:

Friday, May 31, 2013

आज देश मे उथल-पुथल क्यो ?

आज देश में उथल-पुथल क्यों,

क्यों हैं भारतवासी आरत?

कहाँ खो गया रामराज्य,

और गाँधी के सपनों का भारत?


आओ मिलकर आज विचारें,

कैसी यह मजबूरी है?

शान्ति वाटिका के सुमनों के,

उर में कैसी दूरी है?


क्यों भारत में बन्धु-बन्धु के,

लहू का आज बना प्यासा?

कहाँ खो गयी कर्णधार की,

मधु रस में भीगी भाषा?


कहाँ गयी सोने की चिड़िया,

भरने दूषित-दूर उड़ाने?

कौन ले गया छीन हमारे,

अधरों की मीठी मुस्काने?


किसने हरण किया धरती का,

कहाँ गयी केशर क्यारी?

प्रजातन्त्र की नगरी की,

क्यों आज दुखी जनता सारी?


कौन राष्ट्र का हनन कर रहा,

माता के अंग काट रहा?

भारत माँ के मधुर रक्त को,

कौन राक्षस चाट रहा?
 
                       " देश की असलियत दर्शाती ये रचना ने दिल जीत लिया ये सच ही है की " सोने की चिड़िया " कहाँ गई ? ...इस रचना का आखरी पड़ाव तो बेहतरीन है जो बहुत कुछ कहे रहा है जरा आप भी गौर करे इन अल्फ़ाज़ों पर जो आज के दौर का सचोट चित्रण कर रहे है ..." 

**


कौन राष्ट्र का हनन कर रहा,

माता के अंग काट रहा?

भारत माँ के मधुर रक्त को,

कौन राक्षस चाट रहा?
**
 
      " ये रचना के रचियेता है मेरे आदर और मेरे मार्गदर्शक "श्री रूपचन्द्र शास्त्री जी" जिन्होने हर वक़्त मेरा उत्साह बढ़ाया है " 

" आदरणीय रूप चन्द्र शास्त्री जी "


उनके ब्लॉग की आप भी सफर करे ( यहाँ क्लिक करे )  :


यहाँ पर भी मीलेंगे आदरणीय शास्त्री जी

 ::::
:::
 

Wednesday, May 29, 2013

धोनी फिक्सर है क्या ?

                                     " धोनी भी फिक्सर है ? ये सवाल का जवाब अब मुश्किल हो गया है क्यू की मयाप्पन ने कहा है की वो मैच की सारी जानकारी धोनी से लेता था ,कौन खेलेगा कौन नहीं ...... टॉस जीतकर बल्लेबाजी या गेंदबाजी | "
 
                                      " आईपीएल के फाइनल मेच के तुरंत ही मैंने एक पोस्ट लिखी थी जिसका टाइटल था " आह ! आईपीएल फिक्सर हार गए " ओर उस पोस्ट मे लिखा हुवा हर शब्द आज सच्चाई मे परिवर्तित होता नजर आ रहा है इस पोस्ट को आपने नहीं पढ़ा है तो पढ़िये जरूर ...ये वही पोस्ट है जिसको " दक्षिण भारत " अखबार मे स्थान मिला था  | "
 
 
                                      " इस पोस्ट को प्रकाशित किया तो मेरे दोस्तो ने भी मुझे कहा था की ऐसा नहीं हो सकता है ...मगर आज वो भी कहे रहे है की ऐसा ही हुवा है ....आज आईपीएल के मेच फिक्सर भी कहे रहे है की वो धोनी से जानकारी हासिल करते थे ...वो फिक्सर दूसरा कोई नहीं मगर खुद " मय्यापन " जो चेन्नई का सीईओ है...... अगर ठीक से जांच हो तो धोनी भी लपेट मे आ सकते है क्यू की दूसरे एक बूकि ने कहा है की बड़े बड़े क्रिकेटर इस फिक्सिंग मे शामिल है |"
 
दक्षिण भारत की पोस्ट पढ़ने के लिए यहाँ जाए
 
 
 
 "श्रीसंत अगर सरदार की ये थप्पड़ याद रखता तो आज तिहाड़ मे नहीं होता "
 
आज के अखबार मे धोनी का नाम
 
 
 
चलो देखते है की आगे आगे होता है क्या ?
 
