:

Saturday, February 23, 2013

गाय का मांस और खतरनाक रोग, जिसका इलाज नहीं


  गाय का मांस खाने से एड्स से भी भयानक रोग होते है, पढ़िये कैसे भयानक रोग होते है मगर हमारी सरकार कहेती है की आयरन की कमी की पूर्ति के लिए गाय का मांस खाना चाहिए भैया गाय का मांस खाने से क्या क्या होता है इस पर कभी सोचा है किसी ने ? सरकार के द्वारा गाय का मांस खाने के लिए अल्पसंख्यको को जिस तरहा बढ़ावा दिया जा रहा है उसे देखकर ऐसा लगता है की सरकार कई भयानक रोगो को आमंत्रित कर रही है याने C.J.D ओर B.S.E जैसे रोगो को खुल्ला आमंत्रण जिसकी भयानकता से सभी पश्चिमी देश वाकिफ है आखिर क्या है ये C.J.D ओर B.S.E ? ...गाय के फायदे हमे पता है मगर आइये जानते है विस्तार से की गाय का मांस खाने से क्या क्या होता है ?

            गाय का मांस घातक विषाणु को शरण देता है जिसे COLI-0157-H-7 कहा जाता है जिसकी विनाश्क्ता से दुनिया वाकिफ है इस विषाणु के बारे मे भी जानेंगे हम मगर सबसे पहले जानते है B.S.E ओर C.J.D के बारे मे |

            गौ मांस ओर मज्जा खाने से होते है B.S.E ओर C.J.D जैसे रोग जिसका कोई भी उपचार नहीं है B.S.E एक ऐसा रोग है जो इंसान के दिमाग पर आक्रमण करता है ओर C.J.D एक पारिवारिक रोग है जो एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक फैलता ही जाता है याने पूरी पीढ़ी को, आनेवाली नस्ल को ही समाप्त कर देता है | “  
दूसरे भयानक रोग भी होते है जो इस पोस्ट मे नीचे दिये गए है 

* C.J.D की भयानकता को जानिए
             जिसका पूरा नाम है Creutzfeldt–Jakob disease
 Creutzfeldt–Jakob disease ( CJD) is a degenerative neurological disorder (brain disease) that is incurable and invariably fatal. CJD is at times called a human form of mad cow disease (bovine spongiform encephalopathy or BSE) even though classic CJD is not related to BSE, however, given that BSE is believed to be the cause of variant Creutzfeldt–Jakob (vCJD) disease in humans, the two are often confused.
In CJD, the brain tissue develops holes and takes on a sponge-like texture. This is due to a type of infectious protein called a prion. Prions are misfolded proteins which replicate by converting their properly folded counterparts
         
* B.S.E की भयानकता ये रही
            जिसका पूरा नाम है Bovine spongiform encephalopathy
                             इस रोग को मेड काऊ के नाम से भी जाना जाता है

   Bovine spongiform encephalopathy (BSE), commonly known as mad cow disease, is a fatal neurodegenerative disease (encephalopathy) in cattle that causes a spongy degeneration in the brain and spinal cord. BSE has a long incubation period, about 30 months to 8 years, usually affecting adult cattle at a peak age onset of four to five years, all breeds being equally susceptible. In the United Kingdom, the country worst affected, more than 180,000 cattle have been infected and 4.4 million slaughtered during the eradication program
                                     

