:

Sunday, August 31, 2014

अगस्त महिना श्राप या वरदान ? एक इतीहास

            दुनीया के लीये सदैव खतरनाक रहा है अगस्त मगर भारत के लीये त्योहारो से भरा रहा है |”

       “ अगस्त याने इस महीने का कोई भी प्रमुख खबर ले लो और उस अखबार की हेडलाइन आप पढ़ो तो आपको समज आयेगा की ये अगस्त क्या है ? इबोला वायरस का आक्रमण ,इज़राइल  .... गाज़ा... पेलेस्टाइन विस्तार मे अशांती फैली है  इराक मे शांती नही है ,तो कहीं पर आतंकी हमले हो रहे है, रशीयन फौज यूक्रेनियन बॉर्डर पर जमा हो रही है और पाकिस्तान पिछले साल की तरहा इसी अगस्त महीने मे बॉर्डर पर आतंक मचा रहा है ..और ये सब हो रहा है क्यू की ये महिना अगस्त है जिसने हरदम विश्व की शांती छीनी है |"


        “ अगस्त महिना का इतीहास बता रहा है की ये महीना पूरे विश्व के लीये कस्टदाई होता है, युद्ध हो या कुदरती आफत या फ़ीर कोई भयानक रोग ...... ये सब आफत ज़्यादातर अगस्त मे ही आती है और ऐसा मै नही मगर अगस्त का इतीहास बता रहा है दोस्त |”


इस पोस्ट मे पढ़ीए इन मुद्दो को
* विश्वयुद्ध और परमाणुबम ... एक विनाश
* चीन .... 8 देश और जंग
* SOS और फांसी
* बाढ़ ...चोरी ....और रशीया मे कोलरा
* चार्ली चेपलीन और 8,25,000 डॉलर
* चर्चील और दूसरा विश्वयुद्ध
* गांधी .... मनरो.... और मंडेला
* चीन का युद्ध और बांग्लादेश
* सीर्फ नहेरु और राजीव ?
* दंगे ... डॉलर ... और बलात्कार
* 23 देश आज़ादी और आफत
* अलवीदा कहु या वेलकम ?


अब पढ़ीए विस्तार से
* विश्वयुद्ध और परमाणुबम ... एक विनाश
       “ जैसे प्रथम विश्व युद्ध जो ओफिसीयली जुलाई मे चालू हुवा था मगर इस युद्ध को " विश्वयुद्ध " कहा जाए ऐसा अगस्त मे ही रंग दीखा था और अगर आप दूसरा विश्वयुद्ध का इतीहास देखते है तो आपको पता चल जाएगा की जापान के दो प्रमुख शहर “ हिरोसीमा ” और “ नागासाकी “ पर दो भष्मासुर परमाणु बम भी इसी महीने मे डाले गए थे जो आज भी दुनीया के हर एक आदमी को द्रवीत कर रहे है |”


* चीन .... 8 देश और जंग
        “ सन 1990 चीन की राजधानी पेकींग ( हाल का बेइजींग ) पर अमेरिका, रशीया, जापान, इटली, फ्रांस, ब्रिटन समेत दुनीया के 8 देशोने चीन सरकार की आपखुदी के सामने जंग लड़ी थी और वो महिना भी अगस्त ही था |”


* SOS और फांसी
         “ 11 अगस्त को दुनीया के कीसी कोने से एक संदेश प्रसारीत होता है SOS याने save our soul और ठीक इस संदेश के 6 दीन बाद 17 तारीख को महान क्रांतीकारी मदनलाल ढींगरा जी को हम बचा नही सकते है क्यू की उन्हे हिंदुस्तान से दूर “ लंदन “ मे फांसी दी जाती है और हम चूपचाप देखते रहते है ....अरे ! ये महिना भी तो अगस्त ही था |”


* बाढ़ ...चोरी ....और रशीया मे कोलरा
    

      “ 5 अगस्त 1910 के दीन जपान के टोकयो शहर मे बाढ़ की विपदा आती है ...और बरसो बाद 1979 मे गुजरात का मोरबी शहर भी 11 अगस्त को पानी मे डूब जाता है  तो रशीया मे भयानक कोलरा ने हजारो लोगो को अपना शीकार बनाया था और ठीक एक साल बाद विंसी की अदभूत पेईंटींग " मोनालीसा " की चोरी हुई थी ...... दोस्त ये महिना भी अगस्त ही था |”