:::
:
 
 
 

चीयर्स गर्ल्स के ठूमके ओर "श्रीशांत "की महेनत

                "चड्डी पहेनी हुई चीयर्स गर्ल्स के ठूमके ओर "श्रीशांत "की महेनत से चल रहा है "आईपीएल" का खेल, जिस से... विदु से लेकर श्रीनिवासन तक की भर्ती है जेब ...बड़े ही कमाल का खेल बन गया है मैदान मे क्रिकेट ओर मैदान के बाहर फिक्सिंग ...ये हरभजन भी कमाल का नीकला उसने तो कुछ साल पहले ही श्रीसंत को सजा दी थी जैसे वो जान गया हो ....अरे वो कान के नीचे बजाया हुवा चांटा ... ही ही ही |"
 

               " श्रीनिवासन ओर श्रीशांत ये दोनों ने मिलकर क्रिकेट खेल पर ही धब्बा लगा दिया वो भी ऐसा की सुपर निरमा से या फिर वो सलमान खान बेचता है वो डिटर्जेंट से भी साफ नहीं हो सकते है ,भैया ये दोनों साउथ इंडियन ने मिलकर क्रिकेट का तो ठीक मगर देश का भी सत्यनास कर दिया क्यू की हाल ही मे सीलेक्ट हुई भारतीय क्रिकेट टीम को भारतीय टीम न कहेते हुवे " चेन्नई टीम " कहे तो भी गलत नहीं है क्यू की 11 मे से 5 खीलाड़ी तो " चेन्नई टीम " के ही है |"

            " अपना " मुरली विजय" तो हर बार आईपीएल खत्म होते ही भारतीय टीम मे सीलेक्ट हो जाता है ओर हर बार बिना मुरली बजाए ही देश की लुटिया डुबो देता है फिर 1 साल के लिए टीम से बाहर ओर जैसे ही आईपीएल खत्म वापस मुरली टीम मे शामिल ....कमाल का सेटअप है ये |"
 

            " बीचारा "हरभजन " इस सीजन मे अश्विन से भी बढ़िया प्रदशन रहा अगर फिर भी वो टीम से बाहर है क्यू की वो मुंबई का प्लेयर था ....चेन्नई का नहीं ....... यहाँ पर भी फिक्सिंग ?........ हो सकता है भाई क्यू की वो टीम किसी ओर की नहीं मगर "भारतीय क्रिकेट बोर्ड " के अध्यक्ष की है ओर आईपीएल मे जो ये फिक्सिंग का भूत आया है उसके सभी रास्ते जांच के मुताबिक अभी तक तो " चेन्नई टीम " की तरफ ही जा रहे है ........ | "

पढ़िये इस ब्लॉग का एक आर्टिकल " दक्षिण भारत " अखबार मे जो 28/05/13 के दिन पेज नंबर 6 पर था
                            " ब्लॉग बाइट्स " शीर्षक है
आर्टिकल का नाम :
आह ! आईपीएल फिक्सर हार गए




इस ब्लॉग मे भी आप पढ़ सकते है
यहाँ क्लिक करे

:::
:
 

Monday, May 27, 2013

आह ! आईपीएल फिक्सर हार गए : csk

            " अगर फिक्सिंग का भंडा नहीं फूटता तो यकीनन ही चेन्नई बनता चेम्पियन इस मे अब कोई शक नहीं है बल्कि लोग तो यहाँ तक कहे रहे है की केप्टन कूल ,सुपर धोनी की जांच हो ,आईपीएल मे फिक्सिंग का अड्डा याने चेन्नई सुपर किंग ओर उसके मालिक जो भारतीय बोर्ड से है श्रीनिवासन उन पर आफत आई और चेन्नई कैसे हारा ? शायद चेन्नई को हराकर वो कुछ साबित करने मे लगे हो की वो फिक्सिंग मे नहीं है

