:

Monday, September 30, 2013

RTI : नरेंद्र मोदी को बदनाम करते है मीडिया ओर कोंग्रेसी मोढवाडिया ( सबूत RTI का )

मीडिया और गुजरात कांग्रेस प्रमुख अर्जुन मोढवाडिया के द्वारा नरेंद्र मोदी के विषय में फैलाये जा रहे झूठ का पर्दाफाश ...

* मुसलमान भाइयो मे नफरत भरने के लिए फैलाया जा रहा है झूठ ? 
* मोदी जी को बदनाम करने के लिए फैलाया जा रहा है झूठ 
* देश की भी मीडिया दे रही है काँग्रेस का साथ 

मित्रो, आजकल हर एक टीवी चैनेल पर गुजरात कांग्रेस ने नेता खासकर अर्जुन मोढवाडिया आकर कहते है की मोदी ने अपने सद्भावना उपवास के दौरान सरकारी पैसे से मुल्ला टोपी खरीदकर हिन्दुओ में बंटवाई थी और उन्हें उसे पहनकर आने को कहा गया था ताकि ये दिखाया जा सके की मोदी मुसलमानों में भी लोकप्रिय है |

अर्जुन मोढवाडिया बार बार कहते है की उनके पास नवसारी के जिलाधिकारी का आरटीआई का जबाब भी है .. जिसमे कहा गया है की गुजरात सरकार ने ४८०० रूपये मुल्ला टोपी खरीदने में खर्च किया है |

आपके सामने सच्चाई ये रही .

अर्जुन भाई ने गुजरात सरकार से आरटीआई से पूछा था की मोदी के सद्भावना मिशन पर टोपी, कैप खरीदने में कितने पैसे खर्च हुए है ?

अ्जुन भाई ने ये नही पूछा था की "मुल्ला टोपी" उन्होंने सिर्फ टोपी लिखा था | नवसारी जिला प्रसासन ने सद्भावना स्थल पर व्यवथा में लगे लोगो को पहचाना जा सके इसलिए उनके लिए सफेद क्रिकेट कैप खरीदा था जिस पर लिखा था "सद्भावना मिशन" ..नवसारी प्रशासन ने अर्जुन भाई को आरटीआई के जबाब में बता दिया की ४८०० रूपये की टोपी खरीदी गयी .. साथ ही जिला प्रशासन ने एक पेज अटैच करके टोपी की फोटो भी दी थी

लेकिन अर्जुन मोढवाडिया ने इसे मीडिया में ये कहना शुरू कर दिया की मोदी ने सरकारी पैसे से मुल्ला टोपी खरीदी और उसे हिन्दुओ को पहनने को दी ताकि ये जताया जा सके की मोदी अब मुसलमानों में लोकप्रिय है |

  मित्रो कांग्रेस ने इसे प्रचारित करने के लिए अपने "झूठ तन्त्र" यानी कांग्रेसी मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया | कांग्रेस से सांसद शोभना भारतीया का अंग्रेजी अख़बार हिन्दूस्तान टाइम्स इस मामले में सबसे आगे रहा.. हिंदुस्तान टाइम्स ने तो बकायदा शीर्षक लिखा "मोदी ने सरकारी पैसे से ४८०० रूपये की मुल्ला टोपी खरीदी" |

गुजरात सरकार ने जब हिंदुस्तान टाइम्स से इस खबर की पुष्टि करने को कहा तो उसने माफ़ी मांग ली |

 ये रहा वो सबूत : 




मित्रो, अब हमे इन दोगले कांग्रेसियों और मीडिया के बीच बने "अफवाह तन्त्र" को नष्ट करना है .... क्योकि कांग्रेस पंचतन्त्र के उस सिधांत पर काम कर रही है जिसके अनुसार यदि किसी झूठ को बार बार जोरशोर से कई बार बोलो तो वो सत्य प्रतीत होने लगता है ..

ओर भी सबूत यहाँ देखो : 

इस अर्जुन मोढवढ़िया के ओर भी झूठ यहाँ पढे ओर सबूत के साथ की कैसे वो झूठ फैला रहा है क्लिक करते जाओ ओर पढ़ते जाओ 




:::::
:::: 

 धन्यवाद जितेंद्रभाई 

Sunday, September 29, 2013

नरेंद्र मोदी का भाषण दिल्ली ( सम्पूर्ण वीडियो के साथ )

नरेंद्र मोदी का भाषण दिल्ली ( सम्पूर्ण वीडियो के साथ )

मोदी जी के आते ही लोगो ने किया " शंखनाद "

* दिल्ली एक ऐसा प्रदेश है जहां भारतीय जनता पार्टी के पास विजय ही विजय है। विजय गोयल, विजय मल्होत्रा, विजेंद्र गुप्ता। दिल्ली के इतिहास में इतना बड़ा कार्यक्रम नहीं देखा गया होगा।

* मैं वरुण देवता का भी वंदन करता हूं कि उनकी कृपा की वजह से ही चमचमाती धूप के बीच ऐसा सुंदर मौसम आज के लिए मिला है।

दिल्ली सरकारों के बोझ के तले दबी हुई है। दिल्ली में कई सरकारे हैं। दिल्ली में मां की सरकार, बेटे की सरकार है, तो नई दिल्ली में भी कई सरकार हैं। मां की भी सरकार है, बेटे की भी एक सरकार है, गठबंधन की सरकार है।

* वाजपेयी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार में सभी दल साथ-साथ थे, लेकिन यूपीए में सभी अपनी-अपनी दिशा में चल रहे हैं। जिससे देश पिछड़ रहा है।

* वाजपेयी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार में सभी दल साथ-साथ थे, लेकिन यूपीए में सभी अपनी-अपनी दिशा में चल रहे हैं। जिससे देश पिछड़ रहा है।

