:

Friday, October 4, 2013

इस देश को कुछ लोग चला रहे है : राहुल गांधी (मगर पिटाई क्यू हुई ? )

इस देश को कुछ लोग चला रहे है : राहुल गांधी 

अहमदाबाद : आज राहुल गांधी ने " गुजरात यूनिवर्सिटी "के कन्वेन्शन हॉल मे वर्तमान पत्रो के मालीको ओर पत्रकारो के साथ बातचीत करते हुवे खुलकर कबुल किया की " इस देश को कुछ लोग ही चला रहे है " एक तरफ राहुल का ये बयान है की देश को कुछ लोग ही चला रहे है तो दूसरी तरफ सरकार के द्वारा जारी किया गया हुकुम जिसको राहुल गांधी ने फाड़कर फेंक दिया था ...उस पर बात करते हुवे राहुल ने कहा की ..... "

" मै युवा हु ओर युवा की प्रतिक्रिया ऐसी ही होनी चाहिए ..... मेरी भावना अच्छी थी मगर मेरे शब्द कठोर थे " ये बात मुझे मेरी माँ ने बताई तब मुझे मेरी गलती का पता चला इस लिए ही दागी सांसदो को बचानेवाला वो सरकारी हुकुम मैंने फाड़कर फेंक दिया था ,मै चाहता हु की देश का राजकारण साफ़सुथरा बने दागीयो को सजा मिले | "

* राजस्थान मे हुई शिक्षा मंत्री की पिटाई 

" एक तरफ राहुल गांधी के इस फाडु चरित्र से देश मे कई सवाल उठ रहे है तो दूसरी तरफ राजस्थान के सिक्षा मंत्री व्रजकिशोर शर्मा जी की खुद कोंग्रेसी लोगो ने ही जमकर लातों ,घुसो से जमकर पिटाई की है ओर इस मे बिचारे बोडीगार्ड को भी सहेना पड़ा वो भी साथ मे पीट गया .. " 


असल में शिक्षा मंत्री ब्रिजकिशोर शर्मा कई कांग्रेसियो ने नौकरी लगवाने के नाम पर लाखो रूपये एठ चुके थे ...और महीनों से आजकल आजकल करके उनको बेवकूफ बना रहे थे ... फिर जब कांग्रेसियो को लगा की अब तो कुछ ही हप्तो में आदर्श आचार संहिता लागु होने वाली है और मंत्री तो काम भी नही करेगा और पैसे भी डूब गये ... फिर उन कांग्रेसियो का धैर्य जबाब दे गया और एक उद्घाटन समारोह में कांग्रेसियो ने मंत्री को पकड़कर धुन दिया

इससे पहले गुजरात काँग्रेस के भूतपूर्व विपक्षी नेता शक्तिसिंह गोहील को भी जनता ने ओर खुद कोंग्रेसी नेताओ ने जमकर पीटा था 


राहुल गांधी दागी नेताओ को सजा देने के मूड मे है तब एक बात समज मे नहीं आती है की कॉंग्रेस मे कोई एक नेता का नाम बताओ जो भ्रष्टाचार मे डूबा ना हो या फिर उसका नाम ना हो ? वैसे भी कॉंग्रेस ऐसे दागी नेताओ को पिछले रास्ते से वापस संसद मे लेकर ही आती है ओ फिर ये नाटक क्यू ? पिछले रास्ते से का मतलब है ....आप देख लीजिये ...ए राजा ,कनिमोजी, कलमाड़ी ...क्या इन पर करोड़ो ,खरबो के घोटाले के आरोप नहीं है ? तो फिर उन्हे कॉंग्रेस ने वापस सन्माननीय पद क्यू दिया ओर क्यू " राज्य सभा " के दरवाजे खोल दिये ? 

* लगे हाथ ये भी पढ़ लीजिये 



::::: 
:::


11 comments:

  1. मार कुटाई फाड़ा फाड़ी, की क्या करते बात |
    नेता बुड्ढा मार खा रहा, इसकी जो औकात |
    युवा युवा युवराज हमारे, हो हाथों में खाज |
    अध्या ही क्या देश फाड़ दे, क्यूँ कर आयें बाज |
    दिखते हैं इकलौते वारिस, मनमोहन का ताज |
    जब चाहेंगे रख लें सिर पर, समझ बाप का राज ||

    ReplyDelete
    Replies
    1. वाह ! रविकर साहब आपका यही अंदाज काबिले तारीफ है

      Delete
  2. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया रवि साहब

      Delete
  3. सुन्दर प्रस्तुति ....!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (05-10-2013) को "माता का आशीष" (चर्चा मंच-1389) पर भी होगी!
    शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको एवं आपके परिवार को भी नवरात्री का पर्व मंगलमय रहे

      Delete
  4. युवा नेता को क्या यह शोभा देता है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आशा जी ...ये है कोंग्रेसी युवा जो देश के युवाओ को सीखा रहे है की विरोध ऐसा करो ...

      Delete
  5. ek baar modi ji pm bn jayen fir desh ko sahi disha milegi

    जरा इसे भी देखें
    Muslims * से कुछ सवाल..!!!
    http://www.bharatyogi.net/2013/09/muslims.html

    ReplyDelete
  6. क्या बात पूरी बखिया उधेड़ दी इन बिगडेल ढ़ेडों की बधाई।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सर अगली पोस्ट पढ़िएगा मजा आएगा

      Delete

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.