:

Tuesday, April 30, 2013

मौत सस्ती ओर महेंगा कफन ( सरकारी सच्चाई )

                                   " मौत से महेंगा कफन है दोस्तो इस देश मे .... क्यू की ये सरकार यही चाहती है की इस देश की जनता ...उसको वोट देनेवाली जनता भय,भूख, मे तड़पती रहे ताकि ये सरकार आराम से उन पर राज कर सके |"
 
* कहाँ गई वो बहादुरी ?
                                   " चीन का लश्कर भारत की सीमा के अंदर 19 km तक घुस आया है ...जिसको खदेड़ने की हिम्मत भारत सरकार और उसके उन वीरोंने मे नहीं है जिन्होने " रामलीला" मैदान मे रात को 12 बजे खेला था लाचार लोगो पर लाठीयों का तांडव ....अब कहाँ गई वो बहादुरी ? कहाँ गए सरकार के वो बहादुर ,अब क्यू चूप बैठी है सरकार ,क्या पड़ोसी देश इस देश की सीमा के अंदर घुस आए वो सही है या रामलीला मैदान मे बैठे वो आंदोलनकारी जो कहते थे विदेशो मे पड़ा काला धन इस देश मे वापस लाओ ? देश की जनता पर लाठीया चला सकती है सरकार मगर जब चीन इस देश की सीमा मे घुस जाता है तो चूड़ियाँ पहेंकर बैठ जाती है |"
 
* मीडिया एक खिलौना है क्या ?
                                " सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी कहते है की चीन अंदर घुस आया है इस समाचार को मीडिया नहीं दिखाये तो अच्छा है क्यू की उस से देश मे अफड़ाताफड़ी का माहोल खड़ा हो सकता है ".....भैया आप की सरकार अच्छे काम करे तो मीडिया बताए न की ये देखो सरकार का काम ....मगर ये भी कमाल है की देश की मीडिया को इस सरकार ने कभी सच्चाई बताने को कहा ही नहीं है ....मीडिया को क्या बताना चाहिए ये भी तय ये सरकार ही करती है ...आप हमारे घोटाले ना बताओ ,आप सरकार के खिलाफ कोई भी खबर ना बताओ चाहे इस देश की जनता भूख से मरती क्यू ना हो ...चाहे इस देश की जनता आतंकी के द्वारा किए जा रहे बम धमाको मे मरती क्यू न हो ? चाहे इस देश की जनता भले ही अंधेरों मे रहेती हो या इस देश की बेटियो पर सरेआम बलात्कार क्यू ना हो ...मगर खबरदार अगर आपने सरकार के खिलाफ कुछ बोला ....लिखा..... या बताया |"
 
* क्रांति की ओर बढ़ रहा है भारत
                              " ये देश भी मीस्त्र जैसी क्रांति की ओर बढ़ रहा है इसमे संदेह नहीं है क्यू की देश के युवा का सब्र का बांध कभी भी टूट सकता है और इस मे गलती सरकार की ही है क्यू की विकास के नाम पर सरकार ने इस देश को भ्रष्टाचार , भय, महेंगाइ,बलात्कार,बम धमाके ही दिये है इस देश का आमआदमी सुरक्शित नहीं है मगर इस देश मे धमाके करनेवाला आदमी सुरक्शित ज्यादा है क्यू की ये सरकार चूड़ियाँ पहेनकर बैठी है |"
 
* पालतू कुत्ता हो तो "सीबीआई" जैसा
                             " सीबीआई का इस्तेमाल इस सरकार ने पालतू कुत्ते जैसा ही किया है इस मे कोई संदेह नहीं है क्यू की जब भी कोई आदमी सरकार के खीलाफ़ हो जाता है उसके 24 घंटे के अंदर उस आदमी पर सीबीआई की रेड हो जाती है ...मुलायम,ममता,बाबा रामदेव ये लिस्ट भी लंबी है भाई और अब तो इस बात का पुख्ता प्रमाण ये है की सुप्रीम कोर्ट मे ये साबित हो गया की कोयला घोटाले का रिपोर्ट सुप्रीम मे पेश होने से पहले प्रधानमंत्री कार्यालय मे हाजिर किया जाता था ओर बाद मे उस रिपोर्ट मे बदलाव करके सुप्रीम मे पेश किया जाता था ..... क्या गज़ब का कानून है ? जो गुनहगार के तलवे चाटता था ...क्या ऐसा ही जब आमआदमी किसी केस मे फसे तब करेगी क्या सीबीआई ? मै तो कहेता हु की करना चाहिए क्यू की उनको मिलनेवाला पगार इस देश की जनता देती है ...इस देश आमआदमी देता है ....ये कमीने नेता नहीं |"
 