 * कुछ सवाल जिस पर आप भी गौर करे
  • चेन्नई की टीम से जो भी खेलता है वही भारत की टीम मे शामिल होता है
  • चेम्पियन ट्रॉफी के लिए चूनी गई टीम भारतीय टीम है या चेन्नई की ?
  • चेम्पियन ट्रॉफी के लिए 11 मे से 5 खिलाड़ी चेन्नई टीम के है
  • अश्विन से बेहतर प्रदशन हरभजन का रहा है मगर हरभजन बाहर है
  • मुरली विजय से बेहतर और भी खिलाड़ी है मगर आईपीएल सीजन के बाद तुरंत ही मुरली का चयन होता है ... जो फ्लॉप ही रहते है
ऐसे तो अनेक सवाल है ...
धोनी का खेल जानिए :
                धोनी जो भारतीय टीम का कप्तान है मगर उसकी एक बात समज नहीं आती है की जब भारतीय टीम के ऊपरी 2 या 3 बल्लेबाज जल्दी आउट हो जाते है ओर भारत पर प्रेसर होता है तब धोनी भाई साहब अपना बल्लेबाजी का क्रम नीचे की ओर धकेल देते है याने 5 या 6 या 7 ओर आखिर तक गेंदबाज बल्लेबाजो के साथ खड़े रहते है अरे भाई आखरी बल्ले बाजो के साथ से मेच नई जीता जा सकता है बल्कि मुश्किल वक़्त मे जब विकेट गिर रही हो तब धोनी को आना चाहिए
* तुम लड़ो हम कपड़े संभालते है  
     ओर अगर भारतीय सलामी बल्लेबाज जोरदार शुरुवात करते है तो धोनी भाई साहब 5 वे,6 ठे नंबर से छलांग लगाकर बल्ला घुमाते हुवे 3 रे या चौथे स्थान पर खेलने आ जाते है ,भैया अच्छी शुरुवात के बाद तो हर कोई खेल सकता है मगर खराब शुरुवात पर हकीकत मे कप्तान को ही आना चाहिए आगे .....मगर धोनी यहाँ पर जैसे कहेता हो की तुम लड़ो हम कपड़े संभालते है ..... हम उन सिपाहियो के साथ आखरी लड़ाई लड़ेंगे जिसे बल्लेबाजी भी पता नहीं
 
जरा सोचो
चेन्नई की तरफ से खेलता है वो भारत की टीम मे कैसे आता था ?
आज भारत की आधी टीम चेन्नई की टीम क्यू है ?  
 
:::
:
 

Friday, May 24, 2013

कथीत पीर ने किया बलात्कार ( वीडियो )

 खुद को पीर बतानेवाले ने किया बलात्कार
               " मैं नूर हूं और तुम आग हो.. नूर आग से मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा .... 'मैं तुम्हें जहां-जहां हाथ लगाऊंगा तुम्हारे शरीर का वह अंग दोजख में भी नहीं जलेगा " ये शब्द थे धार्मिक संस्थान चलनेवाले ओर खुद को सूफ़ी समजनेवाले " गुलजार अहमद बट " के जिसने कई लड़कियो पर किया है धार्मिक केन्द्रो मे बलात्कार ,गुलजार अहेमद बट ने टीवी एवं अखबारो से अपना गोरखधंधा चलाया था मगर जब इम्तियाज अहमद सोफी ने गुलजार अहेमद को एक लड़की के साथ आपत्तीजनक परिस्थियों मे देखा तो खुला एक भयानक रहस्य | "
कथित पीर गुलजार अहेमद बट
 ....................... देह शुद्धिकरण के नाम पर बलात्कार......