* गाय के मांस मे जहरीला ओर्गेनिक
                                         गाय के मांस मे डायोक्सिन (DIOXIN) नामवाला जहरीला ओर्गेनिक (ORGANIC) रसायन होता है जिससे वो मांस खानेवाले इंसानको केन्सर ( CANCER),एंडोमिटीरियोसिस ( ENDOMETRISIS ), ओर अक्षमता ( DEFICIT ),थकान ,नाड़ी रोग ,रक्तविकार ,के साथ साथ रोगप्रतिकारक क्षमता का नास होता जाता है जिस से जन्म होता है अनेक रोगो का |”
                                     गाय का मांस खाने से मानव शरीर मे एक हारमोन उत्पन्न होता है जिसे “प्रोस्टेगलेंडीन” कहते है जिससे हृदय रोग ओर लकवा होता है |
                                       गाय के मांस मे लंबी कार्बन श्रुंखला वाले प्रोटीन रहते है जिस से आपको “वायु रोग” एवं “जोड़ो का दर्द “ हो सकता है क्यू की वैज्ञानिक कहते है की एक गाय हर साल वायु मण्डल मे 180 किलो मिथेन गेस छोड़ती है |
                                        यूनानी चिकित्सा संशोधन से पता चलता है की गाय का मांस खाने से पागलपन, क्षय रोग,जोड़ो का दर्द हो सकता है ओर हृदय रोग के डॉक्टर कहते है की गाय का मांस आपके हृदय की गति को कभी भी कम कर सकता है 
                         ऐसे मे भारत सरकार कहेती है की गाय का मांस खाओ जब की अमेरिका की हालत का रिकॉर्ड ये रहा

* COLI-0157-H-7 के बारे मे जाने जो सबसे खतरनाक है

                             " Escherichia coli O157:H7 एंटेरोहैमोरेजिक (enterohemorrhagic) ईएचईसी (EHEC) जो हीमोलिटिक-यूरीमिक सिंड्रोम (hemolytic-uremic syndrome) उत्पन्न करता है |"

                   " 1980 में पहचाने गया बोवाइन स्पोंजिफार्म इनसेफैलोपैथी (बीएसई मैड काऊ रोग)(bovine spongiform encephalopathy (BSE, mad को disease)) प्रकोप शामिल है. 1996 में ई कोलाई (E. coli) 0157 के (wishaw) प्रकोप में हुई 17 व्‍यक्तियों की मत्‍यु हुई थी आज भी विदेशी लोग इस रोग से परेशान है |

              अधिक जानकारी के लिए यहाँ जाए
B.S.E  
           विदेसी सरकारी साइट इस रोग पर क्या कहती है ?


* अरबों रुपये खर्च करके कुपोषण के खिलाफ अभियान फिर क्यू ?
                                 गाय की सेवा से आपको फायदा ही फायदा है मगर उसके मांस को खाने से नुकसान ही नुकसान है मगर सोचनेवाली बात ये है की आखिर हमारी सरकार अल्पसंख्यकों को इतने सारे गैरफायदे होने के बावजूद भी गाय का मांस खाने को क्यू कहे रही है क्या भारत सरकार ( कॉंग्रेस) अल्पसंख्यकों को नहीं चाहती है ? क्या कॉंग्रेस के लिए इस मे भी राजनीति है ? क्या शरीर से लोग तंदूरस्त ना रहे उसमे उसका फायदा है ? एक तरफ कॉंग्रेस सरकार कुपोषण के खिलाफ अभियान चला रही है ओर दूसरी तरफ कुपोषण बढ़े उसके लिए दरवाजे क्यू खोल रही है ? अरबों रुपये खर्च करके कुपोषण के खिलाफ अभियान फिर क्यू चला रही है सरकार ?


STOP EATING COW BEEF PLZ गाय के सेवा से फायदे ही फायदे है और उसका मांस खाने से नुकसान ही नुकसान है |  
::::
:::
 

3 comments:

  1. अब भी न समझ में आये तो क्या किया जाये.

    ReplyDelete


  2. 'मांस भक्षण' किसी भी समाज को असभ्य, जंगली बनाए रखने के लिए काफी है।

    'गौ मांस भक्षण' असभ्यता के साथ मूर्खता भी है। संवेदनशून्य व्यक्ति ही गौ मांस खाने के रास्ते पर चल सकता है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा प्रतुल जी आपने आप से सहेमत हु मै

      Delete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.