* चार्ली चेपलीन और 8,25,000 डॉलर
           “ करोड़ो लोगो को हंसानेवाले चार्ली चेपलीन को भी इसी महीने ने रुला दीया था क्यू की अगस्त महीने मे ही उनका डिवोर्स हुवा था और 1927 के उस जमाने मे उन्होने डिवोर्स का सेटलमेंट 8,25,000 डॉलर मे कीया था |”


* चर्चील और दूसरा विश्वयुद्ध
           “ महात्मा गांधी भी अगस्त की दाह से बचे नहीं थे दोस्त, अगस्त मे ही उन्हे पहले साबरमती और फ़ीर फ़ीर येरवाड़ा जेल मे जाना पड़ा था यहाँ पर भी देखो 1 अगस्त 1933 के दीन गांधी जी जेल जाते है और ठीक 11 दीन बाद विंस्टन चर्चील ने दुनीया के सामने पहली बार जर्मनी को उसकी शस्त्र जमावृती के लीये कड़ी चेतावनी दी और पूरे विश्व को दूसरे विश्व युद्ध का अंदाजा दे दीया |”


* गांधी .... मनरो.... और मंडेला
          “अगस्त 1933 मे गांधी जी अरेस्ट हुवे तो बरसो बाद अगस्त 1962 मे दूसरे गांधी याने लीजेंड नेल्सन मंडेला भी साउथ अफ्रीका मे अरेस्ट हुवे और उसी दीन ब्यूटी क्वीन मेरेलीन मनरो “ नेम बूटल “ दवाई के ओवर डोज़ से मौत की गहेरी नींद मे सो गई ,गांधी जी ने “करो या मरो ” का सूत्र भी अगस्त 1946 के दीन ही दीया तो 13 अगस्त 1946 मे सायन्स फीक्सन के पीतामह H.G.वेल्स ने दुनीया को अलवीदा कहा था और अगस्त मे ही कलकत्ता मे कौमी दंगे हुवे और 10000 लोगो की मौत हुई थी |”


* चीन का युद्ध और बांग्लादेश
           “ भारत और चीन का युद्धा भले ही 1962 मे हुवा मगर इसकी शुरुवात चीन ने अगस्त 1959 मे कर दी थी और जब हम अगस्त 1975 मे स्वतंत्रता दीन मना रहे थे उस वक़्त बांग्लादेश के स्थापक “ शेख मुजीबूर रहेमान “ की ह्त्या हुई थी |”


* सीर्फ नहेरु और राजीव ?
        “ सबसे बड़ी बात की आजतक हिंदुस्तान के जीतने भी प्रधानमंत्री बने है उसमे से सीर्फ “ जवाहरलाल नहेरु “ ही अगस्त मे प्रधामन्त्री के रूप मे देश को मीले है और हिंदुस्तान के आजतक के सभी प्रधानमंत्री मे सीर्फ राजीव गांधी ही अगस्त मे जन्मे थे इनकी बाद मे हत्या हुई थी | “


* दंगे ... डॉलर ... और बलात्कार
        “ पिछले वर्ष अगस्त मे डॉलर के सामने रुपया रेकोर्डब्रेक तरीके से नीचे गिरा था तो मुज्जफरनगर के कौमी दंगे का महिना भी अगस्त ही था दिल्ली गेंग रेप का एक अपराधी जो अभी 18 वर्ष का नही हुवा है उसे सीर्फ 3 साल की सजा की दुख दायक घटना ही अगस्त मे ही घटी थी | “ 


* 23 देश आज़ादी और आफत
        “ एक तरफ दुनीया के 23 देशो को इसी महीने मे आजादी मीली है जीसमे जमैका , पाकीस्तान, हिंदुस्तान ,सींगापोर ,इंडोनेसिया ,अफगानीस्तान ,स्वीत्जर्लेंड , दोनों कोरीया जैसे देश शामेल है तो दूसरी तरफ दुनीया भर मे भयानक रोग ,आफते, बाढ़ भी यही अगस्त महीने मे ही आती है |”


* अलवीदा कहु या वेलकम ?
         ‘ मगर हिंदुस्तान के लीये ये अगस्त महिना त्योहारो से भरा है जिसे रक्षाबन्धन ,जन्माष्टमी ,स्वतन्त्रता पर्व, जैसे अनेक त्योहार और ढेर सारी छूटीया ये महिना लेकर आता है ..... पता नही की इस महीने को WELCOME कहे या न कहे मगर इस साल के अगस्त को कहते है “ अलवीदा अगस्त “  



;: धन्यवाद अभिमन्यु मोदी जी .." टींडर बोक्स "

               

2 comments:

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.