:

Friday, March 22, 2013

कुत्ता ,सीबीआई ओर वफादारी ( व्यंग )



                       वफादारी ओर स्वामीभक्ति क्या होती है ये अब सीबीआई से सीखो ...मै तो कहेता हु की पक्ष छोड़कर जानेवाले नेता को सीबीआई से कुछ सीख लेनी ही चाहिए, कम पगार मे ज़िंदगी भर वफादारी ओर स्वामीभक्ति का परफेक्ट उदाहरण है सीबीआई “,मालिक को तकलीफ पड़ने पर भूखे शेर की तरहा टूट पड़ती है |”

                       हालाकी देश की जनता भी अब यही कहेती है की कॉंग्रेस करप्शन ब्यूरो याने सीबीआई शायद इससे बड़ा स्वामीभक्ति का प्रमाण दुनिया मे कोई नहीं दे सकता है ओर इस बात को हर बार सीबीआई साबित भी कर देती है की देश की जनता सच बोल रही है ,अब तो चुट्कुले भी कैसे बनते है आप ही देखिये ........

           एक आदमी एक कुत्ता खरीदने बाजार मे जाता है ओर एक अच्छी दुकान देखकर अंदर जाता है
कल्लू : भाई साहब एक वफादार कुत्ता खरीदना है
व्यापारी : जी है ना ? ( थोड़ी देर मे ही वो एक कुत्ता लेकर आया ) ओर बोला ये है
कल्लू : ह्म्म ! इसकी वफादारी कैसी है ?
व्यापारी : इसके होते हुवे आपको कोई टच भी नहीं कर सकता है
कल्लू : ऐसा क्या ?
व्यापारी : जी
कल्लू : मगर मुझे तो इस से भी ज्यादा वफादार चाहिए जो मेरा कोई बुरा बोले वो भी ना सुने ,मेरी गलती पर मुझे कोई डांटे या बोले तो भी ये उसको सबक सिखाये ओर ऐसा सबक सिखाये की वो ज़िंदगी भर भूल ना सके
व्यापारी : भाई साहब ...... तो फिर आप सीबीआई को ही पालो ...उससे अच्छी वफादारी तो कुत्ते मे भी नहीं है ओर आपने जो गुण बताए वो सब उस मे मौजूद है ,अब देखो ... बाबा रामदेव ने सरकार के खिलाफ आवाज़ उठाई तो बाबा रामदेव की हर जगह पर सीबीआई ने छापे मारे, अरे ओर तो ओर मगर अगर कई दीवार पर भी किसिने गलती से पतंजलि लिखा हुवा है तो वहाँ पर भी सीबीआई के छापे पड़ने की संभावना थी,फिर आए करुणानिधि ..... जिसने समर्थन वापिस लिया तो स्वामी भक्त सीबीआई फिर से काम पर लग गई ....ओर करुणानिधि ,उसके बेटे,बेटी सभी जगह पर छापे मारे ..... अब बोलो इस से ज्यादा आपको स्वामी भक्त कहीं मिलेगा क्या ? ओर इतने सारे गुण तो वफादार कुत्ते मे भी नहीं होते है भाई ....|”

* स्वामी भक्ति जागेगी ...अगर आप .....
           देश मे आतंकी चाहे कुछ भी करे ये सीबीआई सोई नजर आएगी ...... देश मे घोटाले कितने के भी हो ये सीबीआई सोई नजर आएगी मगर अगर कोई सरकार को कुछ भी कहे .....इसकी स्वामीभक्ति जाग जाएगी ओर ....दिन ओर रात एक करके अपनी स्वामी भक्ति का धर्म निभाएगी ....... जनता का पगार खाकर जनता को ही लुटनेवालों का साथ देने मे तो अव्वल है ही मगर ये अववलता मे उसकी स्वामी भक्ति साफ नजर आती है ....भैया वफादारी ही अगर खरीदनी है ओर देखनी है तो देश की सीबीआई को देखो ....कुत्तो से भी ज्यादा वफादारी नजर आएगी आपको ....|”

* फर्क ये रहा
          बाकी मेरे पास तो यही पालतू कुत्ते है जो रोटी चाहे मालिक के घर के किसी भी सदश्य के हाथ की खाये मगर रक्षा ओर ईमानदारी पूरे घर के प्रति होती है ...अफसोस इस बात का है की हमारे देश की सीबीआई रोटी जनता की खाती है ओर रक्षा सिर्फ एक ही परिवार की करती है ....... वफादारी तो कोई उनसे सीखे |

           आजकल सीबीआई का एक ही काम होता है ओर वो है सरकार के खिलाफ कोई भी बोले तो छापेबाजी करना और घोटाले की फाइलों पर बरसो तक काम करना ..... भैया तो बोलो सब मिलकर जय हो स्वामीभक्ति “|”

note : हसना सेहत के लिए अच्छा है ..... इस पोस्ट को दिल पर ना ले बस्स मुसकुराते रहिए महेंगाइ मे आपकी मुस्कुराहट गायब ना हो जाये

:::
::
चित्र : गूगल से साभार

11 comments:

  1. हा हा हा हा हा हा .... बहुत सार्थक व्यंगात्मक लेख | बहरो के कान और अंधों की आँखें खुल गई जानी चाहियें इसे पढ़कर | आभार

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    ReplyDelete
    Replies
    1. तुषार भाई ...आपकी मुस्कुराहट ने मेरी कलाम का होसला बढ़ा दिया
      शुक्रिया

      Delete
  2. Replies
    1. पूरण जी तहे दिल से शुक्रिया

      Delete
  3. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा शनिवार (23-3-2013) के चर्चा मंच पर भी है ।
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
    Replies
    1. "चर्चा मंच" पर इस पोस्ट को स्थान देने के लिए वंदना जी आपका मै शुक्रगुजार हु

      Delete

  4. अच्छा व्यंग है,पर ये भी बेचारी पेट के लिए सब कुछ करती है,आज यदि वोह ऐसा न करे तो अधिकारी का तबादला हो जायेगा.इसी सी बी आई को आप सरकार के नियंत्रण से मुक्त करके सर्वोच्च न्यायालय के अधीन कर दीजिये तब देखिये इस का करिश्मा.खेर कांग्रेस ने तो इसका दुरूपयोग किया ही है.चाहे ये इस बात का कितना ही खंडन क्यों न करें.मुलायम व माया कि गर्दन कांग्रेस ने इसी माध्यम से पकड़ रखी है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. डॉ.महेंद्र जी सही कहा आपने सीबीआई को सरकार के नियंत्रण से मुक्त करके सर्वोच्च अदालत के अधीन ही कर देना चाहिए ...तब जाकर सीबीआई का दुरुपयोग को रोक लगेगी

      Delete
  5. Replies
    1. शुक्रिया प्रतिभा जी

      Delete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.