* भारत में कोई सबसे सुखी सीएम हैं तो दिल्ली की सीएम हैं। रिबन काटने के सिवा उनके पास कोई काम नहीं है। न सिंचाई, न मछुआरों की चिंता हैं। सड़क पर गड्ढे हैं तो निगम को दोष दे दिया और बाकी के लिए केंद्र को दोष ठहराया दिया।

दिल्ली की सीएम दिल्ली में बच्ची से रेप के बाद दुख जताती हैं, लेकिन मां के नाते फिर सलाह दे डालती हैं कि लड़कियों को जल्दी घर लौट आना चाहिए। उनके पास कोई काम नहीं है। दोष ऊपर दे दो या नीचे दे दो, यही उनका कारोबार है।

* कॉमनवेल्थ गेम्स से देश की इज्जत लुटी। चीन ने ओलिंपिक खेलों से अपनी ताकत दिखाई, लेकिन हमने मौका गंवा दिया।

* आए दिन सुप्रीम कोर्ट भारत सरकार को करप्शन के मुद्दों पर कठोर से कठोर शब्दों से फटकारती है। लेकिन उसे ऐसी आदत हो गई है कि जैसे शराब को शराब पीने की लत लग जाती है। वह नहीं सुधरता।

* इस सरकार का एक ही मकसद है, गांधी भक्ति करना। गांधी छाप नोटों की भक्ति। इस नई गांधी भक्ति में यूपीए डूबा हुआ है। टनों में नोटों का गोलमाल हो रहा है।

* आज दुनिया तेज गति से आगे जा रही है, लेकिन हम तेज गति से पीछे जा रहे हैं। आज देश हंसी मजाक का कारण बन गया है।

आज देश के नौजवानों को रोजगार चाहिए। वह मेहनत करने और जान की बाजी लगाने को तैयार हैं, लेकिन यूपीए सरकार रोजगार देने में नाकाम रही है।

* अटल जी की सरकार में 6 साल में 6 करोड़ रोजगार दिए गए। यूपीए सरकार के 2004 से 2009 के कार्यकाल में 27 लाख को रोजगार मिला। क्या कांग्रेस की सरकार में देश के नौजवानों का भविष्य सुरक्षित है?

* ओबामा के सामने पीएम गिड़गिड़ाए। उन्होंने कहा कि मैं गरीब देश से आया हूं। उन्होंने फिल्म वालों की तरह काम किया है, जो भारत की गरीबी को दिखाकर अवॉर्ड जीतते हैं। क्या यह उनका स्टेट ऑफ माइंड है?

मुझे एक बात से बड़ा दुख है। मेरे दिल पर यह चोट लगी है। कल नवाज शरीफ ने भारतीय पत्रकारों के सामने भारत पीएम को देहाती औरत कहा। हिंदुस्तान का इससे बड़ा अपमान नहीं हो सकता।

दरअसल नवाज शरीफ को यह हिम्मत इसलिए आई क्योंकि घर पर ही भारतीय पीएम के अध्यादेश को बकवास कह डाला गया। राहुल ने उनकी पगड़ी उछाली है। देश में पीएम का अपमान होगा तो बाहरवाले इज्जत क्यों करेंगे।

* आज पीएम नवाज से मिलने जा रहे हैं। उनसे भारतीय माओं की आशा है कि वह भारत के जवानों के कटे सिर वापस लेकर आएं।

आज परिवारशाही और लोकशाही के बीच युद्ध छिड़ गया है। परिवारशाही लोकशाही का गला घोंटने पर उतारू है। लोकशाही को दबोचने के लिए उतारू है। आज देश इस मोड़ पर खड़ा है कि देश संविधान से चलेगा या फिर शहजादे की इच्छा से। शहजादा पीएम की पगड़ी उछाल रहा है।

* यूपीए सरकार के पास कोई विजन नहीं है। इसके कार्यकाल के सारे बजट देख लीजिए, तारीख बदलते हैं, नारे बदलते हैं, लेकिन अंदर का सारा माल वही है।

* 2014 में देश को ड्रीम टीम की जरूरत है।

अब मैं अपनी बात करना चाहता हूं। भारत के लोकतंत्र की ताकत देखिए, उदारता देखिए कि जो इंसान रेलवे के डिब्बे में चाय बेचकर अपना गुजारा करता था, ऐसे गरीब परिवार के बच्चे को आज आपने यहां बिठा दिया।

* मैं मन से न कभी शासक था , न शासक हूं और न शासक बनने के सपने देखता हूं। मैं बस सेवक हूं। मैं पहले भी सेवक था, कल भी सेवक रहूंगा।

मेरे लिए सरकार का एक ही मजहब होता है। सरकार का एक ही धर्म होता है। और वह मजहब होता है नेशन फर्स्ट। सरकार का एक ही धर्म होता है। वह है भारत का संविधान। सरकार की एक ही भक्ति होती है भारत भक्ति। सरकार की एक ही शक्ति होती है सवा सौ करोड़ की जन शक्ति है। सरकार की एक ही कार्यशैली होती है, सबका साथ, सबका विकास।

* भारत के पीएम को अमेरिका में ताकत मिले, उन्हें हौसला मिले, ऐसी ताकत से बोलिए... वंदेमातरम। वंदेमारतम।


::: 
::


Thursday, September 26, 2013

छोटा भीम ओर खांग्रेसी PM ( कार्टून सीरियल आधारित व्यंग )

