:

Saturday, June 14, 2014

ये भारत रत्न है, या कमीना रत्न ? सचीन तेंदुलकर


* 2008 मे सचीन ने खुद की थी अपील की वो क्रीकेटर नही बल्की एक्टर है
* आयकर वीभाग से इतना बड़ा झूठ क्यू ?
* क्या भारत रत्न व्यक्ती को ये शोभा देता है ?
* भारत रत्न अवार्ड वापीस लो और सचीन को एक्टर श्रेणी के तहत आयकर मे छूट दो 

              " महान क्रीकेटर होने के नाते सचीन तेंदुलकर को सर्वोच्च अवार्ड "भारत रत्न " दीया गया था मगर सचीन तेंदुलकर के मुताबीक वो " क्रीकेटर नही बल्की एक्टर है " ...... आइए जानते है वीस्तार से |"

                 " आयकर मे छूट पाने के लीये सचीन तेंदुलकर ने " भारत रत्न " सन्मान पाने से पहले आयकर वीभाग मे ये दावा कीया था की वो " क्रीकेटर नही बल्की एक्टर है " और जा आयकर वीभाग उनका ये दावा नही माना तब सचिन तेंदुलकर ने एक्टर श्रेणी तहत छूट पाने के लीये आयकर वीभाग के खीलाफ एक अपील दायर कर दी थी |"
* राष्ट्रपती भवन से मांगा जवाब
                  " क्रीकेटर या एक्टर " के इस पेचीदे सवाल पर सुप्रीम कोर्ट के एक अभीव्यक्ता प्राणेश ने राष्ट्रपती भवन को 15 जनवरी  के दीन RTI भेजकर इस संबंध मे पूछा की " आखीर सचीन है कौन ? क्रीकेटर या एक्टर ? " जिसके जवाब मे राष्ट्रपती भवन ने कहा की वीत्त मंत्रालय और राजस्व वीभाग को सचीन के एक्टर होने से जुड़े तीन सवालो का जवाब देने के संबंध मे RTI स्थानांतरीत कर दी गई है rti से पहले अधिव्यकता ने राष्ट्रपती भवन को सचीन एक्टर होने के संबंध मे गतवर्ष 21 नवंबर के दीन एक पत्र भेजा था जिसमे उन्होने " सचीन महान क्रीकेटर होने की वजह से भारत रत्न दीये जाने और राज्यसभा संसद बनाए जाने पर आपत्ती जताई थी क्यू की सचीन खुद कहते है की वो क्रीकेटर नही बल्की एक एक्टर है | "
* सचीन के द्वारा अपील
                 " 2008 मे सचीन ने खुद आयकर वीभाग से अपील की थी की वो एक्टर है क्रीकेटर नही और एक्टर श्रेणी के तहत उन्हे आयकर मे छूट मीले क्यू की उनका मुख्य कार्य एकटींग है क्रीकेट खेलना नही "हालाकी ये अपील सचीन ने 2003 मे आयकर रीटर्न भरने के बाद समीक्षा अधीकारियों की ओर से उनके एक्टर होने के दावे को खारीज़ करने के बाद की थी |"
                   " ताज्जुब की बात तो ये है की सहायक आयुक्त ने सचीन के एक्टर होने के दावे को स्वीकार कर लीया था "
* भारत रत्न अवार्ड वापस लो
                  " भारत रत्न इतना बड़ा झूठ बोले ? तो उसे क्या कहेंगे आप ? मेरी नजर से अगर देखा जाए तो ये भारत रत्न अवार्ड का अपमान ही है  सरकार को सचीन तेंदुलकर को दीये गए भारत रत्न अवार्ड को वापस ले लेना चाहीये क्यू की ये अवार्ड सचीन को क्रीकेटर के रूप मे मीला है एक्टर के रूप मे नही |"   

* एक नजर इधर भी
मटन नीर्यात से बढ़े दूध के दाम ( वीडियो जरूर देखे )

धारा 370 क्यू हटानी चाहीये ?? जानो धारा 370

::::

No comments:

Post a Comment

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.