* मजबूरी कुछ भी करवाती है
                                  " अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब लोगो का कानून पर से ...इस देश की सरकार पर से भरोषा उठ जाए ओर लोग अपने हाथ मे कानून ले ..... क्यू उस दिन इस देश का आम आदमी भी मजबूर होगा ...अपने अस्तित्व के खातिर .....अपने बच्चो के खातिर ....अपने भविष्य के खातिर ...और कहते है न की मजबूरी कुछ भी करवाती है |"
 
* चूड़ियो का सेट भेजना पड़ेगा
                            " ये सरकार अपने घोटालो को छूपाने के लिए कभी पेट्रोल का इस्तेमाल करती है तो कभी किसी ओर चीज का पाकिस्तान ,बांग्लादेश जैसे छोटे देश भी अब तो भारत के कान के नीचे खींचकर बजा रहे है फिर भी ये नपुशंक सरकार उनको सलाम करती है ...शांति का संदेश भेजती है ...अरे चीन 19 km भारत की सीमा मे घुस आया है फिर भी सलमान खुर्शीद साहब चीन गए है मसला सुलजाने के लिए ....भाई क्यू गए हो वहाँ ? ये लातों के भूत है बाटो  नहीं मानते है ...ये वो भूत है जो भारत के सैनिक का सर कलम करके तोहफे मे भजते है ...बेकार सरकार ....भाई अब तो लगता है की चूड़ियो का सेट भेजना ही पड़ेगा इस बहादुर सरकार को |"

* चीन कहा तक घुस आया है
* चीनी सैनिकों की घुसपैठ को पहली बार 15 अप्रैल को भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने देखा था
* दोनों देशों के बीच 18 और 23 अप्रैल को फ्लैग मीटिंग हो चुकी है, पर समाधान नहीं निकला।
* चीन ने नए टेंट लद्दाख में बुर्त्से से 70 किलोमीटर दक्षिण में गाड़े हैं। इन टेंटों पर चीनी सेना ने 
  अंग्रेजी में लिखा है कि आप चीन के इलाके में हैं।
* राकी नाला इलाके में 50 चीनी सैनिक हैं। चीनी फौजियों के साथ न केवल गाड़ियां हैं, बल्कि
  विवादित स्थल से 25 किमी दूर स्थित स्थायी चौकी से गाड़ियों की आवाजाही भी हो रही है
 
::
:

Monday, April 29, 2013

गोधराकांड के आरोपियों को फांसी ? SIT ओर मोदी


          गोधरा कांड के आरोपी बाबूभाई बजरंगी ने आज पत्रकारो से कहा की मेरी ओर माया कोडननी के लिए फांसी की अपील “SIT” ने की है गुजरात सरकार ने नहीं ये उन्होने उस वक़्त कहा जब नरोडा की शांताबा चेरिटेबल ट्रस्ट अस्पताल मे उनकी धर्मपत्नी मीनाबेन पर एक ऑपरेशन किया गया था |”

* SIT के द्वारा फांसी की अपील की कॉपी बजरंगी को भी मिली है 
              ( कॉंग्रेस ओर देश की मीडिया फांसी के मुद्दे पर नरेंद्र मोदी पर दोषारोपण कर रही थी मगर SIT ने ही की थी अर्जी ये बात मीडिया बता नहीं रही थी उल्टा मोदी जी को ही बदनाम कर रही थी |" )
          बाबू बजरंगी ने आगे बताते हुवे कहा की SIT द्वारा की गई फांसी की अपील की एक कॉपी उन्हे भी मिली है जेल से जामीन पर छूटकर बाबू बजरंगी सीधे अस्पताल पहुंचे थे जब उनको पत्रकार द्वारा पूछा गया की आप जेल मे क्या करते है ? इस बात पर बाबू बजरंगी ने कहा की वे हर रोज 3 घंटे वो हनुमान जी एवं माँ जगदंबा की पुजा अर्चना करते है |”

            जेल से अगर आप छूट जाओगे तो क्या करोगे ? इस सवाल पर बाबूभाई ने बताया की परिवार के साथ रहेंगे,पुजा अर्चना करेंगे ओर समाज सेवा करेंगे जब क्या अप बजरंगदल का काम करेंगे ? ऐसा पूछा गया तो उन्होने बताया की समाज सेवा मे सब कुछ आ गया

            बाबू बजरंगी को दो दिन की ही जमानत मिली है क्यू की उनकी पत्नी बीमार है ,अस्पताल के डोकटरों ने बताया की बाबूभाई की पत्नी मीनाबेन को यूरेटस थाइब्रोइड की बीमारी थी जिसके लिए ऑपरेशन करना पड़ा ओर एक गांठ निकाली गई है|”

