:

Friday, February 18, 2011

" "यमराज" को हराने का शस्त्र अब मार्केट में उपलब्ध |"

                                       "यमराज को हराने का शस्त्र अब मार्केट में उपलब्ध |"
                
                      " यमराज आखिर में हार ही गए , भाई ये कोई मामूली बात नहीं है क्यों की यमराज याने " काल " और काल भी जब हार जाता है तब तो भाई बात में दम है ,अरे हारेगा ही न , क्यों की यमराज को हराने का शस्त्र अब मार्केट में उपलब्ध है |"

                       " यमराज के खिलाफ ये शस्त्र  इस्तेमाल करने से आप १००% जीत जायेंगे तो दोस्त ,देर किस बात की आज ही खरीदो ये शस्त्र और भगाओ यमराज को ............| "

                       " दुःख की बात है की लोग पैसा कमाने के चक्कर में क्या क्या भूल जाते है पहले "हैंजवालों" ने ग्लूकान की एडव्हरटाइस में "सूर्य देव" को भगाया था, अब आया है "यमराज" को हराने फेविकोल ....और हम पागल है की हमारे ही देवी  , देवता के अपमान को मनोरंजन के रूप में लेकर ऐसी कंपनीवालों की तिजोरी उनकी प्रोडक्ट लेकर भर रहे है | हैंज तो खैर विदेसी कंपनी है मगर फेविकोल तो स्वदेसी है और फेविकोल का मालिक "राम भगवान का भक्त" भी है फिर भी उसकी बेहूदी हरकत देखो ..चन्द रुपयों के लिए भगवान को भी मजाक बनानेवाले ऐसे करोड़पति को अब क्या कहे ये आप बताओ , अरे इस से अच्छी तो वेश्या ए होती है जो पैसों की लालच में कम से कम भगवान का मजाक तो नहीं उड़ाती है ..ये उद्योगपति तो उस से भी गए गुजरे निकले |"

                      " पहले सरस्वती देवी को नंगा दिखाया ,आज यमराज को भी नहीं छोड़ा .. सिर्फ फेविकोल लिखा हुवा "टी शर्ट " पहेनो यमराज भी भाग जायेगा क्या गजब का आईडीया है भाई, ये कार्टूनिस्ट जो भी हो मगर उसने अपना जमीर बेचा है ये बात तय है आप खुद ही ये चित्र देख लो ..जो सिर्फ हसने की बात नहीं है मगर सोचने की बात है की हम इंसान पैसों के पीछे कितने पागल है आज "भगवान" को नहीं छोड़ रहे है कल सायद हमारे "माँ बाप" को भी मजाक बना देंगे |"

                      " फेविकोल के मालिक को सायद यमराज की ताकत का पता नहीं, या फिर वो पैसों के पीछे पागल है आपको याद होगी फेविकोल की अड़वरटाई ..जो फिल्माई गयी थी माँ और बेटे के उप्पेर ..ये पागल फेविकोल का मालिक " माँ " को भी मजाक बना डालता है तो फिर भगवान को क्या छोड़ेगा ..और हम लोग उसकी हर बात को मजाक मानकर हस्ते है तो पागल कौन भाई ? किसे समजे हम समजदार और किसे समजे हम अनाड़ी ?"

    
                                 " फेविकोल ऐसा जुड़ जाये यमराज भी इसे तोड़ ना पाए "


- चित्र गूगल से लिया गया है |

              

Sunday, February 13, 2011

ना चड्डी , ना बनियान, फिर भी मेरा भारत महान |

                                      " ना चड्डी ना बनियान फिर भी मेरा भारत महान |"

                          " नंगा कर दिया मुझे देश के नेताओं ने मिलकर ...एक रोटी की जरूरत है भले ही तन ढंकने के लिए कपडे ना हो ..इन कमीनों ने कपडे के साथ मेरी रोटी भी मुझसे छीन ली है, और फिर भी कहते है की " मेरा भारत महान " क्या ख़ाक महान और अगर है महान तो सिर्फ बैमानी में और घोटाले में |"

                         " जहाँ भ्रष्ट नेताओं की वजह से देश में ऐसे चित्र बढ़ रहे है वही पर इन नेताओं का स्विस बैंक अकाउंट मजबूत होता जा रहा है और बढ़ रहा है उनके अकाउंट का वजन ..हर गली ..हर ट्राफिक सिग्नल पर आपको ऐसे नज़ारे देखने को मिल रहे है वही पर नेता व्यस्त है भ्रस्टाचार में उनको फ़िक्र नहीं है भारत की इस समस्या पर मग़र फ़िक्र है तो सिर्फ अपनी खुर्सी की ..सत्ता की ,जिस देश का प्रधानमंत्री सिर्फ खिलोँना हो और उसके सामने ही उसी के ही मंत्री करोड़ों का घोटाला करते हो वो देश भला क्या तरक्की करेगा |"

