:

Sunday, November 24, 2013

केजरीवाल के 3 महा घोटाले (सबूत देखिये )

दुसरो को ईमानदारी और नैतिकता का पाठ पढ़ानेवाले दोगले केजरीवाल खुद कितने नैतिक है इसका नमूना है ये ...

कानूनन कोई भी शक्स एक ही जगह से मतदाता हो सकता है और अगर वो दुसरे जगह अपना नाम वोटर लिस्ट में डलवाता है वो एक फार्म भरकर उसे दूसरी जगह दर्ज होने का ब्यौरा देना पड़ता है ताकि निर्वाचन आयोग दूसरी जगह से नाम रद्द करके नये जगह डाल सके ..


लेकिन इस धरती के एकमात्र ईमानदार केजरीवाल तीन तीन जगह अपना नाम वोटर लिस्ट में डलवा देते है लेकिन साथ ये ये नही बताते की दूसरी जगह भी उनका नाम दर्ज है


चलो अब दूसरे घोटाले की बात करते है : 

Arvind Kejriwal never worked as Income Tax Commissioner, says IRS associationhttp://indiatoday.intoday.in/story/kejriwal-never-worked-as-i-t-commissioner-irs-association/1/326176.html …

केजरीवाल को IRS एसोशिएशन कि नसीहत, सोच समझकर दे बयान - See more at: http://nationalparivartan.com/SubCategoryDetails.aspx?Id=558#sthash.rroCiAIK.dpuf 



Contrary to Arvind's claim on Radio ads and TV bytes, he has never worked as IT Commissioner
.http://www.scribd.com/doc/186487191/IRS-Association-lambasts-Arvind-Kejriwal-Full-Letter …


Kejriwal predicts, AAP govt in Delhi will take oath on Dec 15
http://www.indiatvnews.com/politics/national/arvind-kejriwal-aa-govt-in-delhi-oath-on-dec-15-aap-ki-adalat--13023.html?page=3

IRS officers slam Kejriwal IRS officers slam Kejriwal
http://www.millenniumpost.in/NewsContent.aspx?NID=44775




* केजरीवाल का एक ओर झूठ

भ्रष्ट जो ढूंढन मै चला...भ्रष्ट न मिलिया कोए..... जो मैं ढूंढिया "आप" को इनसे भ्रष्ट न कोई


:;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;;

देखा कितना ईमानदार है आपका केजरीवाल ?

भैया ये " झाड़ू " का चुनावी चिन्ह ही बहुत कुछ बताता है 



एक नजर इधर भी 


:::::


4 comments:

  1. बढ़िया प्रस्तुति-
    आभार आदरणीय-

    ReplyDelete
  2. waah waah waaaaaaaaaaaaaaaaaah
    jai hind

    ReplyDelete
  3. केजरीवाल जी ने एक मिथक प्रचारित करवाया कि मेगासैसे अवार्ड में मिले रुपया को उन्होंने दान कर दिया..वो बहुत त्यागी हैं.......जब कि हकीकत यह है कि इस पैसे को उन्होंने इन्वेस्ट करके कई गुना कर लिया है....इसके लिए उन्होंने मनीष सिसोदिया और अभिनन्दन सेखरी के साथ मिलकर एक संस्था Public Cause Research Foundation बनायी ....इस संस्था के ये आजीवन उसी प्रकार मालिक रहेंगे जिस प्रकार अम्बानी अपनी कम्पनीज के हैं.....इनकी मृत्यु के बाद भी इनका स्थान इनका नॉमिनी ही लेगा.......इसकी संपत्ति का नियंत्रण पूर्णतया इन लोगो के ही हाथ में उसी प्रकार है जिस प्रकार अम्बानी का अपनी कंपनियों पर है......ये कैसा दान है..कैसा त्याग है...... !.......(refer its web site )

    ReplyDelete

Stop Terrorism and be a human

Note: Only a member of this blog may post a comment.