            बाबू बजरंगी के निवेदन से गुजरात एवं सम्पूर्ण भारत मे जो सवाल गुजरात सरकार के खिलाफ उठ रहे थे उस पर पर्दा गिर गया है की बजरंगी ओर कोडनानी के लिए फांसी की अपील गुजरात सरकार ने की है ....SIT जो की सुप्रीम के मार्गदर्शन तले काम करती है अब देखते है की SIT द्वारा की गई अपील क्या रंग लाती है वो तो आनेवाला समय ही बताएगा |”

::::
::

Saturday, April 27, 2013

इस पोस्ट को क्या नाम दु ? ( बाद मे पछताना मत )

                             “ वफादारी सीखनी है तो आखिर किसको आदर्श बनाऊ मै ...यही खयाल सता रहा है मुझे, इस देश मे जन्म लेना पाप है “ मगर क्या सच मे पाप है ? जब भी लिखने बैठता हु तो दिल मे यही खयाल आता है पता ही नहीं चलता है की वफादारी किसे कहते है ...इस पर भी नादान दिल कहेता है की “ वफादारी सिखनी है तो “ कुत्ते” से नहीं मगर देश की “सीबीआई “ से सीखो भाई तभी तो ये दिल कहेता है “ कुत्ता सीबीआई ओर वफादारी (व्यंग )नहीं पढ़ा है तो पढ़ लो भाई “


                      =================================
* क्या ये सरकार की नजर से विकास है ? 336 % बलात्कार बढ़ा
                                                 “ ये देश मे जन्म इस लिए नहीं लेना चाहिए क्यू की यहाँ अब नारी को सिर्फ एक खिलौना ही माना जाता है तभी तो 336 % की बढ़ोतरी हुई है बच्चो पर बलात्कार मे भाई ....इस देश की नारी को टहे दिल से सलाम क्यू की इतना सारा दर्द ओर अपमान तो भारतीय नारी ही सहेन कर सकती है मगर सवाल ये उठता है की आखिर कब तक ? अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब भारत को दुनिया बलात्कारियों का देश के नाम से जानेगी क्यू की बलात्कार मे 336 % का बढ़ावा हुवा है ,सच मे अब तो इस देश मे हैवान ही रहते है ये कहेना भी उचित ही है ,तभी तो कहेता हु की अगर नहीं पढ़ा है आपने तो ये आलेख पढ़िएगा जरूर ...लिंक ये रही “
                            =================================
* नेता पर भी बलात्कार तो होना ही चाहिए
             नारी पर हो रहे अत्याचार देखकर तभी तो दिल कहेता है की


                          ==============================
* जिसकी जैसी सरकार ,निकम्मी ओर बेशर्म  है सरकार
                    क्यू की ये सरकार की सोच क्या है वो देखिये

                        
                        ===============================
* ये भी तो एक अजूबा है
                  “ एक कुत्ता आपकी पहेचान बन सकता है क्यू की ये भारत है ,एक ऐसा देश जहां के नेता को घोटाले करने से फुर्सत नहीं है .... विश्वास नहीं है मुझ पर तो ये भी पढ़ लीजिये जनाब " 



                                     =============================
* सोते रहो जब तक हिन्दू धर्म बदनाम ना हो जाए                      
               " इस देश मे हिन्दू होना भी पाप बनता जा रहा है .... सरकार ओर मीडिया यही साबित करने पर तुली है ...हो सके तो इसे भी पढ़िएगा "


                                     ==============================
* भाई क्या इस देश मे एक ही गोधरा बना है क्या ?    
 आसाम दंगा ,राजस्थान दंगा भूल गई है मीडिया 
गोधरा कांड ओर तीस्ता की असलियत बहुत सारे लोगो को पता नहीं है ...पढ़िये यहाँ दोस्त


                                    =============================
* आखिर मे इस चित्र का भी आनद लीजिये
                
                     " वृद्ध कॉंग्रेस आइकॉन राहुल गांधी "

   कॉंग्रेस का बोज है अब भारी देखो सब झुक गए है बोज तले 
                          ये तस्वीर जयपुर मे खींची गई थी
:::
:

Wednesday, April 24, 2013

शहीदो के परिवार ये हालत ? रो रही आंखे ( आप भी देखिये )

शहीद रोशन सिंह :- जन्म:१८९२-मृत्यु:१९२७(फासी) : उत्तर प्रदेश


काकोरी काण्ड के सूत्रधार पण्डित राम प्रसाद बिस्मिल व उनके सहकारी अशफाक उल्ला खाँ के साथ १९ दिसम्बर १९२७ को फाँसी दे दी गयी। ये तीनों ही क्रान्तिकारी उत्तर प्रदेश के शहीदगढ़ कहे जाने वाले जनपद शाहजहाँपुर के रहने वाले थे।

रोशन सिंह का जन्म उत्तर प्रदेश के ख्यातिप्राप्त जनपद शाहजहाँपुर में कस्बा फतेहगंज से १० किलोमीटर दूर स्थित गाँव नबादा में २२ जनवरी १८९२ को हुआ था।

बरेली में हुए गोली-काण्ड में एक पुलिस वाले की रायफल छीनकर जबर्दस्त फायरिंग शुरू कर दी थी जिसके कारण हमलावर पुलिस को उल्टे पाँव भागना पडा। मुकदमा चला और ठाकुर रोशन सिंह को सेण्ट्रल जेल बरेली में दो साल वामशक्कत कैद (Rigorous Imprisonment) की सजा काटनी पडी थी

फासी से पहले लिखा :

"जिन्दगी जिन्दा-दिली को जान ऐ रोशन!