इन सारे मुद्दो को पढ़िये ओर मुसकुराते रहिए 

     * " गुटरगू “ सीरियल जैसा मन्नू सिंह
·        * छोटा भीम आ गया ...लड्डू कहाँ  ?
·        * पुरानी केसेट “ मोगली “.. चड्डी पहेन के
·        * “ रोल नं 21 ” कौन है ?
·        * ये है “ शापित “
·        * “ ओग्गी “ आया “ पुष्पक ” बनने
·         * चिंता ता चीता चीता ... चिंता ता ता
·         * कॉकरोच गेंग जिंदाबाद
·        * सुश्ह ... कोई है अचानक ही कैसे हो गया ?
·        * CID का हजार वा एपिसोड
·        * बालवीर
·        * ठाकी टीकी ...ठाकी ...टीकी

तो पढ़िये अब

“छोटा भीम “ कार्टून देखने मे देश का पप्पू व्यस्त था ,अभी खत्म नहीं हुवा था “ छोटा भीम तो दूसरी तरफ खांग्रेस की ओर से PM किसे बनाया जाए उस पर चर्चा हो रही थी “

·        “ गुटरगू “ सीरियल जैसा मन्नूसिंह  
“ सबसे पहले दिग्गीज सिंह ने कहा की “ मै तो कहु तो मेरे हिसाब से “ गुटरगू “ सीरियल के किरदारो जैसा हाल का मन्नूसिंह ही PMअच्छा है जो देश मे चाहे कुछ भी बोलता ही नहीं है “ उस पर सुरद पवार ने अपना अलग सुर छेड़ा “ इस PM पद के लायक मै ही हु  ,मैंने तो जनता का थप्पड़ भी खाया है “

·        छोटा भीम आ गया ...लड्डू कहाँ  ?
ये सुनते ही मूनिष तिवारी बोले “ यहाँ “खाना खजाना “ की बात नहीं हो रही है वैसे तुमसे तो ज्यादा उस वकील ने लाते ओर घुसे खाये थे तो क्या उसे बनाए देश का PM ? “ ... तभी अचानक ही देश के मीडिया का राजकुमार ओर जनता का प्यारा पप्पू ,हाथ मे “ छोटी गदा “ लेकर कमरे से बाहर आया ओर चिल्लाया “ कहाँ गए मेरे लड्डु ? “ उसे देखकर दिग्गीजयसिंह ने कहा “ लगता है छोटा भीम सीरियल खत्म हो गया ? बेटा तुम्हारे लड्डु तुम्हें मिल जाएंगे ,तुम अपने कमरे मे जाओ “ ओर पप्पू चला गया

·        पुरानी केसेट “ मोगली “.... चड्डी पहेन के
“ अरे ! अपने “ सुपर फेंकू “ दिग्गीजयसिंह को ही बनाओ PM उसमे सारी काबेलियत भी है हम घोटाले करते रहेंगे , महेंगाइ बढ़ाते रहेंगे ओर आतंकी धमाके करते रहेंगे ओर ये दिग्गीजयसिंह एक ही फटी पुरानी केसेट बजाता रहेगा की इन सभी मे RSSका हाथ है ..... बिलकुल पुरानी सीरियल मोगली  की तरहा चड्डी पहेन के ... “

·        “ रोल नं  21 ” कौन है ?
उस पर डिग्गी ने कहा “ नहीं नहीं मुझसे तो अच्छा “ रोल नं 21 ” अच्छा है उसे ही बनाओ PM “.... उस पर एक खंगरेसी बोला “ अब ये रोल नं 21 कौन है भाई ? “ ....तो दिग्गीजय ने कहा ” अपना चिदुराय लूंगी “ ...उस पर खांग्रेसी ” नहीं भाई वो कृष्ण कम ओर कंस ज्यादा दिखाई देता है ओर वैसे भी वो इतना सुपर फेंकू बन चुका है की देश का अर्थतन्त्र नीचे गिर रहा है मगर ये कहेता है सब ठीक है , देखा नहीं डॉलर के सामने रुपैया एक बच्चा बन गया है  “

·        ये है “ शापीत “
“ तो फिर हमारे पास “ शापित “ जैसे मादेरना ,तिवारी,कांडा ,संघवी जैसे होनहार ओर महान नेता भी है “ ये सुनते ही सारे खंगरेसी उछल पड़े “ अबे नाम मत ले इन लोगो का वरना देश की सारी महिलाए सच मे माता भवानी बनकर हम सभी का नाश कर देगी ..... ये सब सच मे शापित ही है भाई ,क्यू उनके साथ हमे भी मरवा रहे हो “

·        “ ओग्गी “ आ गया “ पुष्पक ” बनने
“ ठाकी टीकी  ...ठाकी टीकी “ कहेता देश का पप्पू अपने कमरे से बाहर आया तो दिग्गीजय ने कहा “ घभराओ मत दोस्तो “ ओग्गी “ सीरियल खत्म हुवा है ये उसका असर है “.... “ दिग्गीजय चाचा “ पप्पू बोला “ मुझे बनाओ न PM ...मै इस देश को चलाऊँगा “...तो डिग्गी ने पूछा “ बेटा कैसे चलाओगे देश ? “पप्पू ने कहा “ जब तुम सब घोटाले करोगे तो मै कमला हसन की फिल्म “ पुष्पक “ के किरदार जैसा बन जाऊंगा ओर जब देश पर विपदा आएगी तो मै विदेश मे जाकर “ ठाकी टीकी ...ठाकी टीकी .... ठाकी टीकी करूंगा ।“

·        चिंता ता चीता चीता ... चिंता ता ता
“ बात बात मे ये “ ठाकी टीकी ठाकी टीकी “ अब ऐसा ही रहा न तो जनता हम सब का “ चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता “ कर देगी इस मे कोई शक नहीं है “ तो उस पर सुरद पवार ने पूछा “ ये चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता ,… क्या है ? उस पर मुनीष तिवारी ने कहा “ बेटा ,जो तेरे गाल पर पड़ा था वो पिछवाड़े पर पड़ता है “..... आपस मे लड़ना छोड़ो ओर PM के लिए किसे चुना जाए वो बताओ “ एक बुजुर्ग खंगरेसी ने कहा ..... पप्पू चुपचाप ये सब सुन रहा था ....”