* मुफ़लिसी से छुटकारा पाने के लिए
             " कश्मीर स्थीत बड़गाम लोकल कोर्ट में पीड़ित लड़कियों ने उसकी करतूत की पूरी कहानी जब सुनाई जिसमे दर्द उभर रहा था क्यू की जिस धार्मिक सेंटर मे ये लड़कियो पर पीर के नाम पर बलात्कार हो रहे थे उस केंद्र मे करीबन 500 बच्चे है पीड़ित लड़कीयोने बताया की इस धार्मिक केंद्र मे जो भी नई लड़की दाखिल होती थी उसे महिला कर्मचारी शकीला बानो की देखरेख मे रखा जाता था ओर बाद मे शकीला कथित पीर के कमरे मे उस लड़की को ले जाती ओर कहेती की 'अगर मुफलिसी से छुटकारा पाना चाहती हो तो पीर साहब की दिल से सेवा करो
* नूर से नूर मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा
 
                         “ लड़कियो को शुद्ध करने के नाम पर बलात्कार कर रहा था ये कथित पीर ओर इस काम मे सहयोग दे रही थी केंद्र की महिला परिचारिका शकीला ओर नूर मोहम्मद क्यू की दूसरी पीड़ित लड़की ने बताया की उसे नूर मुहम्मद बहेला फूसलाकर सेंटर मे लाया था ओर एक दिन उसने मुझे गुलजार (कथित पीर) के प्राइवेट कमरे मे जाने को कहा जिसे हुजरा ए पाक कहा जाता है मगर जैसे ही मई कमरे के अंदर दाखिल हुई मौलवी गुलजार ने अंदर से कमरा बंद करने को कहा उसके बाद उसने मेरी आंखों में देखा और कहने लगा, 'मैं तुम्हें जहां-जहां हाथ लगाऊंगा तुम्हारे शरीर का वह अंग दोजख में भी नहीं जलेगा। मैं नूर हूं और तुम आग हो.. नूर आग से मिलेगा तो पूरा नूर बन जाएगा।' फिर वह डरावनी आंखों से मुझे घूरने लगा और मैं बेहोश होने लगी। वह मुझे बिस्तर पर ले गया। मेरी आंखें सबकुछ देख रही थीं, लेकिन मेरा शरीर असहाय हो गया था।'

* इस कार्य मे सहयोगी थे
 
               " बलात्कारी कथित पीर के दो करीबी सहयोगियों अब्दुल गनी और बशीर अहमद मीर की तलाश बडगाम की पुलिस कर रही है , डीएसपी बशीर अहमद ने बताया कि लोकल कोर्ट ने गुलजार अहमद को 15 दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर दे दिया है। पुलिस के मुताबिक गुलजार के खिलाफ लड़कियों के यौन शोषण के पक्के सबूत हैं। लड़कियों के मेडिकल टेस्ट से इसकी पुष्टि हो चुकी है। वह इसमें पूरी तरह शामिल था और इसमें कोई शक-सुबहा नहीं है।'
                " कथित बलात्कारी पीर 27 मई तक रिमांड पर है मगर सवाल ये उठता है की जब पुलिस के पास पुख्ता सबूत है तो फिर ऐसे लोग जो धर्म को बदनाम करते हो ओर धर्म के नाम तले लड़कियो का शोषण करते हो उसे जीवित ही क्यू रखा जाए ?आप ही कहो की ऐसे लोगो पर मुकदमा चलाने से क्या होगा ? जो धर्म के नाम पर खुद को " पीर " समजकर ऐसा घीनोना काम करते हो ? क्यू पीर को बदनाम करते हो ?
 विडियो :
 



: शुक्रिया " टाइम्स नाऊ "

::::
::
 

Tuesday, May 21, 2013

तीरंगा बनेगा अब हरे रंग का ? ( सरकारी विवादास्पद वीडियो )

