:

Sunday, October 27, 2013

आतंकवाद ओर मौलाना महमूद मदनी का झूठा चेहरा ( सबूत के साथ )

* गुलाम मुस्तफा मोमिन की ये सच्चाई भरी पोस्ट पढे 

आज आप की अदालत में #मौलाना_महमूद_मदनी का झूठा चेहरा देख के हंसी भी आई साथ में उनकी अदाकारी पे फ़िदा भी हो गया, सच में ऐसे कलाकार होलीवूड फिल्मो में देखने मिलते हैं.. 

ये इसी लिए मैं कह रहा हूँ की इनकी बुनियाद को देखा या परखा जाए तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाए. ये जनाब #दारुल_उलूम_देवबंद से ता'अल्लुक रखते हैं, इनके अंकल अरशद मदनी जमियत उलेमा हिन्द जो दारुल उलूम देवबंद की एक शाखा हैं उनके महा सचिव हैं और इनका जानकारी के हिसाब से बहुत सी राजनितिक पार्टी में आना जाना रहा हैं, मतलब पंचरंगी हैं.

दुसरे मौलाना #वस्तान्वी जो आप अच्छी तरह जानते हो जिसने मोदीजी की पहले तारीफ़ की थी बाद में #कांग्रेस के एक कार्यक्रम में दंगो का ज़िक्र कर के मोदीजी के विरोध में बोले थे, इनका मदरसा गुजरात के नजदीक महाराष्ट्र की हद में #अक्कलकुआ नामक नगर में आया हैं और ज्यादातर दक्षिण गुजरात में ही घूमते रहते हैं और चन्दा लेते रहते हैं ये जनाब भी दारुल उलूम देवबंद से जुड़े हुए हैं जो आप तस्वीर में लाल रेखा के बिच में इनका नाम देख सकते हो.


अब दारुल उलूम देवबंद की असलियत इस पोस्ट की तस्वीर में देख लो. ये दारुल उलूम देवबंद की कितनी शाखाए हैं और दुनिया में कहा कहा हैं और कौन कौन इससे जुडा हुआ हैं. 


मित्रो दारुल उलूम देवबंद की मूवमेंट में #जमियत_उलेमा_हिन्द और जमियत उलेमा इस्लाम जो कराची स्थित हैं इसका मुख्य कर्ता हर्ता #फज़ल_उर_रहमान हैं ये वही हैं जिसने बेनजीर भुट्टो को प्रधान मंत्री बनाने में बड़ी भूमिका निभाई थी और कश्मीर विवाद में पाकिस्तान की तरफ से अहम् रोल निभाता रहता हैं और मित्रो #तालिबान भी दारुल उलूम देवबंद की मूवमेंट से ही जुड़ा हुआ हैं और तालिबान का इतिहास तो पूरी दुनिया जानती हैं,इसका सबूत विकिपीडिया के लिंक को JPG इमेज में निचे देख सकते हो.



अब और मैं क्या कहूँ ? मित्रो बस इतना बताता हूँ अभी..
आप खुद सोचो और तय करो की, ये लोग कैसे भरोशे लायक हो हमारे #राष्ट्र के लिए ??

* सोचिए जरा 

इंडिया टीवी पे #आप_की_अदालत में आये महान अदाकार जनाब महमूद मदनी जो सही में वतन परस्त हैं, तो जैश ए मोहम्मद का हेड मसूद अजहर, तालिबान, जमियत उलेमा ए इस्लाम के साथ अपने संबंध के बारे में जाहिर में बताये, नहीं तो उसको #आतंकवाद के साथ जोड़े. 

मित्रो मैंने आगे ही बताया की #कराची में आया जमियत उलेमा ए इस्लाम मदरसा जो भारत के दारुल उलूम देवबंद का ही एक हिस्सा हैं तो वो मदरसा में जनाब #मसूद_अजहर ने बचपन से ही धार्मिक तालीम ली थी इसका सबूत #विकिपीडिया की इमेज में आप देख सकते हो. इससे आम इंसान भी समज सकता हैं की जो जैसी तालीम लेता हैं वैसा ही अपने आप को तैयार करता हैं. ये जनाब ने जैश ए मोहम्मद नामक जो ग्रुप बनाया वो सिर्फ काश्मीर को भारत से आज़ाद करने लिए ही बनाया हैं और भारत हुए आतकवादी हमलो में ये ग्रुप की बड़ी भूमिका रही हैं ये तो पूरी दुनिया जानती हैं. 


ये हमारे भारत के लिए बहुत ही गंभीर मामला हैं. इसे बिलकुल नजर अंदाज़ न करे ये लोगो का बाहरी चेहरा बहुत भोला और अमन पसंद दीखता हैं, पर ये मृत #ज्वाला_मुखी जैसा है, जो हमे शांत दीखता हैं पर वो अपने समय पे बहुत बड़ा धमाका कर के दुनिया को तहस नहस कर देता हैं.



शुक्रिया : गुलाम मुस्तफा मोमिन


मोदी का नाम लेकर कांग्रेस हमें न डराए कह कर यह खुद कांग्रेश को डरा रहा है मोदी के नाम का इस्तमाल कर के ,,,और अपना काम निकलना चाहता है,

कल आपकी अदालत में जैसे ही रजत शर्मा ने कहा की कांग्रेश अगले सत्र में कम्युनल वायोलेंस बिल पेश करने जा रही है ,,,,तो तुरंत इसके मुह पर ख़ुशी की लहर छा गयी और कहने लगा हम इसका स्वागत करेंगे यानी ,,, कांग्रेश को समर्थन कर्रेगे।।।इसने साफ़ कहा की कोंगरेश ने हम से जो वायदे किये है उसका अमल करे,,

इसका मतलब कम्युनल वायोलेंस बिल के तहत हिन्दुओ के खिलाफ जो तुघ्लाखी फरमान किये जाने है ,,,उसका वोह पूरा सर्थन करता है और चुनाव का फायदा उठा कर सरकार को ब्लेक मेल कर रहा है

यह घटिया तुघ्लाखी बिल अगर पास हो गया तो हिंदुस्तान में हिन्दुओ की हालत पाकिस्तान के हिन्दुओ से भी बदतर होने के पुरे आसार है

इस लिए पुर झोश में इस मदनी का और उस बिल का विरोध करे

-विक्रम बरोट 
:;;
;;

No comments:

Post a Comment

आओ रायता फैलाते है

Note: Only a member of this blog may post a comment.