·        “ कॉकरोच गेंग “ जिंदाबाद
“ एक तरफ देशवासी हमे घोटालेबाज कहते है ओर ऐसे वक़्त मे हम बजाए साथ रहने के आपस मे लड़ते रहेंगे तो जनता हमे कॉकरोच गेंग समजकर......... “ तभी अचानक ही पप्पू उछलकर चिल्लाने लगा नारे देने लगा “ कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “  ....ठाकी टीकी ..... ठाकी टीकी .....  कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “ .. अब पप्पू ने पास मे पड़ी छोटे भीम की छोटी गदा भी उठा ली थी की इतने मे .............. “

·        “ सुश्ह ... कोई है “ अचानक ही कैसे हो गया ?
“ एक खंगरेसी कमरे मे दाखिल हुवा जिसे देखकर सारे खंगरेसी डर गए ,पसीने छूटने लगे सभी के ओर बेचारा पप्पू तो थरथर काँपने लगा उसके हाथ मे रही छोटे भीम की गदा छूट गई .... “ ..... “ तुम लोग इतना डर क्यू गए हो ? ...” उस पर एक खंगरेसी कुर्सी के नीचे से बोला “ अबे ! ऐसे गेटप मे आने की जरूरत क्या थी ...खामखा डरा दिया बेचारे पप्पू को ...देख कैसा थरथर काँप रहा है ,पसीने की तो नदियां बहे रही है पप्पू की ...” .....” मगर मैंने किया क्या ? “....... “ अबे ये नरेंद्र मोदी की स्टाइल मे दाढ़ी ओर कपड़े पहेनकर आने की जरूरत क्या थी ? .......” ...... “ मुझे क्या पता की आप ओर बीचारा पप्पू मोदी स्टाइल की दाढ़ी देखकर ही इतने डर जाते है आपका “ ठाकी टीकी ठाकी टीकी “ हो जाता है “

·        CID का हजार वा एपिसोड
“ बहुत बोलता है तू आजकल “ दिग्गीजयसिंह बोला “ रुक तेरी सिकायत “ माई ” से करता हु ओर पप्पू को डरा रहा है तू क्यू ? अब देख माई “ CID का हजारवा एपिसोड तेरे नाम से कैसे लिखती है ...... ओर तेरी ऐसी बजाएँगे की तू कहेगा “ चिंता ता चीता चीता चिंता ता ता “

·        बालवीर
“ ये चिंता चिंता का मतलब क्या होता है ? “ पप्पू ने पूछा तो दिग्गीजयसिंह ने कहा “ पिछवाड़े पर मार पड़ती है पप्पू “ उस पर पप्पू हँसकर बोला “ वो तो CBI नहीं मगर जनता मारेगी हमारे पिछवाड़े पर ...मगर मै बालवीर बनकर लड़ूँगा “ .... सारे खांग्रेसी पप्पू की बात से परेशान हो गए “ चलो अब ओग्गी आएगा ....कॉकरोच गेंग जिंदाबाद ......... तुम सब बोलो मेरे साथ कॉकरोच गेंग जिंदाबाद “ पप्पू का फरमान सुनते ही सारे खंगरेसी नारे लगाने लगे “ पप्पू ने कहा चलो अब घर जाओ ओर "ओग्गी " देखो PM की मीटिंग कल करेंगे ....ठाकी टीकी,...ठाकी टीकी “ पप्पू कमरे मे चला गया

ओर एक खांग्रेसी बड़बड़ाया “ ये 43 साल का बच्चा ना जाने कब जवान होगा ? ...

चलो खेल खत्म पाठको ...आप भी ठाकी टीकी ...ठाकी ...टीकी करते अपने अपने घर जाइए ओर नीचे दिये कमेन्ट के बक्से मे कुछ लिखते जाइए वरना ......... “ चिंता ता चिंता चीता ...चिंता ता ता “

नोट :
बहुत से पाठको ने ईमेल द्वारा कहा की आपने व्यंग लिखना क्यू छोड़ दिया ? ये व्यंग उन पाठको के लिए है ओर ये व्यंग को कोई दिल पर ना ले ये सिर्फ हंसने हसाने के लिए ही लिखा गया है कोई मेरे नाम “ CID का हजार वा एपिसोड ” ना लिखे

::::::

:: 

Saturday, September 21, 2013

नामर्द काँग्रेस ओर बाबा रामदेव ( 4 जून से लेकर आजतक )वीडियो देखिएगा

आखिर काँग्रेस चाहती है क्या ?
क्या इस देश का नागरिक तानाशाह मे जी रहा है ? यही सवाल आज आम आदमी के दिल मे उठ रहा है तभी तो करोड़ो लोगो ने आजतक के द्वारा किए गए सर्वे मे बाबा रामदेव जी को हीथ्रो एयरपोट पर रोका जाना 125 करोड़ जनता का अपमान कहा है


* नामर्द काँग्रेस एक आदमी के पीछे फौज लगा देती है 

                   " जब से बाबा रामदेव ने सच का साथ दिया ओर कहा की विदेशो मे पड़ा काला धन्द्श मे वापस लाओ तब से उनके पीछे काँग्रेस सरकार ने अपनी सारी एजंसिया लगा रखी है कभी सीबीआई ...तो कभी आयकरवाले ...अरे ये सीबीआई ओर आयकरवाले अगर सही तरीके से काम करे तो सभी कोंग्रेसी जेल मे नजर आएंगे बाबा रामदेव को काँग्रेस ने विदेस मे फसाया है ओर वीके सिंह को देश मे ये काँग्रेस अपनी नामर्दानगी का सबूत दे रही है की वो सामने से लड़ नहीं सकती है ...कायरो के भांति सरकारी अफसरो को मैदान मे भेजती है  " 

* क्या आप भूल गए वो काली रात ? 