* तीरंगे झंडे मे से कॉंग्रेस ने निकाल दिया केसरी रंग
* केसरी ( सेफ़रोन ) की जगह आ गया है अब नारंगी कलर
* हिन्दुत्व का प्रतीक केसरी रंग से इतनी नफरत क्यू ?
* ये वीडियो ओर किसी ने नहीं मगर inbministry ने ही बनाया है
* वैराग्य का प्रतीक माना जानेवाला केसरी रंग आखिर क्यू नीकाला तीरंगे से ?
* आखिर मे इसी विज्ञापन मे तीरंगे को हरा रंग मे परिवर्तित कर रही है एक बच्ची .... इस का मतलब क्या समजे ?


                  "क्या कांग्रेस के मन में राष्ट्रध्वज के प्रयुक्त केसरिया [सेफ्रान] रंग के प्रति इतना जहर भरा हुआ है की उसने केसरिया को नारंगी कर दिया ??

                   " क्या केसरिया [सेफ्रान] हिंदुत्व का प्रतिक है इसलिए हिंदुत्व के घोर नफरत करने वाली और भारत में हिन्दुओ को दोयम दर्जे की नागरिक बनाने का सपना लिए सोनिया उर्फ़ एंटोनियो माइनो और अहमद पटेल की जोड़ी ने अब राष्ट्रध्वज के रंग को भी बदल दिया ??

                     " इस विडिओ को देखे .. ये विडिओ आज ही राजीव गाँधी जिन्हें सिखों के हत्यारे और भारत के सैकड़ो सैनिको को शांति के नाम पर लंका में भेजकर मरवाने के लिए याद किया जाता है उनको श्रधान्जली देने के लिए मनीष तिवारी के सुचना प्रसारण मंत्रालय ने जारी किया है |

                    " ऐड के एक हिस्से में स्कूल में एक बच्ची को तिरंगे के रंगों के सहारे सद्भाव का उदाहरण देते हुए दिखाया गया। यहां पर बच्ची को तिरंगे के तीन रंगों को ऑरेंज, वाइट और ग्रीन कहते हुए दिखाया गया है। सभी जानते हैं कि तिरंगे में ऑरेंज (नारंगी) रंग नहीं बल्कि सैफरन (केसरिया) होता है।

* क्या है केसरी रंग का महत्व ?

                   " नैशनल फ्लैग कोड में पूर्व राष्ट्रपति और जाने-माने शिक्षाविद् सर्वपल्ली राधाकृष्णन को कोट करते हुए केसरिया रंग को वैराग्य का प्रतीक बताया गया है। इसी तरह सफेद रंग प्रकाश और शांति के प्रतीक के रूप में लिया गया। हरा रंग प्रकृति से संबंध और संपन्नता दर्शाता है। इसके अलावा केंद्र में अशोक चक्र धर्म के 24 नियमों की याद दिलाता है। चक्र में 24 तीलियां हैं।

                ये है सरकार का असली सच ...घोटालो मे डूबी सरकार को ये भी पता नहीं की केसरी ओर नारंगी मे फर्क है ... आखिर हिन्दुत्व से इतनी नफरत क्यू है भाई ?
सबसे अहेम सवाल इस वीडियो मे ये है की ...
बच्ची देश के तीरंगे को हरे रंग से क्यू रंग देती है ?

ओर हरे रंग से रंगते वक़्त वो क्यू कहेती है की कुछ अलग कर ......