वरना कितने ही यहाँ रोज फना होते हैं।"

हाथ में लेकर निर्विकार भाव से फाँसी घर की ओर चल दिये। फाँसी के फन्दे को चूमा फिर जोर से तीन वार वन्दे मातरम् का उद्घोष किया और वेद-मन्त्र - "ओ३म् विश्वानि देव सवितुर दुरितानि परासुव यद भद्रम तन्नासुव" - का जाप करते हुए फन्दे से झूल गये

इलाहाबाद में नैनी स्थित मलाका जेल के फाटक पर हजारों की संख्या में स्त्री-पुरुष युवा बाल-वृद्ध एकत्र थे ठाकुर साहब के अन्तिम दर्शन करने व उनकी अन्त्येष्टि में शामिल होने के लिये। जैसे ही उनका शव जेल कर्मचारी बाहर लाये वहाँ उपस्थित सभी लोगों ने नारा लगाया - "रोशन सिंह! अमर रहें!!" भारी जुलूस की शक्ल में शवयात्रा निकली और गंगा यमुना के संगम तट पर जाकर रुकी जहाँ वैदिक रीति से उनका अन्तिम संस्कार किया गया।

{{अमर शहीद ठाकुर रोशन सिंह और उनके साथियों ने कभी सोचा न होगा कि जिस धरती को आजाद कराने के लिए वह अपने प्राणों की बलि दे रहे हैं, उसी धरती पर उनके परिजन न्याय के लिए भटकेंगे और न्याय के बजाय जिल्लत झेलेंगे। दबंगों ने अमर शहीद रोशन सिंह की प्रपौत्री को न सिर्फ बेरहमी से पीटा, बल्कि सारे गांव के सामने फायरिंग करते हुए आग भी लगा दी। पुलिस ने चार दिन बाद एसपी के आदेश पर धारा 307 के तहत रिपोर्ट तो दर्ज की, लेकिन मनमानी तहरीर पर।}}

काकोरी कांड में फांसी की सजा पाने वाले अमर शहीद ठाकुर रोशन सिंह की प्रपौत्री इंदू सिंह की ननिहाल थाना सिंधौली के पैना बुजुर्ग गांव में है। नानी ने इंदू की शादी गांव के ही धनपाल सिंह से कर दी थी। धनपाल को शराब पिला पिलाकर गांव के दबंगों ने उसकी जमीन मकान सब लिखा लिया। करीब सात साल पहले धनपाल की मौत हो गई। इंदू तीनों बच्चों के साथ सड़क पर आ गई। मेहनत मजदूरी करके वह बच्चों का पेट पालने लगी। गांव के ही भानू सिंह ने गांव से लगे अपने खेत की बोरिंग पर एक मड़ैया डलवा दी। उसी में रहकर इंदू अपने बच्चों को पाल पोस रही है। पेट पालने के लिए उसके मासूम बच्चों को भी मजदूरी करनी पड़ती है। इंदू नरेगा मजदूर है।

फिलहाल इंदू तो जैसे तैसे अपने बच्चों को पाल पोस रही थी, लेकिन गांव के दबंगों को यह रास नहीं आया। गांव के सोनू सिंह और अनुज सिंह समेत चार पांच लोगों ने सरेशाम हमला कर इंदू सिंह को बेरहमी से पीटा, फायरिंग की और इसके बाद झोपड़ी में आग लगा दी। यह नजारा सैकड़ों लोगों ने देखा। उसकी गृहस्थी जलकर खाक हो गई। पहनने को कपड़े और खाने को दाना तक नहीं बचा। वह रात में ही थाने गई, लेकिन उससे पहले ही दबंगों के पक्ष में सत्ता पक्ष के एक विधायक राममूति सिंह वर्मा का फोन आ चुका था। पुलिस ने उसे टरका दिया। पुलिस तीन दिन तक उसे टरकाती रही। चौथे दिन वह एसपी से आकर मिली। एसपी के आदेश पर पुलिस रिपोर्ट लिखी, लेकिन इंदू की दी तहरीर पर नहीं। पुलिस ने उससे सादे कागज पर अंगूठा लगवा लिया और उसी पर मनमानी तहरीर लिख ली। छह में से सिर्फ दो आरोपियों को ही नामजद किया। पुलिस ने धारा 307 लगाई, लेकिन बाद में जांच में सारी धाराएं किनारे कर दीं और एक आरोपी का शांतिभंग में चालान कर इतिश्री कर ली।उसके बच्चों के पास पहनने को कपड़े तक नहीं हैं। घर में कुछ बचा नहीं है, इसलिए परिवार गांव में इधर उधर से मांग कर खाना खा रहा है।


