:

Tuesday, November 17, 2009

" मै भारत के मिनिस्टर के नाते शपथ लेता हूँ की ...."

" मै भारत के मिनिस्टर के नाते कसम खाता हु की ......"




  • मै" कसाब और संसद भवन पर हमलावर को बादशाह की तरह रखूँगा ,भले ही इन आतंकवादियों ने मेरे भारतवासियों को बेरहमी से मारा हो |


  • अपने घर में दस पन्द्रह "नोट गिनती "की मशीन लगवाऊंगा |


  • नोट गिनती के मशीन २४ घंटे चल सके उतनी ही रिश्वत खाऊंगा |


  • सक्कर के दाम बढ़ाये है अब और चीजों के दाम भी बढाऊंगा ...चाहे मेरे भारत देश की जनता भूख से मर क्यों जाए ...मगर मै महेंगाई जरूर बढाऊंगा |


  • आज से साल बाद ही मुझे चुनाव जीतानेवाली जनता के सामने नए वादे लेकर जाऊँगा ..तब तक मुज पर विश्वाश करने वाली जनता को नोच नोच कर खाऊंगा |


  • मेरे kisi भी साथी सभ्य को , उसके हर गुनाह की सजा से बचाने को मेरे अधिकारों का इस्तेमाल करूंगा |


  • अपनी "दाई जेब में कानून "और "बायीं जेब में हर सरकारी ऑफिसर "को रखूँगा |


  • जो सरकारी ऑफिसर मेरा कहेना नही मानेगा, उसका ट्रान्सफर करवाऊंगा |


  • मै ऐशो आराम की जिन्दगी जिऊँगा ...भारत की जनता भले ही महेंगाई जेलती रहे |


  • रिश्वत लेना मेरा कर्म है और भारतवासियों को महेंगाई की चक्की में पिसना मेरा धर्म है |


" जय हिंद "



" जी हाँ दोस्तों ,यही तो कसम खानी चाहिए हमारे नेता लोगो को ...क्यों की यही तो ,वो सब करते है |पता है ,ये सब हमारे साथ ऐसा क्यों करते है ? क्यों की हम भारत वासी को सबसे बड़ी बीमारी है भूलने की ,हम लोग बहुत जल्द ही भूल जाते है की ,हमारे नेता ने हमारे साथ कैसा सलूक किया है |"



" गाँधी तेरी किस्मत अच्छी है की , तू ...१०..५०...१००....५००....१००० की नोट पर है वरना हर बात भूलने वाले तेरे भारत के लोग तुजे ही भूल जाते क्यों की हर बात को भूलने की इनकी आदत जो बन गई है ....गाँधी ,तेरे पास कुछ नही होने के बावजूद भी बहुत कुछ था ...मगर आज इस देश के लोगो के पास बहुत कुछ होते हुवे भी ,कुछ नही है |"





------- thanx गूगल








24 comments:

  1. अरे बाप रे...ऐसी शपथ...वैसे तो बिना शपथ लिए भी यही सब हो रहा है...तब तसल्ली रहेगी कि बेचारे ने शपथ ली है तो क्या करे.

    ReplyDelete
  2. वाह क्या बात कही। बहुत खूब। अच्छी शपथ दिलवायी है।

    ReplyDelete
  3. नेताओं की डगर पर बच्चों दिखाओ चलकर
    ये देश है तुम्हारा खा जाओ इसको तलकर

    ReplyDelete
  4. आपकी सच्चाई की चाहत आपकी ये पोस्ट बखूबी बयां कर रही है
    एक कङवा सच....पर स्वीकार करना होगा..
    शुक्रिया...

    ReplyDelete
  5. Aatankwaadee chhod baaqee sab sahee hai..aatank khilaf qanoon aise hain, mister kya koyibhi kuchh nahee kar sakta..inhin qaanoonon ke khilaaf to meree jang hai!

    http://lalitlekh.blogspot.com
    (Gazab qaanoon ke tahat)

    http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    ReplyDelete
  6. BILKUL SAHI LIKHA HAI.......AISI KASAM KHANI NHI CHAHIYE BALKI IN SABNE TO YE HI KASAM KHAYI HAI......KAISE DESH KO DOBARA APAHIZ.PANGU BANAYA JAYE, KAISE DOBARA DESH KI ASMITA KO GIRVI RAKHA JAYE,KAISE INSAAN KA , USKI BHAVNAON KA SHOSHAN KIYA JAYE, HAR HADSE PAR AANKEHIN KAISE MOONDI JAYEIN ,KAISE KASAAB KO SARKARI DAMAD BANAYA JAYE,KAISE AATANKIYON KO SHARAN DI JAYE AUR AAM JANTA KO KIS KIS TARAH SE MAR MAR KAR JEENE KE LIYE MAJBOOR KIYA JAYE, KAISE SIRF EK DIN AATANKIYON KE AATANK KA SHIKAR BANE SHAHEEDON KO YAAD KIYA JAAYE MAGAR UNKE PARIWAR KO NA YAAD RAKHA JAYE, UNKE LIYE NA KUCH SOCHA JAAYE.
    AAP KIS KIS KE BAARE MEIN KYA KYA LIKHENGE........SAB MRIT HAIN YAHAN, SABKE ZAMEER MAR CHUKE HAIN , SAB SIRF APNE PARIWAR KE LIYE JEETE HAIN KOI DESH KI , SAMAJ KI NAHI SOCHTA.
    26/11 KE UPAR ABHI MAINE ISI SE SAMBANDHIT LIKHA THA AGAR FURSAT MILE TO PADHIYEGA.
    http://redrose-vandana.blogspot.com
    kaise karoon naman?