इस पोस्ट के अंत में विडिओ है  
इस वीडियो पर मिली प्रतिक्रियाए भी आप पढ़िये :

Nikhil Narayanan 23 घंटे पहले
Excuse me. How is Orange a color in the national flag? Please check the flag code once?
  • Mukkodan
    Islamists deliberately want Green in the Top. Their patrons Congressis go one step ahead in painting the whole Flag with Green like Pak or Saudi.
    Remove Congress, it's the most Lethal & Fatal Disease of India    

    • wmnikhil
      Shame on you. This add mentions Orange instead of Saffron colour in our national flag. If you don't the colours in Indian flag, read the FLAG CODE OF INDIA.There is scope to think that this has been done intentionally. If you think it is mistake, you should apologize publicly about this.
    • Lalit Tyagi
      अब प्रश्न ये है की ये "सैफरन" कलर "ऑरेंज" कबसे बन गया?
      उसके तुरंत बाद बच्ची पूरे तिरंगे को हरा कर देती है (चित्र २)...क्या सन्देश है ये??मेरी तो समझ में नहीं आया
      और कहती है अब इसे अलग करके दिखाएँ
      क्या हिन्दुतानी मुसलमान को खुश करने करने के लिए हरा रंग किया जाता है..अगर ये पार्टी हिन्दू विरोधी नहीं है तो उस झंडे के रंग को भगवा क्यू नहीं किया है ?? और इससे साफ़ जाहिर होता है कांग्रेस मुस्लिम वोटो को रिझाने के लिए उस तिरंगे को हरा करवाया है
      हो रहा भारत विनाश
    • Lalit Tyagi
      क्या ऐसा हो सकता है की जो पार्टी विज्ञापन पर करोड़ों खर्च कर रही है उसे भारत के तिरंगे के रंग तक न पता हो???या तो सच में इन्हें पता नहीं या फिर जानबूझकर ये किया गया है.. इस विडियो में एक स्कूल की बच्ची आती है और भारत के ध्वज के रंग बताती है लेकिन वो कहती है "ऑरेंज,वाइट और ग्रीन" अब प्रश्न ये है की ये "सैफरन" कलर "ऑरेंज" कबसे बन गया? उसके तुरंत बाद बच्ची पूरे तिरंगे को हरा कर देती है,क्या सन्देश है ये?? ki congress Bharat ko muslims desh bnana chahti h, uhkaad feko ish congress..
    • Vishal Verma
      ये "सैफरन" कलर "ऑरेंज" कबसे बन गया?...
       
    • Rohit Miglani
      All time dislike........ Bloody congress trying to make peoples fool.
    • Shashi Kiran
      Pseudo secular government Ad... Right now it is only Akbar-Anthony Country, no place for Amar
    • anilshandilyaa
      And after mixing the whole flag color goes green(Same as Pakistan) , the future of India in 2050 , Go green India :)
    • hiren ratra
      ye kya gatiya giri hai... AD agency bi achi nai mili congress walo ko :S :S
       
    • Gautam Bose
      Stupid Sickularism.....  Its Saffron...
       
    • Manish Kanthaliya
      bakwassss ...... c class..... #pappu style ka video hai.....orange kya hai .... its saffron
    • Nikhil Narayanan
      Excuse me. How is Orange a color in the national flag? Please check the flag code once?
    • indiainnovates
      orange? it is saffron. is manish tiwari rewriting our national flag code? #shame
       
    • PIYUSH PANDEY
      ...a famous saying, “Hate is never conquered by hate.” The real strength of our country is its unity and harmony. Unity in diversity is the defining feature of India. It is our responsibility to strengthen unity in our social life. We have got an excellent opportunity to proceed with a positive attitude. Hence, let us come together and contribute in enhancing the dignity of Gujarat. I humbly submit before you that, as part of this responsibility to strengthen social harmony and brotherhood.”
    • PIYUSH PANDEY
      After 2002, Gujarat has not spared any effort to march towards peace, harmony and progress even amidst false propaganda, lies, conspiracies and allegations.
      ‘Six crore Gujaratis’ has not remained merely a word. It has become the mantra of unity and human endeavor. Every citizen of Gujarat has internalized peace, harmony and development. Gujarat has experienced an unparalleled phase of peace, harmony, and development in the last decade. Gujarat is committed to march forward on this path only.