* अमर शहीद असफाकउल्लाह को भला कौन भूल सकता है आइये सुनते है उनका एक गाना जो उन्होने जेल मे गाया था



ये है देश के असली शहीदो की दशा ...... गांधी परिवार खुद को शहीदो का परिवार कहेता है मगर क्या कोई ये  बता सकता है की जवाहरलाल नेहरू ने कभी अंग्रेज़ो की लाठीया खाई थी ? .... असली शहीदो का ये हाल है मगर देश के नकली शहीदो के नाम पर 80 % देश कर रहे है ये गांधी परिवार यकीन नहीं आता है तो ये भी पढ़िये

हिंदुस्तान नहीं गांधीस्तान कहो : असली शहीद ये परिवार है

इस मे एक लिस्ट दी हुई है जो याद रखकर दिखाना ...... अगर आपकी याददास्त अच्छी है तो

:::
:

Tuesday, April 23, 2013

336 % बढ़ोतरी ,बच्चो पर बलात्कार मे

* बच्चो पर बलात्कार ... 336 % की बढ़ोतरी

* देश कर रहा है विकास

* ह्यूमन राइट्स ने दिये आंकड़े

* देश मे औरतों के साथ साथ नन्ही गुड़िया भी नहीं है सुरक्शित

* सरकार को सिर्फ मोदी ही दिखाई देते है ,जनता नहीं
                        " सरकार ओर देश की मीडिया व्यस्त रहेती है " नरेंद्र मोदी ओर गुजरात " को गालियां देने मे ... देश मे चाहे कहीं पर बम धमाके हो या फिर हो बलात्कार जैसे मामले ....बात घूमा फिराकर आती है नरेंद्र मोदी पर ,सरकार को जनता के आक्रोश से बचाने के लिए मीडिया को नरेंद्र मोदी जैसा दूसरा कोई विकल्प ही दिखाई नहीं देता है ....देश चाहे बलात्कारियों का ही क्यू ना बन जाए ? "

* ह्यूमन राइट्स के मुताबिक 336% की बढ़ोतरी
                             " ह्यूमन राइट्स के मुताबिक एक तरफ देश मे बच्चो पर बलात्कार के मामले मे 336% बढ़ावा हुवा है तो दूसरी तरफ सरकार बलात्कार के........................................

 read more : यहाँ क्लिक करे
" दिल्ली डायरी " ब्लॉग मे पढ़िये पूरी खबर
:::
::

Monday, April 22, 2013

काश ! नेता पर भी बलात्कार हो ( दामिनी )

               " हर गली हर चौराहे पर आपको सुनाई देगी एक दामिनी की चीख ...क्यू की इस देश की सरकार नारी को सिर्फ एक खिलौना मानती है तभी तो 18 की जगह 16 का कानून लाने की बात कर रही थी सरकार ...ये वो सरकार है जिसके मंत्री भी कई ऐसे केसो मे फंसे हुवे है ...मदेराना ,तिवारी,संघवी,कांडा,कुरियन ....तो भला ऐसे लोगो  की सरकार से आप क्या उम्मीद रख सकते  ?"

                " बलात्कार पर कडक कानून लाने के बावजूद भी ,बलात्कार पर रोक नहीं लगा सकती है सरकार क्यू की बलात्कारियों के लिए सिर्फ एक ही कानून होना चाहिए ओर वो है सजा ए मौत ....क्या बलात्कारी के दिल कभी मानवता होती है ? तो फिर हम क्यू दिखाये उसके प्रति मानवता ? लटका दो उसे भी फांसी पर ताकि सही न्याय उन दामिनियों को मिले जिन पर अन्याय हुवा है |"

              " बलात्कारियों को आप जिंदा क्यू रखते हो ? जब की उस आदमी ने एक नारी की ज़िंदगी खत्म कर दी है ....ये देश के मंत्रियो पर जब तक ये बलात्कार का दर्द नही उभरेगा तब तक ये कमीनों को पता नहीं चलेगा की बलात्कार का दर्द क्या होता है.... क्या कानून बनाया है इन लोगोने जिस कानून का डर बलात्कारियों को जरा भी नहीं है ...उल्टा जब से ये कानून बना है तब से बलात्कार बढ़ते ही जा रहे है |"