                         " ये देश भी बड़ा ही अजीब है ..इस देश में आप किसी बड़े नेता की चापलूसी करो तो आप भी राष्ट्रपति बन सकते है, क्यों की गाँधीवाद में देश की जनता फस चुकी है और यही परिवार ने देश को बखूबी लुटा भी तो है ..अरे इस चित्र को ध्यान से देखो ये है इन भ्रस्टाचारी नेताओं के द्वारा बनाया गया हमारा भविष्य ..जो नंगा है और भूखा भी और इस शानदार भविष्य के लिए काफी महेनत की है कांग्रेस के इमानदार भ्रस्टाचारी नेताओं ने और खासकर गाँधी परिवार ने ..लोगों को गुटका ,तम्बाकू ,सिगरेट , या फिर ड्रग  का व्यसन होता है मग़र इस देश के आम आदमीयों को व्यसन है तो इन खून चूसनेवाले कीड़ों को अपने सर पे बिठाने का उनको गाँधी परिवार के सिवा कुछ दीखता ही नहीं है शायद और दिखेगा भी कैसे इस देश का इतिहाश कहे रहा है की जिसने भी इस देश को लुटा है उसीने ही इस देश पर राज किया है फिर चाहे वो अंग्रेज हो ...मुग़ल सम्राट हो ....या फिर ये इटालियन हो |"

                        " क्या मिस्त्र जैसी क्रांति की भारत को जरूरत है ? खैर छोड़ो भी मग़र इमानदार प्रधानमंत्री ..अपना इमान बेच कर सत्ता की लालच में चिपक के बैठा है जिसे कांग्रेस सबसे इमानदार प्रधानमंत्री कहेती है और लोग गूंगी गुडिया कहते है |"

                     " आतंकीयों की जेल से रिहाई और भारत देश को सच्चे दिल से चाहनेवालों को सजा मग़र भ्रस्टाचारी नेताओं का बाल भी बांका नहीं करनेवाली हमारी कानून व्यवस्था ..भला ऐसी व्यवस्था पर विश्वाश भी कैसे रखे जहाँ पर सिर्फ चोर ही छुट जाते है और बेगुनाह चक्की पिसते है , "सी.बी.आई" भी तो इन नेताओं के हाथ की कटपुतली जो है जहाँ गुजरात का विकाश पूरी दुनियां देख रही है वही पर "सी.बी.आई " गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को फ़साना चाहती है ..कांग्रेस की नजर से नरेन्द्र मोदी ख़राब है मग़र गुजरात की जनता की नजर से नहीं क्यों की मोदी ने गुजरात को दी है एक नयी तरक्की की दिशा, आज देश का कोई भी उद्योगपति गुजरात में अपनी फैक्ट्री चालू करना चाहता है ..जहाँ नरेन्द्र मोदी ने और नितीश कुमार ने गुजरात और बिहार को नयी तरक्की की दिशा दिखाई वहीँ पर कांग्रेस ने देश को उलटी तरक्की की राह दिखाई है ..जैसे भ्रस्टाचार और सबसे ज्यादा भूखे देश की लिस्ट में लगातार तरक्की ..है ना कमाल कांग्रेस का |"

                             "भाजपा ..एक ऐसी पार्टी है जिसे विरोध करना ही नहीं आता है , शायद इस पार्टी को विरोध पक्ष का मतलब ही नहीं मालूम और इसी बात का फायदा उठा रही है हमारी शाशित कांग्रेस पार्टी के भ्रस्टाचारी नेता और जहाँ कांग्रेस में भ्रस्टाचारी नेता है वहीँ पर भाजपा में भी ऐसे नेताओं की कमी नहीं है |"

                                                   " केंसर ग्रस्त भारत देश |"
                            " बिहार के कांग्रेस नेता ने फेशबुक पर लिखा था की रेल्वे के "टी.सी" ने उनसे पैसे लेकर उनको सिट दी जो की एक रिश्वत है और मुझे ये सब बदलना है "...मग़र प्यारे ..ये सब सिखाया किसने ? रिश्वत खाना और खिलाना ये भी तो कांग्रेस की ही देन है ..एक मामूली टी सी की बात वो फेशबुक पर लिख सकता है मग़र अपनी पार्टी के गंदे कारनामे और भ्रस्टाचार लिख नहीं सकता है भला ये क्या देश चलाएगा ?और क्या बदलेगा बिहार को ..भाई वहां नितीश को ही रहने दे कम से कम बिहार की जनता सुखी तो है |"

                            " आज भागना पड़ता है राहुल को ..मग़र अगर यही हाल रहा तो एक दिन हर आम आदमी के हाथ में एक डंडा रहेगा और हर डंडे पर एक नेता का नाम रहेगा | कभी गौर करना पुरे विश्व के सबसे भूखे देशों पर नजर रखने वाली संस्था पर आपको पता चल जायेगा की हम कहाँ जा रहे है तरक्की की और या फिर गहेरी खाई में ..फिर आप भी कहेंगे की "ना चड्डी , ना बनियान फिर भी मेरा भारत महान " |"   

                  " आज का अख़बार देखलो दोस्तों कोई नया घोटाला आपका इंतज़ार कर रहा होगा, |"