                  " कैसे भूलु 4 जून की काली रात को भाई .... बेबस ओर लाचार लोगो पर चलाई गई लठिया ने जालियावाला बाग की याद दिला दी थी ,महिलाए चीख रही थी ओर सरकारी नरधाम लठिया बरसा रहे थे ये अनसन पर बैठे लोगो का गुनाह सिर्फ इतना था की उन्होने इस नालायक सरकार के सामने जुबान लड़ाई ओर काला धन वापस लाओ ऐसी मांग रखी थी

      करुणानिधि ने कॉंग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोला तो उसकी हालत बिगाड़ दी 
            जय ललिता ने कॉंग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोला तो आयकर का छापा 
            मुलायम ने कॉंग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोला तो आयकर का छापा 
            जन वीके सिंह ने कॉंग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोला तो उन पर आरोप लगाए
            केजरीवाल के खिलाफ भी आयकर का छापा था 
            मोदी के पीछे तो 12 साल से सभी सरकारी खाते पड़े है 
            अन्ना हज़ारे को भी किया था परेशान कॉंग्रेस ने 
            बाबा रामदेव को भी कर रही है कॉंग्रेस परेशान 


लिस्ट लंबी है किन्तु स्पष्ट होता है की जो भी कॉंग्रेस के खिलाफ बोलेगा या जाएगा उसके यहाँ सरकारी बाबू आ जाते है ओर बिना नहाये धोये वो उस आदमी के पीछे पड़ जाते है जो काँग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोले 


रामदेवजी के सहयोगी एस के तिजारावाला ने विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद को चिट्ठी लिखी और मामले में फौरन कार्रवाई की अपील की
इस चिट्ठी में लिखा था,

आदरणीय मंत्री जी,
हीथ्रो एयरपोर्ट पर स्वामी रामदेव को पिछले करीब 7 घंटों से रोककर रखा गया है. पड़ताल और पूछताछ के नाम पर उन्हें बेमतलब परेशान किया जा रहा है. उनका ये अपमान सवा सौ करोड़ भारतीयों का अपमान है. आप इस मामले में जल्द से जल्द दखल दें.

* इस पर गौर करो क्या मदद मिलेगी ? 

               " मगर क्या ये नीच सरकार मदद करेगी ? नहीं नहीं करेगी मदद क्यू की बाबा रामदेव गुनहगार नहीं है ओर ये सरकार सिर्फ गुनहगारो को ही मदद करती है ...इस देश के कानून को आदत पड गई है की काँग्रेस का आदमी हो तो उसे क्लीन चिट दे दो ...ओर मासूम बेबस को सजा " 

* हिंदी-संस्कृत की किताबें थी वजह? डायरी मे क्या था ?

            " बाबा रामदेव यहां एक समारोह में भाग लेने के लिए आए हैं. समारोह के आयोजकों में से एक ने बताया कि वह अपने साथ हिंदी और संस्कृत में लिखी कुछ किताबें लिए हुए थे जिसे लेकर उनसे पूछताछ की गयी है.एक डायरी में यूपीए सरकार के घोटालों के बारे में नोट बना रखा था और दूसरी में लोगों द्वारा देश से बाहर जमा कराए गए काले धन का विवरण था "
·   
      *  कॉंग्रेस ने खोदी अपनी ही कब्र  

           " काँग्रेस अपनी ही कब्र खोद रही है इस मे कोई संदेह नहीं है 2014 के बाद काँग्रेस के तमाम मंत्रियो का क्या होगा ये जरा अब सोचना चालू करे कोंग्रेसी तो उनके लिए सबसे अच्छा होगा क्यू की जनता के मन मे गुस्सा साफ छलक रहा है


ये वीडियो सच्चाई बताएगा  क्लिक करो और सच्चाई जानो 

      इंडिया टीवी का ये वीडियो आपको सच्चाई बताएगा  क्लिक करो ओर सच्चाई देखो

* अब देखिये जनता ने ब्रिटिश कमीशन को भेजा ई मेल 

Following Mail I have sent to British High Commission on Baba Ramdev:

Dear sir,

I think it will not be out of context to expect from British Authorities to
come clean on the question as to why Baba Ramdev was detained at above
airport for 8 hours so that the people in India do not remain uncertain on
such issue.Today again, he is reported to have been asked to come at 6.30
pm (IST)

8 hour questioning from a saint is not a small thing, if the airport
authority has got something against Baba, they should come clean on it
otherwise, it can be suspected that Baba is being framed under some
pressure of unscrupulous elements.

We do expect some honesty from your authorities at airport. Reports are
coming, they have questioned the baba on the literature, he was having, and
if this is so, it is really surprising and ridiculous.

Clear the air as soon as possible.