               " नारी खिलौना नहीं है .... जो हर वक़्त दर्द को सहे ,सोनिया गांधी से लेकर बड़े बड़े नेता हर चुनाव मे कहते है की गुजरात मे महिलाए सुरक्शित नहीं है ...... भाई गुजरात मे तो महिलाए रात के 2 बजे भी अकेली घूम सकती है मगर दिल्ली की हालत देखो जहां महिलाए अपने घर मे भी सुरक्शित नहीं है ....अभी अभी एक दामिनी की चीख शांत नहीं हुई ही की ये दूसरी धृणास्पद घटना ...... सरकार कहेगी की पुलिस की गलती ओर पुलिस कहेगी की सरकार की गलती ....गलती चाहे जिसकी भी हो मगर भुगतना पड़ता है देश की नारी को ही ..... सरकार चाहे तो बलात्कार पर रोक लग भी सकती है ...... अगर साबित होने पर सीधी फांसी का कानून लगाया जाए | "

            " मगर ये सरकार ऐसा नहीं करेगी क्यू की जब भी देश मे ऐसी भयानक घटना होती है तब कोंग्रेसी नेता 10 जनपथ की गुफा मे छिप जाते है ...... काश एक बलात्कार नेता पर भी हो ताकि देश मे कडक कानून तो बने ...... बहन ,बेटी सुरक्शित तो रहे |"

              " पुलिस भी ऐसे मामले मे सवाल करती है की " क्या आपने बलात्कार होते देखा है ? " क्या ऐसे कानून के रखवालों से उम्मीद रखना सही है ? या फिर उस सरकार से जो बलात्कार के खिलाफ फांसी का कानून लाने से डर रही है ?"

:::


:::

Sunday, April 21, 2013

SEX scam कॉंग्रेस कर रही है हिन्दू धर्म को बदनाम ( सबूत के साथ )


* हिन्दू संतो को बदनाम करने का षड्यंत्र 
* हिन्दू बदनाम ,इशाई की जय जय कार 
* ये आशाराम बापू नहीं है ...मगर ये है ओशो सन्यासी स्वामी विरातो
* हिन्दू धर्म को बदनाम ओर ईसाई धर्म का प्रचार करने का ये है एक तरीका
* कॉंग्रेस सरकार ओर देश की मीडिया भी कर रही है हिन्दू धर्म को बदनाम
* देश की मीडिया बिना छान बिन के ही दिखा देती है ऐसे चित्र जिसमे हिन्दू संतो को
  फसाया जाता है


     इस पोस्ट मे इस के सबूत भी दिये है की ये स्वामी विरातो ही है  आप भी देख लीजिये

              आप यहाँ जो तस्वीर देख रहे है उसके बारे मे नवभारत टाइम्स मे ये तस्वीर के साथ लिखा गया था की ये तस्वीर संत श्री आशाराम बापू की है मगर ये तस्वीर आशाराम बापू की नहीं बल्कि ओशो के अनुयाई स्वामी विरातो की है जिसकी वेश भूषा भी आशाराम बापू जैसी ही है |


* ईसाई धर्म का खुल्ला प्रचार हो रहा है  

        नवभारत टाइम्स जैसे मीडिया ग्रुप भी ऐसी खबर की छान बिन किए बगैर ही छाप देते है ओर खिलवाड़ करते है करोड़ो हिन्दुओ की आस्था से ... नवभारत टाइम्स की वेब साइट मे कभी कभी आप देखेंगे की ईसाई धर्म का प्रचार बखूबी हो रहा है जहां उनकी साइट खोलते ही ऊपर या नीचे एक इस्तेहार आता है की मै इशू को अपना उद्धारककरता स्वीकारता हु ? मै ईश्वर पुत्र बनना चाहता हु ? तो इसका मतलब है की जो ईसाई धर्म अपनाते है वही ईश्वर पुत्र कहलाते है क्या ? ये क्या हुवा ? हम इसे क्या माने, जब की इस देश मे धर्मांतरण का कानून बहुत ही कडक है मगर ऐसे इस्तेहार जो धर्मांतरण करने के लिए प्रेरणा देते है उसका क्या ? ...क्या इस देश का कानून अगर हिन्दू लोग भी ऐसे इस्तेहार दे तो ऐसे ही चूप बैठेगा ?