     
    तिरंगे के बारे मे आप यहाँ भी जान सकते है की नारंगी है या फिर केसरी ( सेफ़रोन)


    अगर आप सच्चे भारतीय है तो फिर विरोध करो ऐसी बकवास और नफ़रत फैलानेवाली कांग्रेसी विचारधारा की


    ::
    :
     

    Monday, May 13, 2013

    मामा भाँजा की रेल्वे कमाल : सुपर व्यंग

                   कल्लू झाड़ूवाला पप्पू के कहने पर नौकरी के लिए रेल मंत्रालय पहुँचकर रेल्वे मंत्री से मिलने के लिए गया मगर वहाँ देखा तो बिलकुल रेल्वे के डिब्बो के माफिक ही लंबी लाइन लगी हुई थी जैसे देशभर से नौकरी के डिब्बे लेने कतार लगी हो सब के हाथ मे बक्से थे ओर इंतज़ार था .... मामा भाँजे की सुपर हीट जोड़ी से मिलने का ...मगर अंदर कुछ ओर चल रहा था ..... |


    * सेमसंग फोनवालो पर कानूनी केस करो

                भाँजे ,ये सेमसंग पर मस्त केस ठोक देते है बंसल जी ने कहा तो भाँजा बोला मगर क्यू ,उससे हमे क्या फायदा ? .... भाँजे ,ये सेमसंगवाले आजकल बहुत ही पैसा कमा रहे है वो भी हमारे ही रेल्वे कोच के नंबर चुराकर .... हर महीने S1,S2,S3, ओर अब तो सुना है की S4 भी आ गया है ... ये नहीं चलेगा भाँजे,क्यू की s की प्रॉपर्टी तो भारत सरकार की है याने हमारी ...तू तैयारी कर रे .. वकील को बुलाओ ... मगर मामा केस करने से क्या फायदा होगा ? ... ही ही ही .... तू बस्स देखता जा

                       तभी ऑफिस के दरवाजे पर लगा ओटोमेटिक रेकॉर्डर बजने लगा जो आज खराब हो गया था ना कहनेवाली बात भी वो कहेता था...आप भी सुनिए 

    रेल परिवार मे आपका स्वागत है ..... कृपया यात्री ध्यान दे जेब कतरो से सावधान रहे

    लगता है कोई बकरा आया है भाँजे ...चल काम पर लग जा 

    एक आदमी अंदर आया कुछ नौकरी की बात हुई ओर रेल मंत्री बोले

    * AC मे बैठना है ओर किराया जनरल डिब्बे का ?

           सालाना 50 लाख तो मुझे रेल्वे मे चाय बेचनेवाले देते है ,ओर तुझे 50 लाख मे टीकट चेक करनेवाला बनना है ? ”…. बंसल जी ने कहा ,{ अब ये मत पुछना की आपने जी क्यू लगाया ? भाई इस देश मे घोटालेबाजो को भी जी ओर आदरणीय कहेना पड़ता है ,क्या करे कानून ही कुछ ऐसा है | } ...बंसल जी बोल रहे थे क्या रे 1 करोड़ बोला तो तू 50 लाख की बात करता है ? ...ये तो ऐसा हुवा की फस्ट क्लास AC मे बैठना है ओर किराया जनरल डिब्बे का ...ये नहीं चलेगा भाई |”

    * ईटों के भट्टे से मंत्री तक महेनत की है भाई

                   सर मै बहुत ही छोटा आदमी हु नौकरी के लिए आए लड़के ने कहा उस पर भाँजा बोला अबे ,छोटे तो हम भी थे ,आज से 15 साल पहले ईटों का भट्ठा था ओर किराए के मकान मे रहते थे हम भी मगर रात दिन की महेनत ने करोड़ो के मालिक बनाया हमे .... खैर...ये सब छोड़ो बंसल जी बोले तू एक कम कर तुझे मै 50 लाख मे रेल समपार पर नौकरी देता हु ..... वो क्या है आई हुई लक्ष्मी को ठुकराना नहीं चाहिए ..तू 50 लाख रखकर जा भाई .... ये ले तेरा अपोइंटमेंट लेटर | कहेकर उसके हाथ से 50 लाख लेकर नौकरी का लेटर थमा दिया

    फिर से केसेट बजी यात्री ध्यान दे ......