(Subhash Chandra)
21/9/2013

6.50 pm

* वक़्त मिले तो पढ़िएगा



::

नरेंद्र मोदी सट्टा बाजार मे 100 करोड़ का सट्टा

सट्टा बाजार मे भी नरेंद्र मोदी जी फेवरीट लग चुका है 100 करोड़ का सट्टा

ये आंकड़ा बढ़ेगा ही क्यू की 2014 के चुनाव को अभी वक़्त है
* कराची, दुबई ,अहमदाबाद, मुंबई,जयपुर ,इंदोर मे खेला जा रहा है सट्टा

* दुनिया मे पहली बार किसी चुनाव के पूर्व इतना वक़्त होते हुवे भी खेला जा रहा है सट्टा

* ये सब नरेंद्र मोदी का जादू है जिस पर नजरे टिकी है दुनिया की

* दुनिया के तमाम बूकि कहते है की नरेंद्र मोदी ही बनेंगे भारत के प्रधानमंत्री



बुकियों का ट्रेंड इस प्रकार है  : 

नरेंद्र मोदी के लिए 1:30 रुपये
राहुल गांधी के लिए 3:00 रुपये
मनमोहन के लिए 12:00 रुपये
सोनिया गांधी के लिए 13:00 रुपये

* भाजपा को कितनी सीट मिलेंगी ? इस पर भी खेला जा रहा है सट्टा

बूकि बाजार कहेता है की भाजपा को 272 से अधिक सीट मिलेगी जिसके लिए

भाजप के 1:50 रुपये
काँग्रेस के 5:00 रुपये भाव बोला जा रहा है

बूकि मानते है की MP , राजस्थान ,छत्तीसगढ़ मे भी भाजपा ही बनाएगी सरकार
काँग्रेस के लिए हानिकारक साबित होंगे भ्रष्टाचार ,महेंगाइ,गरीबो का मज़ाक उड़ना ,ओर बेकार अर्थतन्त्र

2014 को अभी देर है मगर दुनिया मे ऐसा पहली बार हो रहा है की चुनाव को बहुत दिन बाकी है फिर भी अभी से खेला जा रहा है सट्टा

* राजस्थान के लिए ये रहा बूकि बाजार का समीकरण

भाजप के लिए 3:25 रुपये
काँग्रेस के लिए 4:60 रुपये

* मध्यप्रदेश के लिए ये रहा बूकि बाजार का समीकरण
भाजपा के लिए 2:00 रुपये
काँग्रेस के लिए 3:80 रुपये

* छत्तीसगढ़ के लिए बूकि बाजार का ये रहा समीकरण

भाजपा 2:10 रुपये

काँग्रेस 4:50 रुपये 


आप क्या मानते है ? 

क्या नरेंद्र मोदी ही बनेंगे प्रधानमंत्री ? भाई मै तो दावे के साथ कहेता हु की मोदी जी ही बनेंगे प्रधानमंत्री

मेरा वोट नरेंद्र मोदी जी को 

आपका वोट .... ? 

गुजरात के अखबारो मे ये खबर आई 23/09/13 को जब की ये खबर " एकसच्चाई " ब्लॉग ने आपको 21/09/13 को दे दी थी 



::::: 
::: 

ताजिया ओर हुसैन का उड़ाया मज़ाक (कुमार विश्वास वीडियो देखो )

* कुमार विश्वास ने उड़ाया मुस्लिम समाज का मज़ाक
* हुसैन के नाम पर किया गंदा मज़ाक

                                    राजनैतिक फायदे के लिए मुस्लिम लोगो का नकली सहारा बने केजरीवाल की AAP पार्टी के अहेम सदस्य कुमार विश्वास का असली चहेरा आपके सामने प्रस्तुत है मैंने यहाँ नकली इस लिए कहा क्यू की इस वीडियो मे उनका असली चहेरा दिखाई देता है 

हुसैन को हर मुसलमान जी जान से ज्यादा प्यार करता है ...वही प्यार के साथ कुमार विश्वास का ऐसा खिलवाड़ ? 

* ढोंगी लोगो से दूर रहे जो आपके पीछे ऐसी बात करता हो 

                                   मुस्लिम समाज के हमदर्द बनने का ढोंग रचनेवाले इस पाखंडी AAP पार्टी के नेता को जानिए ओर जानिए AAP पार्टी के असली मनसूबो को ये विडियो साफ बता रहा है की POLITICAL AAP PARTY मुस्लिम समाज का इस्तेमाल करना ही चाहती है ...

* ताजिया ओर हुसैन का उड़ाया मज़ाक

                                  " मुस्लिम समाज मे जो पवित्र ताजिया निकलते है तब नारे लगाए जाते है की " या हुसैन " ओर हुसैन का मर्तबा भी बहुत है मगर इस तरहा उसका मज़ाक उड़ाया जाए ये कैसे सहे जाए ? क्या मुस्लिम भाई के हिसाब से हुसैन या फिर कोई भी मुस्लिम भाई ऐसा है जैसा कुमार विश्वास बता रहे है ?

* ये वीडियो एडिटेड है ? कुमार विश्वास कहेता है 

                                " मजहब चाहे कोई भी हो ...राम हो या रहीम मगर उसे इस तरहा मज़ाक बनाना गंभीर है ... क्या इस देश के मुसलमान भाईयो को ये सब नहीं दिखाई दे रहा है ? आज हर कोई राजकीय पार्टी उन्हे हथेली मे चाँद दिखाकर बेवकूफ जो बना रही है ....कुमार विश्वास कहेते है की ये वीडियो एडिटेड है ...मगर आप भी देखिये इस वीडियो को क्या आपको लगता है की ये वीडियो एडिटेड है ?




अब जरा इन सवालो पर गौर करो : 

क्या अरविंद केजरीवाल की पार्टी AAP मुस्लिम समाज का चुनाव मे सिर्फ इस्तेमाल करना चाहती है ? 
अगर नहीं तो फिर उस पार्टी के अहेम सदस्य मुस्लिम समाज के लिए ऐसा क्यू बोल रहे है ? 