    kya kahun ab JAI HIND , VANDE MATRAM YA MERA BHARAT MAHAAN?

    ReplyDelete
  7. hame is sapath ke bandhan me mat baando
    hum to aise hi ye sab kar jayege
    hum neta bane hi iske liye hai
    ye sab nahi kiya to narak kaise jayenge

    ReplyDelete
  8. आग उगलती पोस्ट, सच को बयां करती ।

    ReplyDelete
  9. Bahut Bahut accha aur bilkul sahi likha hai aapne...

    ReplyDelete
  10. यही सब शपथ तो लेते हैं आजकल के नेता, तब तो उसे पूरा करते हैं !

    ReplyDelete
  11. काश कि कोई कसम नागरिक भी ले सकें? मगर हम गरियाने के सिवा कुछ नहीं कर सकते शुभकामनायें

    ReplyDelete
  12. शपथ लेने की कोनू जरूरत नाही... यह तो राष्ट्रधर्म है :)

    ReplyDelete
  13. आक्रोश और बेबसी के गहरी अभिव्यक्ति है ............ पता नही कब ऐसे लोगों का सामाजिक बहिष्कार होगा अपने देश में .............

    ReplyDelete
  14. दुनिया बनने वाले कहे को दुनिया बनाई, नेताओं के हाथों में लोकतंत्र की चाभी क्यों थमाई.

    ReplyDelete
  15. वाह बहुत ही अच्छा और ज़बरदस्त शपथ लिया है! वैसे इसी तरह के शपथ ही लेते हैं आजकल के सारे नेता! कार्टून बहुत अच्छा लगा! इस बेहतरीन पोस्ट के लिए ढेर सारी बधाइयाँ!

    ReplyDelete
  16. कुछ दिन और धैर्य रखें .. आप जैसों का आक्रोश अवश्‍य रंग लाएगा .. सच को दिखाती बहुत ही बढिया पोस्‍ट !!

    ReplyDelete
  17. बहुत मस्त सटायर है.. बढ़िया क्लास ली आपने नेताजी की.. मुझे तो सबसे ज्यादा कार्टून पसंद आया.. आपकी सोच का भी जवाब नहीं... अगर सच में नेता ऐसे ही शपथ लेते.. तो सौ में 99 बेईमान होते.. लेकिन फिर भी भारत महान होता...

    ReplyDelete
  18. shukria'
    shapath bahut pasand aayi;
    maine aapki mail ke jawab mein turant ek gazal post ki thi 'shakh se phool...'wali,us par to nazar daliye huzur.

    ReplyDelete
  19. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं ................

    ReplyDelete
  20. तुलसी भाई जी नव वर्ष की आपको और आपके परिवार को शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  21. netaon ke alawa bhi bahut sare log hain jo sahi mayne me desh chalate hain......hamare desh ke honhaar bloggeron unki pahchan karo....un luteron ki pahchan kiye bina aap blog par chikhiye koi farak nahi padta....sahi mayne me khud ke bhitar jhakna hoga....kya aap ye aaj tak sabit kar sake ki aap un netaon ki tarah nahi hai....jan tantr hai jas janta tas raaja....baat afzal aur kasab ki bhi....nyay ka takaza hota hai state aur terrorist me koi fark to hota hai na....aap ye bhi kah sakte hain ki shrikrishna aayog jaise aayogon ki report ke baad baal thakre jiase netao ko jail jaana chahiye...magar nahi....na to aisa hoga na hi aap likhenge wajah pata hai
    bas wahi wajah hai jo netao me hai.....agar aap mahaz manoranjan kar rahe hain to aapko pura adhikar hai....jantantrik desh me hain aap

    ReplyDelete
  22. आपको और आपके परिवार को नए साल की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  23. जिस देश के राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री जैसे सम्माननीय पदों पर चोर,बेईमान व शर्मनाक भ्रष्टाचारियों का कब्ज़ा हो उस देश व समाज का क्या हाल होगा....?

    ReplyDelete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.