    * फटी चड्डी के खींचे हुवे इलायस्टिक :
     

                 कल्लू झाड़ूवाला हाथ मे झाड़ू लेकर अंदर आया ...सर ट्रेन के डिब्बे साफ करने की नौकरी चाहिए थी .... पैसे है क्या ? मामा जी बोले है न ,ये सब रख लो सर पुरे 10 लाख है मगर नौकरी ...... बिचमे ही मामा जी बोले अबे तुझे क्या हम मुंबई की फुटपाथ पर बैठे ठेलेवाले नजर आते है क्या ...या फिर चाँदनी चौक के भीख मंगे ?  जो तू 10 लाख लेकर चला आया ...अबे फटी हुई चड्डी के खींचे हुवे इलाइस्टिक पता है ये झाड़ू मारने की नौकरी कितनी कीमती है .... शीला दीक्षित का भाई 60 लाख रुपये कोच मे भूल गया था ...याद है ना ?...” सर मुझे नौकरी की सख्त जरूरत है “...” तुझे नौकरी की जरूरत है ओर मुझे पैसो की जरूरत है क्या ? चल अब जा नीकल यहाँ से ..... मै आपकी सिकायत करूंगा लड़का गुस्से मे बोला अबे कहाँ करेगा सिकायत ?जहां करनी हो वहाँ कर ले ...मै किसी से डरता नहीं हु बंसल जी बोले तो लड़के ने कहा प्रधानमंत्री से ही करूंगा सिकायत मै

    * मन्नू भाई खुद कोयले से काले है

                 उस पर बंसल जी हँस पड़े ओर बोले बिन बाती के दिये ,तुझे पता नहीं है क्या वो गूंगा महाराज खुद ही कोयले से अपना मुंह ओर हाथ काले करके बैठा है ...जा बेटा जा “…” तुम सब चोर ही हो ....ये दरवाजा खुलने पर जो केसेट बज रही है ना .... जो कहेती है की जेब कतरो से सावधान रहे .... वो बिलकुल सही कहे रही है ,तुम जैसे जेब कतरे को एक दिन कोई ...यही झाड़ू { हाथ मे रही झाड़ू दिखाकर }से साफ करेगा तभी जाकर इस देश का आमआदमी सुखी होगा...वो ये कहे रहा था की सिक्युरिटीवाले अंदर आए ओर उस गरीब झाड़ूवाले को खींचकर चांटे लगाए ...ओर बंसल जी को सलाम मारकर घसीटते हुवे एक गरीब को ले गए |”
     

    * पप्पू की सलाह :

    बाहर पप्पू खड़ा था उसने कल्लू को अपने पास बीठाया ओर बोला

                                “ आम के सीजन मे आम आते है ,संतरे के सीजन मे संतरे आते है ...फिलहाल घोटालो का सीजन चल रहा है दोस्त , तो घोटाले ही आएंगे न पप्पू ने उस गरीब को कहा |

    * मामा डरे क्यू ?

               तभी बंसल की सेक्रेटरी का फोन आया ..... बंसल ने उठाया ओर क्या हुवा पता नहीं चला ...बंसल सीधे अपने टेबल के नीचे घुस गए ओर चिल्लाने लगे उसे कहो की मै ऑफिस मे नहीं हु ............टेंसन मत लो भाई सेक्रेटरी ने सिर्फ इतना ही कहा था की सर ,मोदी मिलने आ रहे है |”   

     

    * COMING SOON :  

                  मोदी की महाभारत

    चित्र : गूगल से साभार
    :::

    ::