::: 
::

तस्वीर देखो और हँसते रहो ( तस्वीरों मे पोस्ट )

" तमाम जीवन जरूरी चीजों के दाम मे 135 % की बढ़ोतरी के असली हकदार है शरद पवार , ये चीजों मे सब्जी भी आ गई .... "

ये चंद तस्वीरों से शरद पवार को बीते दिन याद कराने की कोशिश है 

आप भी लीजिये इन चित्रो का आनंद और म्झ आए तो नीचे दिये कमेन्ट बॉक्स मे शानदार कमेन्ट दीजिएगा

आपके द्वारा दी गई कमेन्ट पर आधारित होगी इस ब्लॉग की अगली पोस्ट जो एक व्यंग पोस्ट रहेगी 

तो हो जाओ तैयार ओर इन चित्रो को देखो ओर अगर कुछ याद आए व्यंग टिप्पणी के रूप मे तो दीजिये कमेन्ट

आपकी कमेन्ट से ही बनेगी एक शानदार व्यंग भरी ...गुदगुदाती पोस्ट 

तस्वीर नंबर 1



तस्वीर नंबर 2


  तस्वीर नंबर 3

तो क्या बोलते है अब आप ......
चलो अब दो इस पर अपनी एक मस्त कमेन्ट ...ताकि कमेन्ट को लेकर मस्त व्यंग पोस्ट लिख सकु

:::::
::: 

Friday, September 20, 2013

हिन्‍दू मंदिरों की लूट ओर काँग्रेस : पर्दाफाश किया विदेशी लेखक ने

हिन्‍दू मंदिरों की लूट ओर बेबस हिन्दू, पढ़िये विदेशी लेखक ने लिखी किताब जो उजागर करती है काँग्रेस सरकार की मैली नीति 

 लेखक ने लगाए आरोप जो सही है 

* तिरुपति बालाजी मंदिर मे सरकार द्वारा लूट चल रही है 
* कर्नाटक के मदिरो मे सरकार द्वारा लूट चल रही है 
* केरल के मदिरो मे सरकार द्वारा लूट चल रही है 
* जगन्नाथ मंदिर की 7000 एकड़ जमीन के बारे मे पढ़िये 

          सरकार की मैली नीति ओर हिन्दू 

हिन्दुओ के मंदिरों और उनकी सम्पदाओं को पर कैसे एकाधिकार किया जाये इसके लिये छद्म धर्म निरपेक्ष नेताओं के दिमाग में एक शैतानी कीड़ा कुलबुला रहा था, इसी को ध्‍यान में रखते हुये इस पर एकाधिकार करने के उद्देश्‍य से सन १९५१ में एक अधिनियम बना - "The Hindu Religious and Charitable Endowment Act १९५१ "

इस अधिनियम के अंतर्गत राज्य सरकारों को मंदिरों की परिसंपत्तियों का पूर्ण नियंत्रण प्राप्त हो गया, जिसके अंतर्गत वे मंदिरों की जमीन , धन आदि मूल्यमान सामग्री को कभी भी कैसे भी बेच सकते है जिसे कोई रोक-टोक नही सकता, और जैसे भी चाहे उसका उपयोग कर सकते है, इसमें कहीं से कोई भी मनाही नही होगा.

हिन्दुस्तान में हो रहे मंदिरों की संपत्ति के सरकारी लूट का रहस्योद्घाटन अपने देश में ही नही बल्कि इसकी गूंज एक विदेशी लेखक "स्टीफन नाप" ने भी अपने एक पुस्‍तक में किया. उन्होंने इस विषय में एक पुस्तक लिखी -"Crimes Against India and the Need to Protect Ancient Vedic Tradition"

इस पुस्तक में उन्होंने अनेक हिन्‍दू मंदिरों के सरकारी लूट जैसे तथ्यों को उजागर किया है.

इतिहास साक्षी है कि भारत में अति प्राचीन काल से अनेक धार्मिक राजाओं ने असंख्‍य मंदिरों का निर्माण किया, और श्रद्धालुओं ने इन मंदिरों में यथाशक्ति दान देकर उन्हें आर्थिक-सामाजिक रूप से संपन्न किया परन्तु भारत की अनेक राज सरकारों ने श्रद्धालुओं की इस धन का अर्थात मंदिरों की संपत्तियों का भरपूर शोषण किया, अनेक गैर हिंदू तत्वों के लिए इसका उपयोग किया गया, यहां तक कि मंदिरों का पैसा मदरसों में भी लगाया जाता रहा, वहां के मुल्‍ला मौलवियों को हर महीनें तनख्‍वाह के रूप बाकायदे मंदिरों में भक्‍तों के चढ़ावा का ही पैसा उन्‍हें दिया जाता है। और, यह बात सबको पता है कि इन मदरसों से ही आतंकवाद की पौध तैयार की जाती है। यूं कह ले कि हिन्‍दू श्रद्धालु अपने पैसे से ही अपने मरने का भी बंदोबस्‍त करता है, यह एक प्रकार से सेकुलर सरकार का हिन्‍दू जनता के साथ बहुत बड़ा अन्‍याय है।

इस हिन्‍दुओं के प्रति अन्‍याय वाले कानून के अंतर्गत श्रद्धालुओं-भक्‍तों की संपत्ति का किस तरह भारी मात्रा में दुरूपयोग हो रहा है इसका विस्तृत वर्णन दिया गया है -

मंदिर अधिकारिता अधिनियम के अंतर्गत आंध्रप्रदेश में ४३००० मंदिरों के संपत्ति से केवल १८ % दान मंदिरों को अपने खर्चो के लिए दिया गया और बचा हुआ ८२ प्रतिशत कहां खर्च हुआ इसका कहीं भी कोयी जिक्र नही है।

और तो और विश्व प्रसिद्ध तिरूमाला तिरूपति मंदिर भी पूरी तरह से सरकार ने लूट लिया है, हर साल यहां आने वाले भक्‍तों के दान से इस मंदिर में लगभग १३०० करोड रुपये आते है जिसमें से ८५ प्रतिशत सीधे राज्यसरकार के राजकोष में चले जाता है। अब निर्णय स्‍वयं हिन्‍दू भक्‍त करें कि क्या हिंदू दर्शनार्थी इसलिए इन मंदिरों में दान करते हैं कि उनका पैसा मुल्‍लों को मदरसों में माहवारी तनख्‍वाह या हज में जाने के लिये दिया जाये।

