष्टाचार का मुद्दा गायब था !!

    सूचना के अधिकार के तहत एचपीसीएल से जवाब मांगा जाना चाहिए ।

    ReplyDelete
  14. सत्य की एक न एक दी जित अवश्य होती है !
    आपको दीपावली पर्व की बहुत बहुत शुभकामनाये ......................................

    ReplyDelete
  15. आपको एवं आपके परिवार को दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  16. Thanks to all of you and your motivating words my resolve is clear and absolute I will fight the corruption till the last drop of blood remains in my body In last 19 months I have seen all colors of life those who are interested in more details of the case may contact me on my mobile no. or send me your mail id. Incidentally this marker which has been released in to environment for more then 3 years was carcinogenic( could cause cancer to human being)

    RAVI SRIVASTAVA
    09820183924
    ravi4354@gmail.com

    ReplyDelete
  17. RAVI SRIVASTAV
    is great man
    PLZ all indian heLP IN RAVI SRIVASTAV Aur ha ap jaise logo ki jarurat hai is desh ko. APP KO MERA SALM

    ReplyDelete
  18. तेल एक ज्वलनशील पदार्थ है उसने एक और जान ले ली महाराष्ट्र में

    ReplyDelete
  19. Bhaio Es Desh Yese Ravi Srivastava bahut hai. bhastachar ke karan Pure ke Pure Privar barbad ho gaye hai. Hamare Desh me Garibi ka sub se bada karan bhastachar hai. Esi bharstachar ke karan hamare desh me garib hai aur bad rahi hai. aaj Aamir aur garibi ko khai gahari ho rahi hai.

    http://kadavasach.blogspot.in/

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.