* सरकार कर रही है हिन्दू धर्म को बदनाम 
         " कमाल की सरकार है जो एक तरफ कहेती है हम धर्म मे नहीं मानते है ओर दूसरी तरफ दुनिया के प्राचीन धर्म को बदनाम करने पर तुली हुई है .....क्या इस सरकार को सिर्फ हिन्दू ही दिखाई देते है क्या ? इस देश मे कुछ भी हो मगर दोष की टोकरी हिन्दुओ पर ही आती है ओर सरकार भी उनही लोगो को सपोर्ट करती है जो हिन्दुओ के विरोधी हो ....भाई ऐसा क्यू ? साधवी प्रज्ञा हो या कोई ओर हिन्दू संत हो, जो भी सरकार के खिलाफ बोलेगा उसका हाल ऐसा ही होगा | सब जानते है मगर शायद इंतेजार कर रहे है हिन्दू धर्म को लुप्त होते देखने का ,ताजूब्ब तो इस बात का है की देश की तटस्थ कही जानेवाली मीडिया का रुख भी जनता की नजर मे संदेह के घेरे मे आ रहा है ओर तभी इस देश मे फेसबूक जैसी सोसियल साइटो का महत्व बढ़ रहा है ...लोग उन साइटों पर ज्यादा महत्व रख रहे है जहां सिर्फ जनता सच बात रख सकती है ...अपने दिल की बात | "

* क्या ऐसा इस्तेहार हिन्दू दे सकते है ? 
        " अगर जिजस जैसा इस्तेहार कोई हिन्दू धर्मवाले देते तो उसके वहाँ ...सीबीआई से लेकर सभी सरकारी डिपार्टमेन्टवालों ने धाबा बोल दिया होता की ये गलत है .... देश का कानून जो सभी धर्म से भी बड़ा है वो भी इस पर चूप क्यू है ? क्या वो भी ऐसे अन्याय को न्याय समज रहा है ?"

नोट :
               " जिन लोगो के मन मे अभी भी शंका हो ओर ऊपर दिये गए सबूत कम पड़ते हो ओर जो अभी भी मानते है की ये आशाराम बापू ही है वो यहाँ जाए "


:::
:: 

Sunday, April 14, 2013

कुत्ता बना आधार की पहेचान : आधार कार्ड योजना

                 " एक कुत्ता बन सकता है आपकी पहचान, आधार कार्ड पर आपकी तस्वीर की जगह अगर कुत्ते की तस्वीर आए तो चोंकिएगा नहीं, कभी पेड़,कभी पुरानी बील्डिंग भी आपकी तस्वीर की जगह नजर आएगी क्यू की ये है सरकार की तरफ से जोरसोर से शुरू की गई आधार कार्ड योजना की ....योजना।' ये मैं नहीं मगर वो लोग कहे रहे है जिनके साथ ऐसा हुवा है जिनकी पहेचान एक कुत्ता बन गया है आइये देखते है आखिर हुआ क्या था ? "

  • 3858 ऐसे मामले सामने आ चुके है जिनमे फोटो किसी व्यक्ति का न होकर किसी अन्य वस्तु जैसे सड़क, बिल्डिंग, पेड़-पोधो आदि के है ,
  • 14817 मामले ऐसे है जिनमे व्यक्ति के अपने फोटो के स्थान पर किसी दुसरे व्यक्ति का फोटो है|

    ये रही दूसरी तस्वीर

    - दक्षिण दिल्ली के रहने वाले अनीश कुमार माथुर को अपने फोटो के स्थान मिला एक पेड़ का फोटो।
    - दिल्ली के ही रमेश चन्द्र को अपने आधार कार्ड पर एक पुराने हॉस्पिटल का फोटो मिला।
    - पंजाब की रचना को अपने आधार कार्ड पर किसी लम्बी दाड़ी वाले.....................................
     

    पूरी खबर पढ़ने के लिए यहाँ जाए 

    ::::::::
    :::::

Friday, April 12, 2013

भाग राहुल भाग { वीडियो के साथ }

भाग राहुल भाग

                    " मिलखा सिंह की तरहा राहुल गांधी को भी अब भागना ही पड़ेगा इस मे कोई संदेह नहीं है ओर हाँ देश को बदलने के लिए गुजरात बदलने की जरूरत नहीं है मगर कॉंग्रेस बदलने की जरूरत है ओर कॉंग्रेस मे बदलाव लाने के लिए ....  भाग मिलखा भाग .... की तरहा ...भाग राहुल भाग  "


                 कॉंग्रेस ओर देश की मीडिया जिसे युवा आइकॉन बता रही है उसकी असली हालत क्या है ? क्या राहुल गांधी सच मे युवा वर्ग मे प्रिय है ? क्या उनका भाषण युवाओ को खींच सकता है ? .... क्या राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री बनने के काबिल है ? तो जवाब है नहीं ...क्यू की अगर उनको कुछ कर दिखाना है तो उन्हे मिलखा सिंह की तरहा भागना पड़ेगा, महेनत करनी पड़ेगी ऐसे ही वो प्रधानमंत्री नहीं बन सकते है क्यू की देश के युवा मतदाताओ का रुख कुछ अलग है |”