यही नही लेखक स्टीफन एक और गंभीर आरोप आंध्र प्रदेश सरकार पर लगाते हैं, उनके अनुसार कमसे कम १० मंदिरों को सरकारी आदेश पर अपनी जमीन देनी पड़ी , .......गोल्फ के मैदानों को बनाने के लिए !!!
स्टीफन अब यहां यह प्रश्न करते हैं कि "क्या हिन्दुस्तान में १० मस्जिदों के साथ ऐसा होने की कल्पना की जा सकती है? सेकुलर सरकार में दम है तो वह ऐसा करके दिखाये।"

कर्नाटक : 

लेखक स्टीफन ने लगाया आरोप 

* 2 लाख मंदिरो मे से 79 करोड़ रुपया सरकार ने लूटा ओर हज पर सबसिडी के रूप मे 59 करोड़ रुपये खर्च किए 

इसी प्रकार कर्नाटक में कुल २ लाख मंदिरों से ७९ करोड़ रुपया सरकार ने लूट लिया जिसमे से केवल ७ करोड रुपयों मंदिर कार्यकारिणियो को दिए गए. इसी दौरान मदरसों और हज सब्सिडी के नाम पर ५९ करोड खर्च हुआ और चर्च जीर्णोद्धार के लिए १३ लाख का अनुदान दिया गया.
सरकार के इस घृणित कार्य पर अपनी बात कहते हुए स्टीफन नाप लिखते है "ये सब इसलिए भारत में होता होता रहा क्योंकि हिन्दुओ में इस के विरुद्ध खड़े रहने की या आवाज उठाने की शक्ति इच्छा नहीं थी, यहां के हिन्‍दू कायर और स्‍वार्थी थे, उनके अंदर का जमीर मर गया है, वहां के हिंदू संगठन नपुंसक हो गये हैं, उन्‍हें अपने से ही लड़ने की फुर्सत नही है"।

केरल : 

इन तथ्यों को रहस्‍योद्घाटन करते हुए स्टीफन केरल के गुरुवायुर मंदिर का दृष्‍टांत देते हैं,
इस मंदिर के अनुदान से दूसरे ४५ मंदिरों का जीर्णोद्धार करने की बात गुरुवायुर मंदिर कार्यकारिणी ने रखी थी, जिसको ठुकराते हुए मंदिर का सारा पैसा सरकारी प्रोजेक्ट पर खर्च किया गया!

ओडिस्सा मे स्थिति गंभीर  : 

स्‍टीफन के अनुसार इन सबसे ज्यादा महा कुकर्म ओडिसा सरकार के है जिसने जगन्नाथ मंदिर की ७०००० एकड़ जमीन बेचने के लिये निकाली है जिससे सरकार को इतनी आय होना संभव हो की जिसके उपयोग से वे अपने वित्तीय कुप्रबंधानो से हुए नुक्सान को भर सके.

ये बरसो से अनवरत होता आया है, इसका प्रकाशन न होने की महत्वपूर्ण कारण है - "भारतीय की हिन्दु विरोधी प्रवृत्ति"
भारतीय मिडिया (जिसमें अंग्र‍ेजियत कूट-कूट के भरी है ) इन तथ्यों का रहस्‍योद्घाटन करने में किसी भी प्रकार की रूचि ही नही रखता. इसलिये इस प्रकार का सरकारी लूट हमेंशा लगातार चलता रहेगा।
इस छद्म धर्मनिरपेक्ष एवं लोकतांत्रित देश में हिन्दुओ की इन प्राचीन सम्पदाओं के को दोनों हाथो से जेहादी तत्‍वों को लुटाया जा रहा है, क्योंकि राज्य सरकारें हिन्दुओ की अपने धर्म के प्रति उदासीनता को और उनकी अनंत सहिष्णुता को अच्छी तरह जानती है ... जिसका भरपूर दोहन व शोषण हो रहा है, ये सरकारें मस्जिदों, चर्चों की संपत्तियों को लेकर दिखायें, इनकी सरकार ही बदल जायेगी

परन्तु अब हिन्दू समाज का धीरज समाप्‍त हो गया गया है की कोई हिंदू, छद्म सरकार के विरूद्ध जो भारी लूटमार रूपी दुराचार में लिप्‍त है, के विरुद्ध अपनी आवाज बुलंद करे, जनता के धन का (जो की उन्होंने इश्वर के कार्यों में दान किया है), इस तरह से होता सरकारी दुरुपयोग रोकने के लिए सरकार से जवाब मांगे!



जरा एक गैर-हिंदू विदेशी लेखक की भावना को देखें उसे हिन्‍दुओं के उपर हो रहे इस जुल्‍मो-सितम को सहन नही कर पाया, उसे यह भ्रष्‍टाचार देखा नही गया, और उसने इन तथ्यों को पूरी तरह से पर्दाफाशकिया वो भी सार्वजनिक तौर पर, परन्तु लाखों हिंदू इस धार्मिक उत्पीड़नों को प्रतक्ष सहन करते आ रहे हैं ....क्यों, क्‍या सचमुच उनकी आत्‍मा मर गयी है ??? क्‍या अब हिन्‍दुओं का स्‍वयंभू ठेकेदार कोई संघ जैसा संगठन हिन्‍दुओं के इस जुल्‍म के प्रति आवाज नही उठायेगा.....क्योंकि उनकी आत्माए मर चुकी है !!

जरा पढ़िये इस किताब को ओर देखिये ये सरकार कैसे लूट रही है हिन्दू मंदिरो को