* ये विदेसी नहीं देशी स्टूडेंट है राहुल बाबा

          17 देशो के विदेशी विध्यार्थी यो के बीच बैठकर जवाब देना बात करना अलग बात है क्यू की उन विदेशियों को देश के अंदर क्या चल रहा है पता नहीं होता है ओर वो देश की हालत पर सवाल भी नहीं पूछेंगे मगर बात जब भारत के स्टूडेंट की आती है तब बात कुछ अलग होती है क्यू की ये युवा देश की हालत जानते है ओर वो देश के मुद्दो से जुड़े सवाल भी करेंगे ,तब क्या हालत होती है राहुल की ये आप नीचे दिये हुवे वीडियो मे ही देख ले |”

* 10 जनपथ की गुफा से बाहर नीकलों राहुल बाबा
          “ सिर्फ एक सवाल से बोखला गए राहुल गांधी तो देश क्या चलाएँगे ? 2014 का जंग कॉंग्रेस के लिए आसान नहीं होगा ओर कॉंग्रेस के युवराज राहुल गांधी के लिए ये जंग एसिड टेस्ट साबित होगा इस मे कोई संदेह नहीं है ओर अगर राहुल गांधी को जादुई अंक 272 हासिल करना ही है, तो राहुल गांधी को मिलखा सिंह की तरह भागना पड़ेगा ही ,मगर ये सब उस वक़्त हो सकता है जब राहुल गांधी अपनी 10 जनपथ की गुफा से बाहर निकले |”

* भाग राहुल भाग
      आज हर कोंग्रेसी राहुल गांधी के द्वारा दीये गए बयान को बड़ा बताने की कोशिश कर रहा है यही उम्मीद मे की एक दिन राहुल गांधी जरूर प्रधानमंत्री बनेंगे मगर क्या ये इतना आसान है जब की राहुल बहुत सारी अपनी जिम्मेदारियो से भागते नजर आ रहे है ओर आज हालात ये है की राजकीय पंडित कहे रहे है की कॉंग्रेस अगले चुनाव मे महज 150 या फिर 130 सीटो पर रहेगी याने राहुल के लिए वो जादुई अंक 272 लोहे के चने चबाने जैसा है तब यही कहेना पड़ेगा की भाग राहुल भाग “|”

* गुजरात नहीं मगर कॉंग्रेस बदलो,  भाई राहुल
         युवा मे राहुल गांधी की इमेज क्या है इस बात पर मीडिया ने यही कहा है की राहुल लोकप्रिय है वो युवा आइकॉन है मगर राहुल गांधी के भाषण मे वो दम दिखाई नहीं देता है तभी तो दरभंगा मे राहुल गांधी का ऐसा हाल हुवा की राहुल गांधी को विध्यार्थीयो ने भगा दिया ये वही विध्यार्थी है जो इस देश के नए मतदाता है ...ओर अगर ऐसे मतदाताओ को अपनी ओर नहीं खींच पाओगे तो कैसे चलेगा ?..... कभी तो पाकिस्तान के खिलाफ बोलकर दिखाओ ...कभी तो अपने भ्रस्ट नेताओ के खिलाफ बोलकर दिखाओ क्यू की हर घोटाले मे कोंग्रेसी मंत्री शामिल है ही ...ओर ये सब करने के लिए .....भाग राहुल भाग |”

ये वीडियो जरूर से देखे



 

Tuesday, April 9, 2013

इन्सान या बंदर कौन बुद्धिमान ? वीडियो देखिये save water

the best video in my life plz see this video and share it everywhere for our precious life
 
            “ पानी हमारा जीवन है यही सीखा रहा है एक बंदर मगर क्या इन्सान अभी भी समजेगा पानी का महत्व ? अपने ही पैरो पर कुल्हाड़ी मारना इन्सान की आदत है भले ही पानी हमारा जीवन है मगर फिर भी पानी को बर्बाद सबसे ज्यादा इन्सान ही करता है सायद उसे पानी की कीमत उस वक़्त मालूम होगी जब एक एक बूंद के लिए तड़पना पड़ेगा ... |”

* पानी सबसे ज्यादा कीमती है
           “ मौत की काली चादर ओढनी पड़ेगी अगर हम अब भी नहीं जागे ...अगर हम पानी का बचाव करना कितना जरूरी है वो नहीं समजेंगे तो आनेवाला समय यकीनन ही भयानक होगा इस मे कोई संदेह नहीं है ... आज ज्यादा कुछ नहीं कहूँगा मगर एक प्रार्थना करता हु की पानी का बचाव कीजिये जितना जरूरी है उतना ही इस्तेमाल कीजिये व्यर्थ बहाव मत कीजिये ............|"

* इन्सान या बंदर कौन बुद्धिमान ?
           " वीडियो मे बंदर को देखो वो हमसे ज्यादा बुद्धिमान है इस मे कोई शक नहीं है ...ये वीडियो देखिये ओर आप ही तय करे की कौन बुद्धिमान है इन्सान या फिर ये बंदर ?"